शनिवार, जुलाई 20, 2024
शनिवार, जुलाई 20, 2024

होमFact CheckFact Check: कनाडा में तिरंगे का अपमान करते खालिस्तानी समर्थकों का वीडियो...

Fact Check: कनाडा में तिरंगे का अपमान करते खालिस्तानी समर्थकों का वीडियो पंजाब का बताकर वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim

पंजाब में खालिस्तानियों द्वारा संविधान की प्रतियां और तिरंगा जलाये जाने का वीडियो।

Courtesy: X/@ManojSr60583090

एक्स पोस्ट का आर्काइव यहाँ देखें। (नोट: वीडियो के दृश्य विचलित करने वाले हैं।)

पढ़ें: Fact Check: बेटिंग ऐप का प्रचार करते दिख रहे मुकेश अंबानी का यह वीडियो फर्जी है

Fact

दावे की पड़ताल के लिए हमने वीडियो के की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। इस दौरान हमें इस वीडियो के संबंध में प्रकशित हुई कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं। 7 जून 2024 को टाइम्स ऑफ़ इंडिया द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, 6 जून 2024 की यह घटना कनाडा के वेंकूवर शहर की है। यह प्रदर्शन कनाडा में भारतीय दूतावास के बाहर ऑपरेशन ब्लू स्टार के 40 वर्ष होने पर किया गया था।

Times of India

ज्ञात हो कि 1984 में खालिस्तान समर्थक जरनैल सिंह भिंडरावाले को पकड़ने के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के आदेश पर ऑपरेशन ब्लू स्टार चलाया गया था। ऑपरेशन ब्लू स्टार के तहत 6 जून 1984 को सेना ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में घुसकर वहां छिपे जरनैल सिंह को मार दिया था। ऑपरेशन ब्लू स्टार के दौरान अकाल तख्त साहिब को बहुत नुकसान पहुंचा था, जिस कारण से सिखों में काफी गुस्सा था। इसी गुस्से के चलते 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गांधी की सुरक्षा में तैनात दो सिख जवानों ने इंदिरा गांधी को गोली मार उनकी हत्या कर दी थी। जिसके बाद दिल्ली में सिख विरोधी दंगे भड़क उठे थे।

दैनिक भास्कर द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि किस प्रकार ऑपरेशन ब्लू स्टार की 40 वीं बरसी पर 6 जून को कनाडा के अलग-अलग शहरों में ऑपरेशन ब्लू स्टार के खिलाफ प्रदर्शन हुए। वैंकूवर में हुए प्रदर्शन में इंदिरा गांधी के छलनी किये गए पुतले के साथ झांकी निकाली गयी। इसमें इंदिरा गाँधी के हत्यारे बेअंत सिंह और सतवंत सिंह को इंदिरा गांधी पर बंदूक ताने दिखाया गया। इस दौरान प्रदर्शनकरियों ने खालिस्तान के झंडे लहराए और भारत विरोधी नारे लगाते हुए संविधान की प्रतियां और तिरंगा जलाया।

Dainik Bhaskar

एबीपी न्यूज़ द्वारा 9 जून 2024 को प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि इस घटना के बाद कनाडा के मंत्री, डोमिनिक लेब्लांक ने एक्स पोस्ट के जरिये इस घटना की निंदा की थी। रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत सरकार ने इस संबंध में पहले ही कनाडा के समक्ष औपचारिक शिकायत दर्ज करा दी है।

ABP News
X/ Dominic LeBlanc

जांच से हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि खालिस्तानी समर्थकों द्वारा संविधान की प्रतियां और तिरंगा जलाये जाने का वायरल वीडियो पंजाब का नहीं, बल्कि कनाडा का है।

पढ़ें: Fact Check: क्या महालक्ष्मी योजना की राशि लेने पहुंची महिला को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भगा दिया? जानें वायरल दावे का सच

Result: False

Sources
Report published by Dainik Bhaskar on 7th June 2024.
Report published by Times of India on 7th June 2024.
Report published by ABP News on 9th June 2024.
X post by Dominic LeBlanc on 8th June 2024.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular