रविवार, जुलाई 21, 2024
रविवार, जुलाई 21, 2024

होमFact CheckFact Check: हैदराबाद में मुस्लिम महिला से शादी के बाद दलित व्यक्ति...

Fact Check: हैदराबाद में मुस्लिम महिला से शादी के बाद दलित व्यक्ति की हत्या का दो साल पुराना वीडियो, हालिया दिनों का बताकर वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
जनवरी 2024 में हैदराबाद में मुस्लिम महिला से विवाह करने पर दलित व्यक्ति की हत्या कर दी गई.

Fact
नहीं, यह घटना 4 मई 2022 की है.

सोशल मीडिया पर एक दिल दहला देने वाली घटना का वीडियो वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो को इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि इस साल जनवरी में हैदराबाद में मुस्लिम महिला से शादी करने पर 26 वर्षीय हिंदू व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई.

हालांकि, हमने अपनी जांच में पाया कि यह वीडियो इस साल जनवरी का नहीं, बल्कि 4 मई 2022 का है, जहां हैदराबाद के सरूरनगर इलाके में मुस्लिम महिला से शादी करने पर एक दलित व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी. 

वायरल वीडियो करीब 23 सेकेंड का है. इस वीडियो में सड़क पर एक लाश दिखाई दे रही है. इस दौरान बदहवास दिख रही एक महिला लाठी लेकर हमला करने की कोशिश कर रहे एक शख्स से जूझ रही है. इसके बाद वहां मौजूद भीड़ उस शख्स पर काबू पाने की कोशिश करती है.

इस वीडियो को वायरल दावे वाले कैप्शन के साथ शेयर किया गया है, जिसमें लिखा हुआ है, “इस साल जनवरी में अपने परिवार की इच्छा के विरुद्ध एक मुस्लिम महिला से शादी करने पर 26 वर्षीय हिंदू व्यक्ति बिलिपुरम नागराजू को हैदराबाद में बेरहमी से पीट-पीट कर मार डाला गया था”.

   Courtesy: X/ajaychauhan41

Fact Check/ Verification

Newschecker ने वायरल दावे की पड़ताल के लिए संबंधित कीवर्ड की मदद से गूगल सर्च किया. हमें सबसे पहले न्यूज आउटलेट द क्विंट की वेबसाइट पर 6 मई 2022 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में मौजूद फीचर इमेज में वायरल वीडियो वाले दृश्य भी मौजूद हैं.

Courtesy: The Quint

रिपोर्ट में दी गई जानकारी के अनुसार, 4 मई 2022 को हैदराबाद के सरूरनगर में मुस्लिम महिला से शादी करने को लेकर बिल्लिपुरम नागराजू नाम के एक दलित व्यक्ति की बर्बरता पूर्वक हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने इस मामले में नागराजू की पत्नी अशरिन सुलताना के भाई सैयद मोबिन अहमद और उसके परिचित मोहम्मद मसूद अहमद को गिरफ्तार किया था. इस मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 एवं एससी-एसटी एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था.

बिल्लिपुरम नागाराजू की हत्या के बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन ने इस मामले में 6 मई 2022 को स्वतः संज्ञान लेते हुए तेलंगाना के तत्कालीन मुख्य सचिव और डीजीपी को नोटिस जारी कर चार हफ़्तों के अंदर विस्तृत रिपोर्ट जमा करने के लिए कहा था.

जांच में हमें द हिंदू की वेबसाइट पर भी 21 मई 2022 को प्रकाशित रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में नागराजू की हत्या की घटना से संबंधित कई अन्य जानकारियां दी गई हैं. 

Courtesy: The Hindu

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से 90 किलोमीटर दूर विकाराबाद जिले के रहने वाले बिल्लिपुरम नागराजू और अशरिन सुल्ताना कॉलेज के दिनों से एक दूसरे को प्यार करते थे. अंतरधार्मिक संबंध होने की वजह से परिवार की रजामंदी नहीं मिलने पर अशरिन ने 30 जनवरी 2022 को अपना घर छोड़ दिया था. इसके बाद अशरिन और उसके प्रेमी बिल्लिपुरम नागराजू ने 31 जनवरी 2022 को आर्य समाज मंदिर में शादी रचा ली थी. इसके बाद अशरिन ने अपना नाम बदलकर पल्लवी रख लिया था.

अशरिन द्वारा शादी किए जाने की जानकारी मिलने पर उसके भाई मोबिन ने स्थानीय थाने में अपनी बहन की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. लेकिन बाद में पुलिस द्वारा की गई जांच और अशरिन एवं नागराजू द्वारा दिए गए बयान के बाद यह मामला रफा दफा हो गया. हालांकि, मोबिन यहीं नहीं रुका और उसने बदला लेने के मकसद से नागराजू को ढूंढना शुरू कर दिया. इसमें मोबिन ने अपने परिचित मसूद की भी मदद ली. आख़िरकार दोनों ने यह पता लगा लिया कि नागराजू हैदराबाद के मलकपेट में कार सर्विस सेंटर में काम करता है.

शुरू में दोनों की योजना मलकपेट में ही हमला करने की थी. लेकिन भीड़ ज्यादा होने के कारण दोनों की यह योजना विफल हो गई. इसके बाद दोनों ने 4 मई 2022 की शाम को नागराजू का पीछा किया. नागराजू इस दौरान अपनी पत्नी को अपने एक परिचित के यहां से लेकर अपने घर आ रहा था. तभी सरूरनगर इलाके में दोनों ने नागराजू और उसकी पत्नी को बाइक से गिरा दिया. इसके बाद मोबिन ने नागाराजू के ऊपर रॉड से हमला किया. तभी उसके साथी मसूद ने नागाराजू पर चाक़ू से भी हमला करने की कोशिश की. नागराजू के मरने के बाद दोनों वहां से भाग निकले.

अपनी जांच में हमें बीबीसी हिंदी की वेबसाइट पर भी प्रकाशित रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वही सब जानकारी दी गई जो ऊपर मौजूद रिपोर्ट में है.

Conclusion

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से यह साफ़ है कि यह घटना इस साल जनवरी में नहीं, बल्कि 4 मई 2022 को हैदराबाद के सरूरनगर में घटी थी. 

Result: Missing Context

Our Sources
Article Published by The Quint on 6th May 2022
Article Published by The Hindu on 21st May 2022
Article Published by BBC Hindi on 6th May 2022

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular