शुक्रवार, दिसम्बर 9, 2022
शुक्रवार, दिसम्बर 9, 2022

होमहिंदीदिल्ली पुलिस ने दंगा भड़काने में नहीं की थी दंगाइयों की मदद,...

दिल्ली पुलिस ने दंगा भड़काने में नहीं की थी दंगाइयों की मदद, भ्रामक दावा वायरल

Claim:

पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन के घर पर दिल्ली पुलिस हिंसा को भड़काने के लिए दंगाईयों की मदद कर रही है। वायरल तस्वीर में देखा जा सकता है कि दिल्ली पुलिस सीढ़ी की मदद से छत पर चढ़ रही है और दंगाईयों को बम और पत्थर पहुंचाने में मदद कर रही है। 

Verification

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा भड़काने के आरोपों का सामना कर रहे आम आदमी पार्टी से निलंबित निगम पार्षद ताहिर हुसैन को लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग दावे वायरल हो रहे हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में भी दिल्ली पुलिस ने आरोपी निगम पार्षद के खिलाफ FIR दर्ज की है। ताहिर हुसैन के खिलाफ 2 FIR खजूरी खास व 2FIR दयालपुर थाने में दर्ज की गई है। FIR दर्ज होने के बाद से ताहिर फरार चल रहे थे लेकिन अब उनकी परेशानियां और बढ़ती जा रही हैं। 

ऐसे में फेसबुक और ट्विटर पर दिल्ली पुलिस की एक तस्वीर शेयर हो रही है। तस्वीर में पुलिस सीढ़ी की मदद से एक घर की छत पर चढ़ रही है। फोटो में पुलिस के साथ 3-4 लोगों को भी देखा जा सकता है। वायरल तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन के घर पर दिल्ली पुलिस हिंसा को भड़काने के लिए दंगाईयों की मदद कर रही है।

देखा जा सकता है कि वायरल तस्वीर को फेसबुक और ट्विटर पर कई यूजर्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।  

कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही तस्वीर को खंगाला। ट्विटर खंगालने के दौरान हमें आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता संजय सिंह का एक ट्ववीट मिला। जिसमें उन्होंने लिखा है कि दिल्ली पुलिस छत पर से लोगों को हटाने में उनकी मदद कर रही है।

संजय सिंह ने अपने ट्ववीट में पूरे वीडियो को भी शेयर किया जा जिससे वायरल दावे की सत्यता को जाना जा सकता है। ट्वीट किए गए वीडियो में नज़र आ रहा है कि पुलिसकर्मी लोगों को बचाने के लिए सीढ़ी की मदद लेकर उनको छत से नीचे उतार रहे हैं।   

नीचे तस्वीर में देखा जा सकता है कि कैसे दिल्ली पुलिस अपना हाथ देकर सीढ़ी की मदद से लोगों को छत से नीचे उतार रही है, ना कि हिंसा को भड़काने में आरोपियों की मदद कर रही है।

 

असल में यह तस्वीर दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाके की ही है। लेकिन ताहिर के घर की नहीं है। पुलिस द्वारा लोगों को दंगाइयों से बचाने की तस्वीर को दंगा भड़काने में पुलिस की भूमिका बताते हुए वायरल की जा रही है जो सत्य नहीं है।  

Tools Used:

Twitter Search

Reverse Image Search

Result: Misleading

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular