सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
होमहिंदीभारत ने चुकाया वर्ल्ड बैंक का सारा कर्ज़ जैसी कई फ़ेक न्यूज़...

भारत ने चुकाया वर्ल्ड बैंक का सारा कर्ज़ जैसी कई फ़ेक न्यूज़ जो सोशल मीडिया पर छाई रहीं

सोशल मीडिया पर हर रोज़ कई तरह की जानकारियां साझा की जाती हैं। कई जानकारियां सही होती हैं तो कई तथ्यों के उलट, ऐसे में वो कौन-सी खबरें हैं जो आपको भी सही लगीं लेकिन थीं वो भ्रामक:

 

क्या मोदी सरकार के सत्ता में आते ही वर्ल्ड बैंक के कर्ज़े से मुक्त हो गया है भारत? 

 

 

इस हफ्ते एक बार फिर ये ख़बर वायरल हुई कि जो काम कांग्रेस नहीं कर पाई वो मोदी सरकार ने कर दिखाया। जो देश पिछले 70 सालों से वर्ल्ड बैंक के कर्ज में डूबा था, नरेंद्र मोदी के सत्ता में आते ही, सिर्फ 6 सालों में ही वर्ल्ड बैंक का सारा कर्ज चुका दिया गया। हालांकि वर्ल्ड बैंक से प्राप्त डाटा से पता चलता है कि भारत अभी वर्ल्ड बैंक के कर्ज से मुक्त नहीं हुआ।

 

 

 

योगी सरकार ने लगाया स्कूल-कॉलेजों में मोबाइल फ़ोन पर प्रतिबंध!

 

 

देश के लगभग सभी बड़े मीडिया संस्थानों ने एक खबर अपने चैनल व वेबसाइट पर प्रसारित तथा प्रकाशित की कि योगी सरकार ने सभी विद्यालयों तथा विश्विद्यालयों में मोबाइल फ़ोन के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने का आदेश पारित किया है। जब कि एक पत्र के माध्यम से उत्तर प्रदेश के शिक्षा निदेशक ने इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बताया कि यह खबर गलत है।

 

 

 

स्क्रीनशॉट के जरिए मनोज तिवारी का फर्जी बयान सोशल मीडिया पर किया गया शेयर

 

 

सोशल मीडिया पर आजतक का एक स्क्रीनशॉट काफी वायरल हुआ इस स्क्रीनशॉट में दी गई ख़बर के मुताबिक बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार की मोहल्ला क्लिनिक का विरोध किया है और कहा है कि इस योजना से निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम को नुकसान पहुंच रहा है। इस स्क्रीनशॉट को शेयर करने वालों में अविनाश दास नाम का वेरिफाइड हैंडल भी शामिल है। वहीं गूगल और आजतक की वेबसाइट पर मनोज तिवारी का ऐसा कोई बयान नहीं मौजूद है।

 

 

सुदर्शन टीवी ने असदुद्दीन ओवैसी का पुराना वीडियो कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न बता कर चलाया

 

सुदर्शन टीवी ने असदुद्दीन ओवैसी का एक वीडियो शेयर कर बताया कि उत्तर प्रदेश के हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने नाच कर जश्न मनाया। आपको बता दें कि कमलेश तिवारी की हत्या 18 अक्टूबर को हुई थी। जबकि ओवैसी के नृत्य वाला वीडियो 17 अक्टूबर को ही सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया गया था। वहीं इस वीडियो को लेकर खुद ओवैसी सफाई दे चुके हैं। 

 

 

हार के बाद कैमरे के आगे फूट-फूट कर रोने लगीं पंकजा मुंडे

 

 

सोशल मीडिया पर पंकजा मुंडे की एक तस्वीर इस दावे के साथ शेयर हुई कि हार के बाद पंकजा कैमरे के समाने ही रोने लगी। इस तस्वीर को कई लोगों ने शेयर किया और पंकजा को खूब ट्रोल किया गया। हालांकि पंकजा की ये तस्वीर टीवी 9 के एक इंटरव्यू का स्क्रीनशॉट है जिसमें पंकजा नकल कर के बता रही हैं कि उनका भाई ये अफवाह फैला रहा है कि वो हार के बाद रो रही हैं। सच्चाई सामने आने के बाद तस्वीर शेयर करने वाले लोग सफाई देते हुए कह रहे हैं कि उन्होंने केवल तंज कसने के लिए ये तस्वीर शेयर की थी।

 

 

 

(किसी भी संदिग्ध ख़बर की जानकारी आप Newschecker को ई-मेल के जरिए भेज सकते हैं: checkthis@newschecker.in)

 

Newschecker @Facebook

Newschecker @Twitter

Rajneil Kamath
Rajneil began his career in Google with Adwords Content Operations, moved to sales and then to Public Policy and Government Affairs. During his tenure at Google, he got a first-person view of content policy, community guidelines, product policy, and other public policy issues. Post his stint at Google, he founded a technology company before establishing Newschecker. He calls himself a product of the internet and mobile era and is determined to combat disinformation online. He looks after the day to day affairs and management of the organisation and does not participate in the editorial decisions of Newschecker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular