बुधवार, अक्टूबर 27, 2021
बुधवार, अक्टूबर 27, 2021
होमहिंदीसाल 2014 से 2019 के बीच भारत के ग्लोबल हंगर इंडेक्स को लेकर...

साल 2014 से 2019 के बीच भारत के ग्लोबल हंगर इंडेक्स को लेकर शेयर हो रहे भ्रामक दावे

Claim-
 
India’s slide in the Global Hunger Index continues under the Modi regime. From ranking 55th in 2014, we stand at 103 among 119 with the highest child wasting rate over 20% in 2019.With the poverty, malnutrition and hunger rising like never before, the Govt remains in denial mode.
 
हिंदी अनुवाद-
 
2014 में भारत का ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 55वां  स्थान था, जहां अब साल 2019 में भुखमरी के मामले में भारत 119 देशों में 103वें स्थान पर है, जिसकी लगातार स्थिति खराब होती जा रही है। 
  
 
 
 
Verification- 
 
ट्विटर पर पश्चिम बंगाल से कम्युनिस्ट पार्टी के नेता ‘surya kant mishra’ ने एक पोस्ट को शेयर करते हुए दावा किया है कि साल 2014 में भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स के सर्वेक्षण में 55वें स्थान पर था जहां अब साल 2019 में भुखमरी से पस्त होकर भारत का स्थान 103 हो गया है।
 
हमने वायरल दावे की सत्यता जाँचने के लिए गूगल पर ग्लोबल हंगर इंडेक्स की खबरों को खंगालना आरम्भ किया। इस दौरान हमें इकोनॉमिक्स टाइम्स में प्रकाशित एक लेख से साल 2014 में हुए ग्लोबल इंडेक्स के सर्वेक्षण की जानकारी प्राप्त हुई। 
 
 
 
 
 
लेख के मुताबिक साल 2014 में भारत का ग्लोबल इंडेक्स की सूची में 55वां स्थान था। 
हमने गूगल पर और बारीकी से खोजा। इस दौरान हमें हिंदुस्तान टाइम्स के यूट्यूब चैनल में अपलोड एक वीडियो से पता चला की साल 2019 में भारत ग्लोबल इंडेक्स सर्वेक्षण में 102वें स्थान पर है।
 
  
 
 
 
 
हिंदुस्तान टाइम्स के वीडियो के मुताबिक भारत 117 देशों के सर्वेक्षण में 102वें स्थान पर है। किंतु वायरल दावे के अनुसार 119 देशों की गिनती में भारत का स्थान 103 है। अब हमने भारत सरकार की वेबसाइटों को खंगालना आरम्भ किया। खोज के दौरान हमें भारत के नीति आयोग की वेबसाइट पर साल 2014 और 2017 में हुए ग्लोबल हंगर सर्वेक्षण के दस्तावेज़ प्राप्त हुए।
 
नीति आयोग के दस्तावेज़ों के मुताबिक साल 2014 में ग्लोबल हंगर इंडेक्स पर हुए सर्वेक्षण में भारत सिर्फ 76 देशों में 55 स्थान पर था और साल 2017 के सर्वेक्षण में 119 देशों की गिनती में 100वें स्थान पर है।  
 
 
 
 
 
इसके बाद साल 2019 में हुए सर्वेक्षण में आए नतीजों की जाँच के लिए हमने गूगल पर और खोजा। जहां हमें गूगल पर जागरण जोश की वेबसाइट पर प्रकाशित एक लेख प्राप्त हुआ। लेख के मुताबिक भारत को साल 2019 के सर्वेक्षण में 102वें स्थान पर बताया गया है।  
 
 
 
 
हमें गूगल पर global hunger index नामक वेबसाइट पर साल 2019 में हुए हंगर इंडेक्स का डाटा प्राप्त हुआ।  
 
newschecker.in टीम की पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।  
 
Tools used 
  • Google Search 
  • Youtube Search 
 
Result-Misleading
A rapid increase in the rate of fake news and its ill effect on society encouraged Nupendra to work as a fact-checker. He believes one should always check the facts before sharing any information with others. He did his Masters in Journalism & Mass Communication from Lucknow University.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular