शुक्रवार, अप्रैल 23, 2021
शुक्रवार, अप्रैल 23, 2021
होमCoronavirusपाकिस्तान की GDP कभी भी भारत की GDP से ज्यादा नहीं हुई,...

पाकिस्तान की GDP कभी भी भारत की GDP से ज्यादा नहीं हुई, सोशल मीडिया पर फर्ज़ी दावा वायरल है।

कोरोना वायरस महामारी के चलते इस साल देश में तीन महीने तक लॉकडाउन लगाया गया था। जिसके चलते देश की जीडीपी में गिरावट आई है। ऐसे में ट्विटर पर दावा किया जा रहा है कि कोरोना के चलते GDP डाउन है। कोरोना के पहले भी भारत की GDP पाकिस्तान से कम थी।

https://twitter.com/its_thakurain/status/1300701500788760576

वायरल दावे का आर्काइव वर्ज़न यहां देखा जा सकता है।

नीचे देखा जा सकता है कि वायरल दावे को ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

नीचे देखा जा सकता है कि वायरल दावे को फेसबुक पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

Fact Check/verification

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू किया। कुछ अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से हमने गूगल खंगालना शुरू किया।

पड़ताल के दौरान हमें 12 मई, 2020 को नवभारत टाइम्स और ABP News द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली।

 ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज’ देश की कुल GDP का करीब 10% है। जबकि पड़ोसी देश पाकिस्तान की कुल GDPभी इस पैकेज से कम है।

रिपोर्ट के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए 20 लाख करोड़ रूपए के राहत पैकेज का ऐलान किया था। ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज’ देश की कुल GDP का करीब 10% है। जबकि पड़ोसी देश पाकिस्तान की कुल GDP भी इस पैकेज से कम है।  

गूगल खंगालने पर हमें 12 जून, 2020 को News18 द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक 11 जून को पेश किए गए आर्थिक समीक्षा में कहा गया कि पाकिस्तान की GDP में 0.38 प्रतिशत की गिरावट आई है। ग्रोथ जीरो से फिसल कर निगेटिव हो गई। 68 सालों में पाकिस्तान की यह सबसे बड़ी गिरावट है।

11 जून को पेश आर्थिक समीक्षा में कहा गया कि पाकिस्तान की GDP में 0.38 प्रतिशत की गिरावट आई है। ग्रोथ जीरो से फिसल कर निगेटिव हो गई। 68 सालों में पाकिस्तान की यह सबसे बड़ी गिरावट है।

पड़ताल के दौरान हमें World Economics.com द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक अभी तक पाकिस्तान की जीडीपी भारत से ज्यादा कभी नहीं हो पाई। इतना हीं नहीं पड़ोसी देश जीडीपी के मामले में कभी भारत की बराबरी तक नहीं कर पाया है।

पड़ताल के दौरान हमें World Economics.com द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक अभी तक पाकिस्तान की जीडीपी भारत से ज्यादा नहीं हो पाई है। इतना हीं नहीं पड़ोसी देश जीडीपी के मामले में कभी भारत की बराबरी तक नहीं कर पाया है।

इस रिपोर्ट के आर्काइव वर्जन को यहां देखा जा सकता है।    

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने मार्केट एक्सपर्ट अकाश जिंदल (Market Expert Akash Jindal) से संपर्क किया। बातचीत में उन्होंने हमें बताया कि सोशल मीडिया पर जीडीपी को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। पाकिस्तान की जीडीपी कभी भी भारत से ज्यादा नहीं हुई है। ये लोग किसी ना किसी देश से लोन ही लेते रहते हैं। अगर हम साइज के बारे में बात करें तब पता चलता है कि पाकिस्तान की जीडीपी भारत के सामने कहीं नहीं ठहरती। जबकि हमारा देश पाकिस्तान की तुलना में आर्थिक रूप से बहुत मजबूत है। पाकिस्तान की तुलना हमसे कभी नहीं की जा सकती है।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि पाकिस्तान की जीडीपी कभी भी भारत के बराबर भी नहीं आई है। जबकि पाकिस्तान की GDP में 0.38 प्रतिशत की गिरावट आई है।   


Result: False


Our Sources

ABP News https://www.abplive.com/news/india/india-atmanirbhar-bharat-relief-package-is-equal-to-pakistan-whole-gdp-1395944

Navbharat Times https://navbharattimes.indiatimes.com/world/pakistan/indian-atmanirbhar-bharat-relief-package-for-coronavirus-is-more-than-gdp-of-pakistan/articleshow/75701414.cms

News18 https://hindi.news18.com/news/business/pakistan-economic-in-biggest-crisis-pakistans-economy-contracts-for-first-time-in-68-years-due-to-coronavirus-3148976.html

World Economics.com https://web.archive.org/web/20200110220544/https://www.worldeconomics.com:80/GrossDomesticProduct/India.gdp

Phone Verification with Market Expert


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Avatar
Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular