शनिवार, दिसम्बर 10, 2022
शनिवार, दिसम्बर 10, 2022

होमFact Checkमहिला के साथ वर्षों पूर्व हुई मारपीट की तस्वीर को गलत दावे...

महिला के साथ वर्षों पूर्व हुई मारपीट की तस्वीर को गलत दावे के साथ सोशल मीडिया पर किया गया शेयर

खून से लथपथ एक औरत की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। फोटो में औरत पुलिस (Police) वालों के सामने खड़ी है और हाथों से कुछ इशारा कर रही है। इस फोटो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि औरत को बुरी तरीके से पीटा गया है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि ये है मोदी सरकार के बेटी-बचाओ का असली चेहरा। इस फोटो को इतना शेयर करो कि इनको इसकी सजा मिल जाये।

https://m.facebook.com/groups/488457041809999/permalink/740339219955112/
https://www.facebook.com/groups/940570992656930/permalink/3526913197356017

पोस्ट से जुड़ा आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

तस्वीर का सच जानने के लिए पड़ताल शुरू करते हुए, सबसे पहले तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान वायरल फोटो से जुड़ी कई जानकारियां हमारे हाथ लगी। हमें इस तस्वीर से जुड़ा एक लेख एनडीटीवी पर मिला। जो 22 दिसंबर 2016 को पोस्ट किया गया था।

इस लेख के मुताबिक वायरल घटना यूपी के मैनपुरी की है। औरत ने दो आदमियों से रास्ता पूछा था, जिसके बाद वो दोनों उस महिला के साथ बदतमीजी करने लगे। जब औरत ने इसका विरोध किया तो भीड़ ने औरत को बुरी तरीके से पीटा। भीड़ ने औरत को डंडों से पीटा, जिसके बाद औरत के सिर से खून निकलने लगा और वहां पर पुलिस (Police) को बुलाना पड़ा।

वायरल तस्वीर के बारे में और जानकारी हासिल करने के लिए अपनी पड़ताल को जारी रखते हुए हमने कुछ कीवर्ड्स के जरिए गूगल पर सर्च किया। जिसके बाद हमें इस घटना से जुड़ा एक वीडियो भी हासिल हुआ। वीडियो में भीड़ महिला को मारती हुई नजर आ रही है। 

सर्च के दौरान हमें इस घटना से जुड़ा एएनआई यूपी का एक ट्वीट भी मिला। जिसके मुताबिक महिला के साथ दुर्व्यवहार करने वाले दोनों शख्स को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया था। ये घटना दिसंबर 2016 में हुई थी। उस समय यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार थी और अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे। जबकि यूपी में बीजेपी की सरकार मार्च 2017 में आई थी और योगी आदित्यनाथ को सीएम चुना गया था।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक खून से लथपथ वायरल हो रही महिला की तस्वीर हाल-फिलहाल की नहीं है। तस्वीर 22 दिसंबर 2016 की है। उस समय यूपी में बीजेपी की सरकार नहीं बल्कि सपा की सरकार थी।

Result: False


Our Sources

Google

Google reverse image

videohttps://www.dailymotion.com/video/x7gpgzj

NDTV- https://www.ndtv.com/india-news/in-video-woman-who-protested-groping-beaten-mercilessly-in-crowded-market-1640601

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular