शनिवार, सितम्बर 25, 2021
शनिवार, सितम्बर 25, 2021
होमFact Checkक्या अब भारतीय ट्रेन की टिकट पर लिखा होगा अडानी का नाम?...

क्या अब भारतीय ट्रेन की टिकट पर लिखा होगा अडानी का नाम? जानिए क्या है वायरल दावे का सच

सोशल मीडिया पर ट्रेन टिकट की एक फोटो वायरल हो रही है। टिकट पर भारतीय रेलवे की जगह अडानी रेल लिखा हुआ है। साथ ही टिकट पर नीचे लिखा है, “रेलवे अब हमारी निजी संपत्ति है।” ऐसे में सोशल मीडिया पर यूज़र्स द्वारा कहा जा रहा है कि भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप को बेच दिया गया है।  

भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप के हाथों में नहीं सौपा गया है, फर्ज़ी दावा वायरल

देखा जा सकता है कि इस दावे को फेसबुक पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

https://www.facebook.com/shahid.khan.16940/posts/4593451320670587
https://www.facebook.com/shahid.khan.16940/posts/4593451320670587

ट्विटर पर भी इस दावे को कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां और यहां देखा जा सकता है।

Fact Checking/Verification

सोशल मीडिया पर ट्रेन टिकट को लेकर वायरल हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें कुछ परिणाम मिले। पड़ताल के दौरान हमें फेसबुक पर Ishwar Lal Janwa और Modi Sarkar Badi Bekaar नामक पेज पर 17 अगस्त, 2020 को पोस्ट की गई तस्वीर मिली।

https://www.facebook.com/ishu136/photos/pb.101894947895772.-2207520000../312471880171410/
https://www.facebook.com/Modisarkaarbadibekaar/photos/1680464302111827

अधिक खोजने पर हमें Spokesperson Railways के आधिकारिक हैंडल से किया गया एक ट्वीट मिला। यह तस्वीर उस दौरान की है जब चार महीने पहले पुणे रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म टिकट का दाम 10 रूपए से बढ़ाकर 50 रूपए कर दिया गया था।

ट्वीट के माध्यम से भारतीय रेल प्रवक्ता ने स्पष्टीकरण देते हुए बताया था कि पुणे रेलवे स्टेशन पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए टिकट का रेट बढ़ाया गया था।

Keywords Search की मदद से खोजने पर हमें The Indian Express और पंजाब केसरी द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस महामारी के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए प्लेटफॉर्म टिकट का रेट बढ़ाया गया था।

भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप के हाथों में नहीं सौपा गया है, फर्ज़ी दावा वायरल

नीचे तस्वीर में देखा जा सकता है कि असली टिकट की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की गई है।

भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप के हाथों में नहीं सौपा गया है, फर्ज़ी दावा वायरल

सरकार द्वारा भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप को सौपने को लेकर पहले भी सोशल मीडिया पर कई दावे वायरल हो चुके हैं। पुराने दावे को हम पहले भी डिबंक कर चुके हैं जिसको आप यहां, यहां पढ़ सकते हैं।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही तस्वीर का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि भारतीय ट्रेन टिकट पर अडानी रेलवे का टैगलाइन मौजूद नहीं है। लोगों को भ्रमित करने के लिए असली टिकट को फोटोशॉप्ड करके भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।


Result: False


Our Sources

The Indian Express https://indianexpress.com/article/cities/pune/pune-platform-ticket-cost-increased-goes-viral-6560231/

Punjab Kesari https://www.punjabkesari.in/business/news/platform-ticket-rs-50-there-is-a-lot-of-discussion-on-social-media-1226292

Twitter https://twitter.com/SpokespersonIR/status/1295442652813340674


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular