मंगलवार, सितम्बर 27, 2022
मंगलवार, सितम्बर 27, 2022

होमFact Checkमनोरंजन के लिए बनाए गए 1 साल पुराने वीडियो को सांप्रदायिक रंग...

मनोरंजन के लिए बनाए गए 1 साल पुराने वीडियो को सांप्रदायिक रंग देकर एक बार फिर किया गया शेयर

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है यह कह कर कि मुंबई के मलाड इलाके में मुस्लिम समुदाय के लोग पूजा पंडाल धमका कर बंद करा रहे हैं। इस वीडियो के साथ लिखा गया है कि मुम्बई मलाड के दूर्गा पूजा पांडाल में भजन बंद करवा कर जेहादी असलम बोला! “कालोनी में रहना हैं तो असलम भाई कहना हैं यहां मोदी जी नहीं आयेंगे” गंगा जमुनी तहज़ीब पर भाषण दे ने वाले कहां मर गये…?

ध्यान से सुनने पर पता चलता है कि शेयर किए जा रहे वीडियो में एक शख़्स लोगों से कह रहा है कि ‘मालोनी में रहना है तो असलम भाई असलम भाई कहना है’। चश्मा और टोपी लगाए हुए ये शख़्स आगे कहता है कि यहाँ मोदी जी नहीं आएँगे यहाँ असलम भाई ही आएँगे। 

यह वीडियो सोशल मीडिया पर कितना वायरल है यह आप नीचे देख सकते हैं: 

Fact Check/Verification

Google Reverse Image Search करने पर हमें पता चला कि यही वीडियो 2019 में भी वायरल हुआ था। 

https://www.facebook.com/watch/?v=416089322621518
https://www.facebook.com/watch/?v=903856656678932

इस वीडियो पर कई वेबसाइट्स ने लेख भी लिखे थे। जिनमें OpIndia और News Nation शामिल हैं।

News Nation ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि असलम नाम का एक शख्स अपने कुछ साथियों के साथ पंडाल में घुस आया और वहां चल रहे माता के भजन को जबरदस्ती बंद करवा दिया। 

Google पर कुछ कीवर्ड्स डालने के बाद हमें पता चला की मलोनी, मलाड का ही एक इलाका है असलम शेख महाराष्ट्र कैबिनेट में मंत्री हैं। और यह वीडियो पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों के दौरान हुए चुनाव प्रचार के दौरान का है। BBC की 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक वायरल वीडियो में दिख रहे शख्स का नाम आशीष सिंह है और यह वीडियो उन्होंने मनोरंजन के लिए बनाया था इस बाबत उन्होंने पुलिस में शिकायत भी की थी कि कुछ लोग उनके वीडियो को गलत तरीके से शेयर कर रहे हैं।

Conclusion

पूजा पंडाल में गाने बंद कराने वाले इस वायरल वीडियो को ग़लत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। यह वीडियो एक साल पुराना है और इसमें दिख रहा शख़्स हिंदू ही है। 

Result: Misleading

Our Sources 

BBC: https://www.bbc.com/hindi/india-50014922


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई–मेल करें: [email protected]

Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.
Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular