मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

होमFact Checkहांगकांग की एक साल पुरानी वीडियो को अमेरिका में हो रहे प्रदर्शन...

हांगकांग की एक साल पुरानी वीडियो को अमेरिका में हो रहे प्रदर्शन का बताकर किया गया शेयर

Claim:

अमेरिका में एक बेगुनाह को पुलिस द्वारा मौत के घाट उतारने के बाद अमेरिका में लोग सड़कों पर आ गए इसे कहते हैं एकता।

जानिए क्या है वायरल दावा:

ट्विटर पर 14 सेकेंड की एक वीडियो वायरल हो रही है। इस वीडियो में हज़ारों लोगों को सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि अमेरिका में एक बेगुनाह को पुलिस द्वारा मौत के घाट उतारने के बाद अमेरिका में लोग सड़कों पर आ गए इसे कहते हैं एकता।

Verification:

कुछ टूल्स की मदद से हमने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो को खंगालना शुरू किया। देखा जा सकता है कि वायरल वीडियो को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

https://www.facebook.com/watch/?v=699964264097304

https://twitter.com/01_halima786/status/1267670765027106816

https://twitter.com/Vahidkhanusman6/status/1267521960633864192

कुछ टूल्स की मदद से खंगालने पर हमें वायरल वीडियो से संबंधित कई परिणाम मिले। 

Hong Kong Free Press और BBC द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जून, 2019 में चीन के नए प्रत्यर्पण कानून के विरोध में हांगकांग में बड़ा शांतिपूर्ण प्रदर्शन हुआ था। वहीं पुलिस की कार्रवाई के बाद यह प्रदर्शन हिंसात्मक हो गया था। इस विरोध प्रदर्शन में 10 लाख से अधिक लोगों ने भाग लिया था। दरअसल इस प्रदर्शन का कारण सरकार से प्रत्यर्पण कानून की अपनी योजना को वापस लेना था। 

YouTube खंगालने पर हमें Guardian News और CBS News के आधिकारिक चैनल पर 1 साल पहले अपलोड की गई वीडियो मिली। वीडियो को देखने के बाद हमने जाना कि प्रत्यर्पण कानून में संशोधन के विरोध में लाखों लोग सड़कों पर उतरे थे। प्रस्तावित कानून के मुताबिक अगर कोई शख्स अपराध करके हांगकांग भाग जाता है तो उसे जांच प्रक्रिया में शामिल होने के लिए चीन भेजा जाएगा।

ट्विटर खंगालने पर हमें 7 News Sydney और 7 News Melbourne  द्वारा किए गए ट्वीट में वायरल वीडियो दिखाई पड़ा। यह ट्वीट 17 जून, 2019 को किया गया था। 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि 1 साल पहले यानि जून, 2019 में हांगकांग में हुए विरोध प्रदर्शन की वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। वीडियो का अमेरिका से कोई लेना-देना नहीं है। पड़ताल में हमने पाया कि हॉगकॉग में लाखों लोग चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। 

Tools Used:

Reverse Image Search 

Media Reports

YouTube Search 

Result: Old Video / Misleading 

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular