मंगलवार, मई 17, 2022
मंगलवार, मई 17, 2022

होमFact Checkगाय का गोबर खाकर बीमारियों से बचाव का दावा करने वाले डॉक्टर...

गाय का गोबर खाकर बीमारियों से बचाव का दावा करने वाले डॉक्टर मनोज मित्तल की नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हुई यह तस्वीर

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर को शेयर कर यह दावा किया गया है कि गाय का गोबर खाने वाला डॉक्टर इंफेक्शन से पीड़ित होकर अस्पताल में भर्ती है।

(Viral Post)

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते महीने करनाल के एक MBBS डॉक्टर मनोज मित्तल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था वीडियो में डॉक्टर, गाय का गोबर खाते दिखाई दिए थे। दरअसल, डॉक्टर मित्तल पिछले कई सालों से गोमूत्र और गोबर का सेवन कर रहे हैं। उनका मानना है कि गाय के गोबर में प्रचुर मात्रा में विटामिन बी12 मौजूद होता है, जो हमें रेडिएशन से बचाता है। गोबर के सेवन से रेडिएशन का असर कम किया जा सकता है। इसी क्रम में, सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा अस्पताल में एडमिट एक मरीज की तस्वीर को शेयर कर यह दावा किया गया कि, ‘करनाल के MBBS डॉक्टर, जो दूसरों को गोबर खाने की सलाह देता था, खुद गोबर खाने के कारण इन्फेक्शन से पीड़ित होकर अस्पताल में भर्ती है।’ 

वायरल दावे को ट्विटर पर कई अन्य यूजर्स द्वारा भी शेयर किया गया है।

(Tweet Post)
(Tweet Post)
(Tweet Post)

ट्वीट्स का आर्काइव वर्जन यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है।

वायरल दावे को फेसबुक पर भी कई यूजर्स द्वारा पोस्ट किया गया है।

करनाल के MBBS डॉक्टर
(Screenshot Of Facebook Post)
करनाल के MBBS डॉक्टर
(Screenshot Of Facebook Post)
करनाल के MBBS डॉक्टर
(Screenshot Of Facebook Post)

फेसबुक पोस्ट्स को यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है।

फेसबुक पर वायरल संदेश को कितने लोगों ने पोस्ट किया है, यह जानने के लिए हमने CrowdTangle टूल पर कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमने पाया कि 24 घंटे के अंदर वायरल संदेश को 30 से अधिक बार पोस्ट किया गया है, जिसे कुल 1,889 इंटरैक्शंस (रिएक्शन, कमेंट, शेयर) प्राप्त हुए हैं।

करनाल के MBBS डॉक्टर
(Crowd Tangle टूल से प्राप्त नतीजों का स्क्रीनशॉट)

Fact Check/Verification

क्या सच में गाय का गोबर खाने की वजह से डॉक्टर मनोज मित्तल, इंफेक्शन से पीड़ित होकर अस्पताल में भर्ती हैं? सोशल मीडिया पर वायरल दावे के साथ शेयर की जा रही तस्वीर का सच जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू किया। इसके लिए सबसे पहले हमने वायरल तस्वीर को गूगल रिवर्स किया। इस दौरान हमें वायरल हो रही तस्वीर, THELIBERALWORLD.COM नामक एक वेबसाइट द्वारा प्रकाशित एक लेख में प्राप्त हुई।

16 अप्रैल, 2021 को THELIBERALWORLD.COM द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, मध्य प्रदेश के विदिशा स्थित अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज में एक मरीज को 2 बार मृत घोषित कर दिया गया था और उसके परिवार को सूचित कर दिया गया था कि कोरोना के कारण मरीज की मृत्यु हो गई, जबकि वह उस समय जिंदा था और वेंटिलेटर पर सांस ले रहा था। लेख में वही तस्वीर प्रकाशित की गई है, जिसे वर्तमान में सोशल मीडिया पर ‘गोबर खाने के कारण इन्फेक्शन से पीड़ित होकर डॉक्टर अस्पताल में भर्ती’ दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

पड़ताल में प्राप्त तस्वीर से यह आशंका प्रबल होती है कि वर्तमान में वायरल दावे के साथ शेयर की जा रही तस्वीर, शायद करनाल के डॉक्टर मनोज मित्तल की ना हो.

तस्वीर के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए कुछ कीवर्ड्स की मदद से दोबारा इसे गूगल रिवर्स किया। इस दौरान हमें Gofundme और AFP Fact check नामक दो वेबसाइट्स प्राप्त हुईं। गौरतलब है कि AFP फैक्ट चेक ने बीते फरवरी महीने में इस तस्वीर पर एक फैक्ट चेक रिपोर्ट प्रकाशित किया था। फैक्ट चेक में बताया गया है कि जो व्यक्ति अस्पताल में भर्ती दिख रहा है वह नेपाल का निवासी है।

Gofundme वेबसाइट के मुताबिक, नेपाल निवासी बिधान थापा नाम का एक व्यक्ति साल 2016 में अपनी पत्नी के साथ यूएस आया था। जहाँ जॉन हॉपकिंस अस्पताल में 10 जुलाई 2017 को उनकी मृत्यु हो गई थी। बिधान थापा के पार्थिव शरीर को नेपाल भेजने के लिए Gofundme द्वारा फंड जुटाया जा रहा था। बेवसाइट पर वही तस्वीर प्रकाशित है, जिसे वर्तमान में सोशल मीडिया पर ‘गोबर खाने के कारण इन्फेक्शन से पीड़ित होकर डॉक्टर अस्पताल में भर्ती’ दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Screenshot
Screenshot

वायरल दावे से संबंधित किसी अधिकारिक जानकारी के लिए, हमने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स ट्विटर और फेसबुक पर कुछ कीवर्ड्स के माध्यम से डॉ. मनोज मित्तल (Dr. Manoj Mittal) के बारे में सर्च किया। इस दौरान हमें मनोज मित्तल का फेसबुक पेज मिला। पेज पर ‘जगदम्बा बेबी केयर सेंटर’ (Jagdamba Baby Care Centre) का फोन नंबर प्राप्त हुआ।

करनाल के MBBS डॉक्टर
(Screenshot Of Dr. Manoj Mittal Facebook page)

प्राप्त नंबर पर न्यूजचेकर द्वारा संपर्क किया गया, इस दौरान हमारी बातचीत डॉक्टर मनोज मित्तल से हुई। उन्होंने हमें बताया, “कुछ दिन पहले उनके द्वारा गोमूत्र और गोबर से जुड़े एक वीडियो को अपलोड किया गया था, जिसे लेकर सोशल मीडिया पर नकारात्मक प्रचार-प्रसार किया गया। उनकी पत्नी और वह वर्षों से गोमूत्र और गोबर का औषधि के रूप में सेवन कर रहे हैं। जिसकी वजह से वे बिल्कुल स्वस्थ रहते हैं। सोशल मीडिया पर मेरे बारे में जो दावा किया गया है वह गलत है। मैं बिल्कुल स्वस्थ हूं।”

करनाल के MBBS डॉक्टर
(डॉक्टर मनोज मित्तल द्वारा आज न्यूजचेकर को शेयर किए गए वीडियो का स्क्रीनशॉट)

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ हो जाता है कि सोशल मीडिया पर डॉ मनोज मित्तल को लेकर शेयर किया जा रहा दावा गलत है।

Result: False

Our Sources

Media Report

Direct Contact Dr. Manoj Mittal, Karnal

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular