शनिवार, दिसम्बर 4, 2021
शनिवार, दिसम्बर 4, 2021
होमFact Checkक्या राशिद अल्वी ने जय श्री राम बोलने वालों को राक्षस कहा?

क्या राशिद अल्वी ने जय श्री राम बोलने वालों को राक्षस कहा?

सोशल मीडिया पर 10 सेकंड की एक वीडियो क्लिप को शेयर करते हुए दावा किया गया है कि कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने जय श्री राम बोलने वालों को राक्षस कहा। इस क्लिप में राशिद अल्वी बोलते नज़र आ रहे हैं, “आज भी बहुत लोग जय श्री राम का नारा लगाते हैं, वो सब मुनि नहीं, निशाचर हैं, ये मुनि नहीं हैं यह तो घोर निशाचर हैं।” 

BJP आईटी सेल इंचार्ज अमित मालवीय ने इस क्लिप को शेयर करते हुए लिखा, “सलमान ख़ुर्शीद के बाद अब कांग्रेस के नेता राशिद अल्वी जय श्री राम कहने वालों को निशाचर (राक्षस) बता रहे हैं। राम भक्तों के प्रति कांग्रेस के विचारों में कितना ज़हर घुला हुआ है।” 

Viral tweet

ट्वीट पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है।

BJP हरियाणा आईटी सेल इंचार्ज अरुण यादव ने भी इसे एक जैसे दावे के साथ ही ट्विटर पर शेयर किया है। 

Viral tweet

वायरल वीडियो क्लिप को बहुत से ट्विटर वेरीफाइड यूजर्स ने एक जैसे दावे के साथ ही शेयर किया है। इन यूजर्स में एक नाम पत्रकार अमिश देवगन का भी है। उन्होंने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “सलमान खुर्शीद के हिन्दुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम के बाद अब कांग्रेस के एक और नेता मियां राशिद अल्वी भी मैदान में उतर आए हैं। राशिद अल्वी ने तो दो कदम आगे बढ़ते हुए कह दिया कि जय श्रीराम बोलने वाले राक्षस हैं।”

Viral tweet

ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है।

Viral tweet

कई फेसबुक यूजर्स ने भी वायरल दावे को शेयर किया है।

FB screenshot
FB screenshot

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सलमान खुर्शीद की नई किताब ‘Sunrise Over Ayodhya: Nationhood in Our Times’ में हिंदुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम जैसे आतंकी संगठन से की गई है, जिसके बाद सलमान खुर्शीद की आलोचना होने लगी। बीबीसी हिंदी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, विवाद को बढ़ता देख सलमान खुर्शीद ने इस पर सफ़ाई देते हुए कहा कि उन्होंने हिंदुत्व की तुलना आतंकी संगठन से की है न कि हिन्दू धर्म से। 

Fact Check/Verification 

वायरल हो रहे वीडियो का सच जानने के लिए जब हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल पर खोजा तो हमें abplive द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने एक चुनावी कार्यक्रम में कालनेमी राक्षस का जिक्र करते हुए रामायण का एक वाकया सुनाया।

उन्होंने कहा, “जब लक्ष्मण मूर्छित होकर गिरे थे और कहा गया कि संजीवनी बूटी सूरज निकलने से पहले आनी चाहिए, तो हनुमान जी हिमालय से संजीवनी बूटी लेने गए थे। उस वक्त कालनेमि राक्षस, साधु के वेष में एक कुटिया में बैठकर जय श्री राम का जाप करने लगा था और जय श्री राम का जाप सुनकर हनुमान जी नीचे उतर आए थे। राक्षस ने हनुमान जी का वक्त ख़राब करने के लिए जय श्री राम का जाप करने से पहले उन्हें स्नान करने भेज दिया था। स्नान कुंड में एक घड़ियाल ने हनुमान जी पर हमला किया और जब उन्होंने उसका वध किया तो उससे एक सुंदर अप्सरा निकली, जिसने हनुमान जी को बताया था कि तुम्हें स्नान करने के लिए भेजने वाला कोई मुनि नहीं है बल्कि घोर राक्षस है। इसलिए सभी को समझना चाहिए कि जय श्री राम का नारा लगाने वाला हर कोई मुनि नहीं है, हमें होशियार रहना है।”

जब हमने कुछ कीवर्ड्स के साथ यूट्यूब पर खोजा तो हमें mojo india news चैनल पर राशिद अल्वी के इस भाषण का 6 मिनट का वीडियो मिला। उस वीडियो को सुनने के बाद पता लगा कि राशिद अल्वी ने कालनेमि राक्षस के संदर्भ में निशाचर वाली बात कही थी। जिसे भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया है। 

YouTube Video/mojo india news

Conclusion 

इस तरह हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों से यह साफ़ हो गया कि वायरल हो रहा ग़लत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। राशिद अल्वी ने जय श्री राम बोलने वालों को राक्षस नहीं कहा है।

हमारे इस पड़ताल को आप अंग्रेजी में यहां पढ़ सकते हैं।

Result: Misleading Content

Source

Media report

Self Analysis

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular