सोमवार, मई 16, 2022
सोमवार, मई 16, 2022

होमFact Checkएनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ भ्रामक...

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ भ्रामक दावा

सोशल मीडिया पर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के मुंबई जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को लेकर एक दावा वायरल है। दावे के मुताबिक, हाल ही में NCB को गोरेगांव में एक ड्रग पेडलर के होने की जानकारी मिली। जिसके बाद NCB के जांबाज अधिकारी समीर वानखेड़े अपनी 6 लोगों की टीम के साथ उसे पकड़ने के लिए गोरेगांव पहुंचे। NCB की टीम ने जैसे ही ड्रग्स पेडलर को पकड़कर जीप में बैठाया उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद कुछ ही देर में ड्रग्स पेडलर के करीब 40-50 साथी एकत्र हो गए और NCB की टीम पर हमला कर दिया। उनके पास हथियार भी मौजूद थे, लेकिन समीर वानखेड़े ने अपनी समझदारी और बहादुरी का परिचय देते हुए अपनी टीम को उनसे बचाया और अपराधी को भी गिरफ्तार किया। हालांकि, इस दौरान सभी गंभीर रूप से घायल भी हो गए थे। सोशल मीडिया यूजर्स समीर वानखेड़े की प्रशंसा कर रहे हैं। 

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

NCB के अधिकारी समीर वानखेड़े अक्सर ही खबरों का हिस्सा बने रहते हैं। इन दिनों वानखेड़े, बहुचर्चित क्रूज शिप ड्रग मामले की जांच का नेतृत्व कर रहे हैं, जिसमें शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को मुख्य आरोपी पाया गया है। बीते 2 अक्टूबर को क्रूज जहाज, कॉर्डेलिया पर छापेमारी के दौरान मिले ड्रग्स के सिलसिले में आर्यन खान समेत कई अन्य लोगों गिरफ्तार किया गया था। आर्यन की जमानत के लिए पिता शाहरुख बेहद परेशान थे, लेकिन इतने संगीन आरोप के बाद बेटे की जमानत लगभग नामुमकिन सी लग रही थी। इसके बावजूद, 29 अक्टूबर को आर्यन खान के जमानत की अर्जी को बाम्बे हाईकोर्ट से स्वीकृति मिल गई है।

वायरल दावे को फेसबुक पर कई यूजर्स द्वारा शेयर किया गया है।

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े
एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े
एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े

फेसबुक पोस्ट को यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है।

फेसबुक पर इस दावे को कितने लोगों ने पोस्ट किया है, यह जानने के लिए हमने CrowdTangle का उपयोग किया और इस दौरान हमने पाया कि पिछले कुछ दिनों में फेसबुक पर यह संदेश 191 से अधिक बार पोस्ट किया गया है।

Fact Check/Verification

वायरल दावे का सच पता लगाने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। सबसे पहले हमने कुछ कीवर्ड्स की सहायता से गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें वायरल खबर से संबंधित साल 2019 में प्रकाशित कई मीडिया रिपोर्ट्स प्राप्त हुईं। इंडिया टुडे द्वारा 23 नवंबर, 2020 को प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, वानखेड़े की टीम पर उस समय हमला किया गया था, जब वह मुंबई के गोरेगांव में एक ड्रग पेडलर -कैरी मेंडेस को गिरफ्तार करने गए थे। जब उन्होंने पेडलर को हिरासत में लेने की कोशिश की तो उस दौरान 60 से अधिक लोग मौके पर जमा हो गए और एनसीबी की टीम पर हमला कर दिया। इंडिया टुडे में प्रकाशित पूरी खबर को आप यहां पढ़ सकते हैं।

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को लेकर भ्रामक दावा

खोज के दौरान ही हमें 23 नवंबर, 2020 को  ANI द्वारा प्रकाशित लेख मिला। लेख के मुताबिक, गोरेगांव में वानखेड़े और टीम पर हमला करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया और उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े

वायरल खबर की पुष्टि के लिए Newschecker ने गोरेगांव पुलिस स्टेशन के डीसीपी हरीश गोस्वामी से संपर्क किया। डीसीपी ने बताया, “यह खबर फर्जी है। किसी ड्रग पेडलर ने हाल-फिलहाल में ना तो एनसीबी पर और ना ही वानखेड़े पर हमला किया था।”

इसके अलावा, हमें 24 नवंबर 2020 को शेयर किया गया एक ट्विटर पोस्ट भी मिला। जिसमें यह लिखा गया है कि गोरेगांव में ड्रग्स पेडलर को पकड़ने गए समीर वानखेड़े और उनकी टीम पर हमला कर दिया गया, जिसमें सब गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

Conclusion:

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों से यह साफ होता है कि नवंबर 2020 की एक घटना, जिसमें एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर ड्रग पेडलर्स द्वारा हमला किया गया था, उसे अब गलत दावे के साथ आर्यन खान की गिरफ्तारी से जोड़कर शेयर किया गया है।

Result: Misplaced

Our Sources:

India Today

ANI

Harish Goswami, DCP, Goregaon Police Station

Twitter

किसी संदिग्ध खबर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular