सोमवार, अगस्त 8, 2022
सोमवार, अगस्त 8, 2022

होमFact Checkतिरुपति बालाजी मंदिर प्रशासन राम मंदिर निर्माण के लिए नहीं दे रहा...

तिरुपति बालाजी मंदिर प्रशासन राम मंदिर निर्माण के लिए नहीं दे रहा है 1 अरब रुपए का दान, गलत दावा सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

भारत समाचार नामक एक स्थानीय चैनल के न्यूज बुलेटिन का एक स्क्रीनशॉट काफी वायरल है। इस स्क्रीनशॉट के जरिए दावा किया जा रहा है कि तिरुपति बालाजी (Tirupati Balaji) मंदिर, राम मंदिर के निर्माण में सहायता करेगा। तिरुपति बालाजी (Tirupati Balaji) मंदिर, राम मंदिर के निर्माण के लिए 1 अरब यानि 100 करोड़ रुपए का दान देगा। 

https://www.facebook.com/279257816227069/posts/890541818431996/
https://www.facebook.com/photo.php?fbid=105700088165843&set=a.103886671680518&type=3

पोस्ट से जुड़ा आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

वायरल स्क्रीनशॉट का सच जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू किया। हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। जिसके बाद हमें भारत समाचार का एक ट्वीट मिला। यह ट्वीट नवबंर साल 2019 को किया गया था।

प्राप्त ट्वीट के कैप्शन में लिखा गया था, राम मंदिर निर्माण के लिए तिरूपति बालाजी (Tirupati Balaji) मंदिर देगा एक अरब रुपए। साथ ही एक वीडियो को भी शेयर किया गया था। हमने इस वीडियो को पूरा देखा, जिसके बाद हमें पता चला कि ये वायरल हो रहा स्क्रीनशॉट इस वीडियो से ही लिया गया है।  

अपनी पड़ताल को जारी रखते हुए हमने तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम के पीआरओ कार्यालय में बातचीत की। पीआरओ कार्यालय ने इन सभी खबरों का खंडन करते हुए इन्हें गलत बताया है। पीआरओ कार्यालय का कहना है कि मंदिर अधिकारियों द्वारा ऐसा कोई भी ऐलान नहीं किया गया है। 

हमने  तिरुपति बालाजी मंदिर (Tirupati Balaji)की वेबसाइट पर जाकर भी चेक किया, लेकिन हमें इस खबर से जुड़ा कोई भी ऐलान वेबसाइट पर देखने को नहीं मिला। 

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक तिरुपति बालाजी (tirupati balaji) मंदिर ने राम मंदिर के निर्माण के लिए 1 अरब रुपए की सहायता देने का ऐलान नहीं किया है। तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम के पीआरओ कार्यालय ने ऐसी खबरों का खंडन किया है।

Result: False


Our Sources

Google

Direct Contact


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular