गुरूवार, दिसम्बर 8, 2022
गुरूवार, दिसम्बर 8, 2022

होमFact Checkलॉकडाउन के दौरान यूपी के कानपुर में खींची गई तस्वीर को RJD...

लॉकडाउन के दौरान यूपी के कानपुर में खींची गई तस्वीर को RJD ने बिहार से जोड़कर सोशल मीडिया पर किया शेयर

सोशल मीडिया पर चार तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही हैं। तस्वीरों में कुछ लोग पुलिस के सामने कान पकड़कर बैठे हैं। तस्वीर को देखकर अनुमान लगाया जा सकता है कि पुलिस सड़क पर लोगों को सजा दे रही है। ट्विटर पर इन तस्वीरों को शेयर करते हुए बिहार का बताया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह तिरस्कार और दुर्व्यवहार भले आपके साथ नहीं हुआ हो पर आपके दूसरे गरीब बिहारी भाइयों के साथ ज़रूर हुआ है। उनके स्वाभिमान व न्याय की खातिर भूलना नहीं है।

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

देखा जा सकता है कि वायरल दावे को ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

Fact Checking/Verification

पहली तस्वीर:

बिहार के नाम से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही तस्वीरों की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल को शुरु किया। Google Reverse Image Search की मदद से हमें कुछ परिणाम मिले।

यह तिरस्कर और दुर्व्यवहार भले आपके साथ नहीं हुआ हो पर आपके दूसरे गरीब बिहारी भाइयों के साथ ज़रूर हुआ है।

पड़ताल के दौरान हमें 24 मार्च, 2020 द्वारा Financial Express और Outlook द्वारा प्रकाशित की गई फोटो गैलरी मिली। इन रिपोर्ट्स के मुताबिक यह तस्वीर इसी साल मार्च में उत्तर प्रदेश के कानपुर में लॉकडाउन का उल्लंघन करने के दौरान ली गई थी।

कानपुर में लॉकडाउन के दौरान ली गई तस्वीर को RJD ने बिहार का बताकर शेयर किया

दूसरी तस्वीर:

Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें 12 मई, 2020 को NDTV  और Kashmir Glacier द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। इसके मुताबिक यह तस्वीर छत्तीसगढ़ के रायपुर में लॉकडाउन के दौरान खींची गई थी।  

यह तिरस्कर और दुर्व्यवहार भले आपके साथ नहीं हुआ हो पर आपके दूसरे गरीब बिहारी भाइयों के साथ ज़रूर हुआ है।

तीसरी तस्वीर:

Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें  The Hindu और The Times of India द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह तस्वीर कोरोना वायरस महामारी के दौरान लगे लॉकडाउन की है। यह तस्वीर उस दौरान की है जब दिल्ली के मजदूर अपने गांव पैदल जा रहे थे।

यह तिरस्कर और दुर्व्यवहार भले आपके साथ नहीं हुआ हो पर आपके दूसरे गरीब बिहारी भाइयों के साथ ज़रूर हुआ है।

चौथी तस्वीर:

Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें MSN और Loksatta द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली।

कानपुर में लॉकडाउन के दौरान ली गई तस्वीर को RJD ने बिहार का बताकर शेयर किया

रिपोर्ट के मुताबिक यह तस्वीर मार्च की है और देश में लगे लॉकडाउन के दौरान खींची गई थी। जब हज़ारों मजदूर दिल्ली से पैदल अपने गांव जा रहे थे।

कानपुर में लॉकडाउन के दौरान ली गई तस्वीर को RJD ने बिहार का बताकर शेयर किया

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही तस्वीरों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि इन तस्वीरों का बिहार से कोई लेना-देना नहीं है। लॉकडाउन के दौरान पुलिस के सामने जिन लोगों को दिखाया गया है वह तस्वीर कानपुर की है साथ ही कई अन्य तस्वीरें जिनमें प्रवासी मजदूर दिखाई दे रहे हैं वे बिहार के ही हैं ऐसा कोई आंकड़ा इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं है।


Result: False


Our Sources

NDTV https://www.ndtv.com/india-news/coronavirus-lockdown-desperate-to-go-home-migrants-climb-on-trucks-with-infants-in-chhattisgarh-raipur-2227220

Outlook https://live.outlookindia.com/photos/dayin/03/24/2020?photo-224415

The Hindu https://www.thehindu.com/news/national/coronavirus-parliamentary-panel-urges-govt-to-set-up-data-base-on-migrant-workers/article32093702.ece

MSN https://www.msn.com/en-in/news/photos/covid-19-after-long-walk-back-home-migrant-workers-get-food-and-shelter/ss-BB11Yo7U


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular