शुक्रवार, अक्टूबर 7, 2022
शुक्रवार, अक्टूबर 7, 2022

होमFact CheckWeekly Wrap: किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा से...

Weekly Wrap: किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा से लेकर कई अन्य मुद्दों तक, सोशल मीडिया पर वायरल इस हफ़्ते के टॉप 5 फेक दावों का फैक्ट चेक

इस सप्ताह सोशल मीडिया पर किसानों द्वारा गणतंत्र दिवस पर आयोजित की गई ट्रैक्टर रैली चर्चा में रही। इस रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा की खबरें पूरी दुनिया में छाई रहीं। रैली से सम्बंधित कई फेक दावे शेयर किये गए। इस दौरान कई दिग्गज नेताओं और पत्रकारों ने फेक खबरें फैलाई। हमारी टीम ने इस सप्ताह ट्रैक्टर रैली से लेकर कई अन्य सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों के बारे में फैलाई गई फेक ख़बरों का पर्दाफाश किया है।

क्या किसान ट्रैक्टर रैली की है सोशल मीडिया पर वायरल यह तस्वीर?

एक ट्रैक्टर का पीछा करती पुलिस की गाड़ी का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया। दावा किया गया कि एक किसान को ट्रैक्टर रैली में शामिल होने से रोकने के लिए यूपी पुलिस ने उसका पीछा किया। लेकिन बहादुर किसान ने पुलिस को चकमा दे दिया। हमारी पड़ताल में वायरल दावा झूठा साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या लाल किले से तिरंगा हटाकर प्रदर्शनकारियों ने लगाया खालिस्तान का झंडा?

गणतंत्र दिवस के अवसर पर किसानों द्वारा किये गए ट्रैक्टर मार्च के बाद लाल किले पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प हो गई थी। दावा किया गया था कि प्रदर्शनकारियों ने लाल किले पर खालिस्तानी झण्डा लगा दिया। हमारी पड़ताल में वायरल दावा झूठा साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या किसान ने लाल किले पर लगे तिरंगे को नीचे फेंका?

सोशल मीडिया पर ज़ी न्यूज़ के हवाले से दावा किया गया था कि 26 जनवरी को लाल किले पर हुए बवाल के दौरान एक किसान ने किले पर लगे तिरंगे को निकालकर नीचे फेंक दिया था। हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या शिवराज सिंह चौहान ने तिरंगे की जगह फहराया बीजेपी का झण्डा?

सोशल मीडिया के कई माध्यमों पर दावा किया गया था कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 26 जनवरी के अवसर पर तिरंगे की जगह बीजेपी का झण्डा फहरा दिया। हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

क्या यूपी की झांकी की है वायरल हुई यह तस्वीर?

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर के साथ दावा किया गया था कि यह तस्वीर यूपी की झांकी की है जिसे राजपथ पर सपा के शासन के दौरान दिखाया जाता था। हमारी पड़ताल में वायरल हुआ दावा भ्रामक साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहाँ पढ़ा जा सकता है।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें:[email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular