बुधवार, जनवरी 19, 2022
बुधवार, जनवरी 19, 2022
होमFact Checkमुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए कांस्टेबल तुकाराम की नहीं है खून...

मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए कांस्टेबल तुकाराम की नहीं है खून से लथपथ यह वायरल तस्वीर

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों का एक कोलाज शेयर करते हुए दावा किया गया कि खून से लथपथ तस्वीर शहीद कांस्टेबल तुकाराम ओंबले की है, जो 26/11 /2008 को मुंबई में हुए आतंकी हमले में शहीद हो गए थे। 

Viral tweet

सूचना प्रसारण मंत्रालय के सीनियर एडवाइजर कंचन गुप्ता ने तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा कि पुलिस कांस्टेबल तुकाराम, जिन्होंने बंदूक की गोलियां खाकर भी पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल क़साब को पकड़ा था। 

उपरोक्त ट्वीट के आर्काइव को यहां देखा जा सकता है।

वायरल तस्वीर को सुदर्शन चैनल की पत्रकार आँचल यादव ने भी अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है। 

Viral tweet

उपरोक्त ट्वीट के आर्काइव को यहां देखा जा सकता है।

मेजर सुरेंद्र पुनिया नाम के एक ट्विटर यूजर ने इन दो तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखा, ‘राष्ट्र की आने वाली पीढ़ियाँ शहीद तुकाराम ओंबले जी की ऋणी रहेंगी कि उन्होंने अपनी जान क़ुर्बान करके आतंकवादी कसाब को ज़िंदा पकड़ लिया, वरना ISI, मैडम सोनिया/राहुल/प्रियंका गाँधी/ इस परिवार के ग़ुलाम /LeLi 26/11आतंकी मुंबई हमले को “हिन्दू टेरर” कहकर हमेशा पूरे धर्म को बदनाम करते।’

Viral tweet

उपरोक्त ट्वीट के आर्काइव को यहां देखा जा सकता है।

Viral tweet

उपरोक्त दावे को फेसबुक पर भी शेयर किया गया है।

मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए कांस्टेबल तुकाराम ओंबले
FB screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए कांस्टेबल तुकाराम ओंबले
FB screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए कांस्टेबल तुकाराम ओंबले
FB screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

लाइव हिंदुस्तान द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, 26 नवम्बर, 2008 को मुंबई में आतंकी हमला हुआ था। इस हमले ने भारत ही नहीं अपितु पूरे विश्व को झकझोर दिया था। 26 नवम्बर, 2008 को लश्कर ए तैयबा के 10 आतंकियों ने इस हमले को मुंबई में अंजाम दिया था। इस हमले में 160 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवाई थी और 300 से अधिक लोग घायल हुए थे। बीते 26 नवम्बर को मुंबई हमले के 13 साल पूरे हो गए, लेकिन लोगों के ज़ेहन में मुंबई हमले के ज़ख्म आज भी ताज़ा हैं। अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अज़मल क़साब एक मात्र ऐसा पाकिस्तानी आतंकी था जो मुंबई हमले में ज़िंदा पकड़ा गया था। बतौर रिपोर्ट, कसाब के ज़िंदा पकड़े जाने का श्रेय कॉन्स्टेबल तुकाराम ओंबले को जाता है, क्योंकि तुकाराम ने कसाब की एके-47 रायफल की नली पकड़ ली थी। वह फायरिंग करता रहा, लेकिन उन्‍होंने उसको नहीं छोड़ा। तुकाराम ओंबले ने एक लाठी से एके-47 का सामना किया और आतंकी क़साब को ज़िंदा पकड़वा दिया। 

Fact Check/Verification

हमने वायरल तस्वीर का सच जानने के लिए इसे गूगल रिवर्स की मदद से खोजना शुरू किया। इस प्रक्रिया में हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स प्राप्त हुईं, जिनके मुताबिक, यह तस्वीर 2019 में भी वायरल हुई थी। रिपोर्ट्स में इस तस्वीर को मुंबई हमले पर बनी फ़िल्म The Attack Of 26/11 का एक दृश्य बताया गया था। इसके बाद हमने यूट्यूब पर कुछ कीवर्ड्स के साथ सर्च किया। इस दौरान हमें Eros now movies के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया हुआ ‘The Attack Of 26/11’ फ़िल्म का 14:07 मिनट का एक वीडियो मिला। वीडियो को पूरा देखने पर पता चला कि इसी वीडियो का एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है। वीडियो के 13:10 सेकंड पर वायरल स्क्रीनशॉट को देखा जा सकता है। 

बताते चलें कि मुंबई हमले पर बनी इस फ़िल्म में कॉन्स्टेबल तुकाराम का किरदार अभिनेता सुनील जाधव ने निभाया है। 

YouTube screenshot

तुकाराम ओंबले की असली तस्वीर और वायरल तस्वीर को नीचे देखा जा सकता है।

Tukaram
Screenshot

Conclusion 

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि वायरल हो रहे कोलाज में से एक तस्वीर मुंबई हमले में शहीद हुए कांस्टेबल तुकाराम ओंबले की है, लेकिन खून से लथपथ दूसरी तस्वीर अभिनेता सुनील जाधव की है, जिन्होंने फ़िल्म ‘The Attack Of 26 /11’ में शहीद कॉन्स्टेबल तुकाराम ओंबले का किरदार निभाया था। जिसे अब तुकाराम की तस्वीर बताकर सोशल मीडिया पर शेयर किया गया है। 

Result: Misleading

Our Sources

YouTube

Media reports

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular