शुक्रवार, जुलाई 30, 2021
शुक्रवार, जुलाई 30, 2021
होमCoronavirusक्या घरेलू नुस्खे दिला सकते हैं कोरोना वायरस से छुटकारा?

क्या घरेलू नुस्खे दिला सकते हैं कोरोना वायरस से छुटकारा?

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर एक बार फिर से बढ़ता जा रहा है। पिछले कुछ दिनों से देश में लाखों मरीज सामने आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर इससे बचने के लिए लोग अलग-अलग उपाय बता रहे हैं। ऐसे में इन दिनों एक तस्वीर वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि लौंग, इलायची, कपूर और जावित्री के फूल की पोटली बनाकर जेब में रखने से कोरोना वायरस तो क्या कोई भी वायरस आपको नुकसान नहीं पहुंचा पाएगा। 

  फेसबुक पर इस दावे को अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

ट्विटर पर भी इस दावे को अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

Fact Check/Verification

देश में कोरोना वायरस (COVID-19) की स्थति इस समय भयावह हो चुकी है। इससे निपटने के लिए सरकार की कोशिशें भी तेज़ हो रही हैं। देश में इन दिनों ऑक्सीजन की भारी किल्लत होने लगी है। जिसकी वजह से कई कोरोना पीड़ित मरीज दम तोड़ रहे हैं। इन दिनों अस्पतालों में मरीज़ों के लिए बेड की मारामारी के साथ शमशान घाट में चिताओं को जलाने की भी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की।

पड़ताल के दौरान सबसे पहले हमने World Health Organization की आधिकारिक वेबसाइट को खंगालना शुरू किया। जांच के दौरान हमने पाया कि पारंपरिक या घरेलू उपचार से COVID-19 का ना तो मुकाबला कर सकते हैं और ना ही इनके लक्षणों को कम कर सकते हैं। WHO कोरोना वायरस की रोकथाम या इलाज के रूप में एंटीबायोटिक दवा या घरेलू उपचार की राय नहीं देता है।

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने यूनानी डॉक्टर मौहम्मद इमरान से बात की। उन्होंने हमें बताया, “इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि लौंग, इलायची, कपूर और जावित्री के फूल से कोरोना वायरस भाग जाएगा। यह केवल एक अफवाह है जो कि लोगों द्वारा पैदा की गई है। उन्होंने हमें बताया कि पुराने समय से कपूर हवन में जलाया जाता था, क्योंकि इससे वातावरण की शुद्धि होती है। इसमें सुगंधित तत्व होते हैं। लेकिन इससे कोरोना वायरस को खत्म करने का दावा बिल्कुल गलत है। लौंग, इलायची और कपूर में एंटी वायरल तत्व पाए जाते हैं, जो कि फंगल और बैक्टीरिया से बचाते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि इसको पास रखने से कोरोना वायरस आपको नुकसान नहीं पहुंचाएगा या मर जाएगा।

जबकि होता यह है कि जब कोई बीमारी फैलती है तब अधिकतर लोग अफवाह के चलते घरेलू नुस्खे अपनाना शुरू कर देते हैं। देश में जब स्वाइन फ्लू वायरस का कहर बढ़ा था तब भी इस तरह का दावा किया जा रहा था कि लौंग, इलायची, कपूर और जावित्री का फूल रखने से यह वायरस आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा। कुछ लोगों ने इस तरीके को आज़माया भी था और वह बच गए होंगे, जिसके बाद से कुछ लोगों में इस बात पर भरोसा बढ़ गया होगा।

Conclusion

व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर और शेयरचैट पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि कोरोना वायरस के घरेलू इलाज को लेकर किए जा रहे दावे में कोई सच्चाई नहीं है। लोगों को भ्रमित करने के लिए भ्रामक दावा किया जा रहा है। कोरोना वायरस (COVID-19) का इलाज दवाईयों से ही किया जा सकता है, केवल घरेलू इलाज करने से घातकर कोरोना वायरस को मात नहीं दी जा सकती है।


Our Sources:

Google Keywords Search

Direct Contact


Result: False 


(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular