बुधवार, अगस्त 4, 2021
बुधवार, अगस्त 4, 2021
होमFact Checkक्या देश में हर मंगलवार को मीट की दुकानें बंद रखी जाएंगी?...

क्या देश में हर मंगलवार को मीट की दुकानें बंद रखी जाएंगी? जानिए क्या है सच

मीट और बीफ को लेकर अक्सर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ी रहती है। इन दिनों एक बार फिर से मीट को लेकर एक ऐसी ही पोस्ट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि देश में हर मंगलवार को मीट की दुकानें बंद रहेंगी। सोशल मीडिया पर यूज़र्स इस पोस्ट को शेयर करते हुए कह रहे हैं कि सरकार ने अच्छा फैसला लिया है, हम सरकार के इस फैसले का पूर्ण समर्थन करते हैं।

CrowdTangle पर मिले डाटा के मुताबिक अभी तक सैकड़ों लोग इस तस्वीर को ट्विटर और फेसबुक पर शेयर कर चुके हैं। डाटा के मुताबिक अभी तक फेसबुक पर Ompal Goswami की पोस्ट को सबसे ज्यादा लाइक और शेयर मिले हैं। लेख लिखे जाने तक Ompal Goswami की पोस्ट पर 11k लाइक्स, 858 कमेंट और 684 शेयर थे। ट्विटर पर भी हजारों लोग इसे पोस्ट कर रहे हैं। पोस्ट से जुड़े अर्काइव लिंक को यहां और यहां देखा जा सकता है।

हर मंगलवार को मीट
हर मंगलवार को मीट
हर मंगलवार को मीट

Fact Check/Verification

वायरल दावे का सच जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी INDIA TV और HINDUSTAN TIMES जैसी कई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। जिन्हें 19 मार्च 2021 को प्रकाशित किया गया था। इन रिपोर्ट्स के मुताबिक गुरुग्राम में हर मंगलवार को मीट की दुकाने बंद रखने का आदेश जारी किया गया है।

हर मंगलवार को मीट

पड़ताल के दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ा ANI का एक ट्वीट मिला। जिसे 19 मार्च 2021 को पोस्ट किया गया था। इस ट्वीट में बताया गया है कि गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद ने गुरुग्राम में हर मंगलवार को मीट की दुकाने बंद रखने का आदेश जारी किया है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि अब से गुरुग्राम में मीट शॉप के लिए जारी होने वाले लाइसेंस की फीस बढ़ा दी गई है। अवैध तरीके से मीट शॉप खोले जाने पर लगने वाली पेनल्टी को भी बढ़ा दिया गया है।

हमें ANI के यूट्यूब चैनल पर गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद का एक वीडियो मिला। जिसे मार्च 2021 में अपलोड किया गया था। इस वीडियो में गुरुग्राम कि मेयर मधु आजाद बताती हुई नजर आ रही हैं कि शहर के लोगों की कई शिकायतों के बाद हर मंगलवार को मीट की दुकानें बंद रखने का फैसले लिया गया है। हमने मंगलवार का दिन इसलिए चुना क्योंकि इस दिन बहुत कम लोग मीट खाते हैं।

सर्च के समय हमें AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी का एक ट्वीट मिला। जिसमें उन्होंने गुरुग्राम में हर मंगलवार को मीट की दुकाने बंद रखने के फैसले पर प्रतिक्रिया दी थी। AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करते हुए इस फैसले को गलत बताया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा एक शख्स अपनी प्राइवेट लाइफ में क्या कर रहा है, इससे किसी की धार्मिक भावना कैसे आहत हो सकती हैं। लोग अपनी मर्जी से मीट खरीदते हैं, बेचते हैं और खाते हैं। इसमें कोई किसी के साथ ज़बरदस्ती नहीं कर रहा है।

छानबीन को आगे बढ़ाते हुए हमने ये जानने के लिए गूगल पर कई कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया, कि क्या देशभर में भी हर मंगलवार को मीट की दुकानें बंद रहेंगी? लेकिन हमें इससे जुड़ी कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली। इसके बाद हमने गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर जाकर भी इस बारे में सर्च किया। लेकिन हमें वहां पर भी इससे जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली। हमने गृह मंत्री अमित शाह के सोशल मीडिया अकाउंट पर जाकर भी इस आदेश के बारे में सर्च किया। लेकिन वहां पर भी हमें ऐसी कोई पोस्ट नहीं मिली। जिसमें बताया गया हो कि सरकार ने पूरे देश में हर मंगलवार को मीट की दुकाने बंद रखने का आदेश जारी किया है।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के बाद ये स्पष्ट होता है कि देश भर में हर मंगलवार को मीट की दुकाने बंद रहेगी कहने वाली सारी पोस्ट फर्जी है। सरकार की तरफ से ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। हर मंगलवार को मीट की दुकाने बंद रखने का आदेश गुरुग्राम कि मेयर मधु आजाद द्वारा सिर्फ गुरुग्राम के लिए जारी किया गया है।

Result: Misleading


Our Sources

India TV –https://www.indiatv.in/india/national-gurugram-meat-shops-will-remain-closed-on-tuesday-779292

Hindutan Times – https://www.hindustantimes.com/cities/gurugram-news/meat-shops-to-shut-on-tuesday-decides-house-101616091556200.html

Twitter – https://twitter.com/asadowaisi/status/1372857022064988160

Twitter – https://twitter.com/ANI/status/1372897368119517189

Youtube – https://www.youtube.com/watch?v=FmG5U_tkBRc


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular