सोमवार, अगस्त 8, 2022
सोमवार, अगस्त 8, 2022

होमFact Checkतस्वीर में दिख रही लड़की का JNU से कोई संबंध नहीं है,...

तस्वीर में दिख रही लड़की का JNU से कोई संबंध नहीं है, 2019 में LGBTQ के समर्थन में हुए कार्यक्रम की है यह तस्वीर

सोशल मीडिया पर बड़ी-सी बिंदी लगाए, साड़ी पहने और सिंदूर लगाए एक लड़की की तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि ये जेएनयू (JNU) के प्रगतिशील छात्र हैं इनका विरोध है कि हिन्दू महिलाएं साड़ी, बिंदी, और सिंदूर क्यो लगाती हैं? इसका विरोध करने ये सड़क पर निकले हैं।

JNU से जुड़े फैक्ट चैक यहां पढ़ें

https://www.facebook.com/298269463612998/posts/2582450051861583/
https://www.facebook.com/groups/925755210847662/permalink/2665655256857640
https://www.facebook.com/07sid07/posts/2855372671188202

सोशल मीडिया पर वायरल दावे का आर्काइव यहां देखा जा सकता है।  

Fact Check/Verification

सबसे पहले हमने वायरल तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। जिसके बाद हमें इस तस्वीर से जुड़ी कई अहम जानकारियाँ प्राप्त हुईं। हमें यह तस्वीर बंगाली न्यूज़ पोर्टल खास-खबर पर मिली।

इस बंगाली आर्टिकल की तस्वीर में मौजूदा लड़की के बारे में कई जानकारियाँ दी गई थी। लेख के मुताबिक तस्वीर में मौजूद लड़की का नाम पंचाली कर है, जो कि एक विजुअल आर्टिस्ट है। जो अपनी विवादित पोस्ट और फोटो के लिए मशहूर हैं।

पंचाली कर के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल करने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। जिसके बाद हमें पंचाली का फेसबुक पेज और इंटाग्राम अकाउंट मिला। पंचाली ने अपने फेसबुक पेज और इंटाग्राम पर यह तस्वीर 30 दिसंबर 2019 को अपलोड की थी। इसके कैप्शन में प्राइड 2019 लिखा गया था। इसी के साथ ही इस तस्वीर की लोकेशन बाघ बाजार रोड कोलकाता बताया गया था। इसके बाद हमने पंचाली के फेसबुक प्रोफाइल को खंगाला हमें कहीं पर भी जेएनयू (JNU) का जिक्र तक नहीं मिला।

https://www.instagram.com/p/B6q7u_zg-3J/

अपनी पड़ताल को जारी रखते हुए हमने प्राइड इवेंट के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए कुछ कीवर्ड्स के जरिए गूगल पर सर्च करना शुरू किया। जिसके बाद हमें कुछ वेब पोर्टल मिलें, जिन्होंने इस इवेंट को पड़े पैमाने पर कवर किया था। वेब पोर्टल्स के मुताबिक यह LGBTQIA+ समुदाय के लिए एक वार्षिक कार्यक्रम था। जो कि 29 दिसंबर 2019 को कोलकाता में हुआ था। जिसमें पंचाली ने भी हिस्सा लिया था, यह तस्वीर उसी समय की हैं। तस्वीर या लड़की का जेएनयू (JNU) से कोई संबंध नहीं है।

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही लड़की की तस्वीर का न तो CAA प्रोटेस्ट से और न ही जेएनयू (JNU) से कोई संबंध है। हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक लड़की का नाम पंचाली कर है, जो कि एक विजुअल आर्टिस्ट हैं। लड़की एलजीबीटी समुदाय को सपोर्ट करने के लिए प्राइड इवेंट में भाग लेने के लिए पहुंची थी। वहीं पर यह तस्वीर ली गई थी। तस्वीर में मौजूद लड़की का मकसद हिन्दू महिलाएं या फिर हिंदू धर्म का विरोध करना नहीं है। गलत दावे के साथ तस्वीर को सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है।

Result: False


Our Sources

Google Keyword Search

Facebook- https://www.facebook.com/panchali.kar/about_life_events

Youth ki awaaz – https://www.youthkiawaaz.com/2019/12/kolkata-pride-walk-2019-protest-against-caa-finds-voice-in-the-walk/

khas khobor- https://khaskhobor.com/blog/2020/10/18/sulagna-dashgupta-rebukes-panchali-kar/


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular