सोमवार, नवम्बर 28, 2022
सोमवार, नवम्बर 28, 2022

होमFact Checkनरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लाने वाले विमान को लेकर...

नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लाने वाले विमान को लेकर भ्रामक दावा वायरल

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर दावा किया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लेने गए जहाज़ का चेहरा बदलवा दिया है। वायरल पोस्ट में एक विमान की तस्वीर है जिसपर चीते को पेंट किया गया है।

Courtesy: Facebook/Hemant Thakur
Courtesy: Facebook/Rajiv Gupta

(ट्वीट का आर्काइव लिंक)

दरअसल, लाइव हिंदुस्तान में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक पीएम मोदी 17 सितंबर को अपने जन्मदिन के मौके पर मध्य प्रदेश के कूनो पॉर्क में चीतों को छोड़ेंगे। इन चीतों को नामिबिया से एक विशेष विमान जंबो जेट बी 747 के जरिए लाया जाएगा। BBC की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 1950 के दशक के बाद से भारत में चीते को विलुप्त घोषित कर दिया गया था। रिपोर्ट की मानें तो देश में एक भी जीवित चीता नहीं बचा था और पहली बार एक इतने बड़े मांसाहारी जानवर को एक महाद्वीप से निकालकर दूसरे महाद्वीप के जंगलों में लाया जा रहा है।

इसी बीच यह दावा किया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लेने गए जहाज़ का चेहरा बदलवा डाला है।

Fact Check/Verification

क्या पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लेने गए जहाज़ का चेहरा बदलवा डाला है? इस दावे की सत्यता जानने के लिए हमने Bing सर्च इंजन की मदद से वायरल तस्वीर को रिवर्स सर्च किया। हमें Siberian Times नामक एक वेबसाइट पर 23 जून 2015 को छपी एक रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट के अनुसार, जंबो जेट विमान के अगले हिस्से पर अब साइबेरियन बाघ को जगह दी गई है। इसके पीछे का मकसद लोगों में इन जानवरों के साथ होने वाले अत्याचार को लेकर जागरूक करना है। रूसी विमान कंपनी ट्रांसएरो ने अपने विमान बोइंग 747-400 विमानों में से एक पर बाघ का डिजाइन करवाया है। 

Flight Global और Worldairlinenews वेबसाइट ने भी इस खबर को जून 2015 में प्रकाशित किया है।

इसके अलावा हमें जून 2015 के कुछ ट्वीट भी मिले जिसमें बोइंग 747-400 की तस्वीरों के साथ साइबेरियन बाघ वाले नए डिजाइन का जिक्र है। 

पड़ताल के दौरान हमने दुनिया भर के विमानों में आने वाले बदलावों की जानकारी देने वाली वेबसाइट Plane Spotter पर बोइंग 747-400 के बारे में सर्च किया। वेबसाइट के अनुसार, ट्रांसएरो एयरलाइंस की विमान बोइंग 747-400 को जून 2015 में ‘Caring for Tiger Together (बाघ की एक साथ देखभाल)’ थीम के साथ पेंट किया गया था। इसे 2021 में एक्वालाइन नाम की एक कंपनी ने ख़रीदा था।

Courtesy: Plane Spotters

हमें दूरदर्शन के यूट्यूब चैनल पर 15 सितंबर को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। इसमें एक्वालाइन इंटरनेशनल के CEO रोमन ट्रैंडाफिलॉफ का इंटरव्यू है। इसमें उन्होंने बताया कि यह एयरक्राफ्ट हमारी कंपनी का है जिसे हमने एक साल पहले लिया था। यह पहले एक यात्री विमान था लेकिन इसमें से हमने सभी इकोनॉमी सीटें हटा कर इसे चीतों को ले जाने के लिए तैयार किया है।हमने मामले की अधिक जानकारी के लिए विमान कंपनी को मेल किया है। उनका जवाब आने पर रिपोर्ट को अपडेट किया जाएगा।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में स्पष्ट है कि सोशल मीडिया पर भ्रामक दावा शेयर किया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन पर नामीबियाई चीते लेने गए जहाज़ का चेहरा बदलवा डाला है। विमान में ये बदलाव साल 2015 में ही हो गया था।

Result: Partly False

Our Sources

Report Published by Siberian Times, Worldairlinenews, Flight Global in June 2015
Plane Spotter
Youtube Video Uploaded by Doordarshan on September 15, 2022

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.
Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular