रविवार, मई 22, 2022
रविवार, मई 22, 2022

होमFact CheckReligionकेदारनाथ के बर्फीले वातावरण में हठ तपस्या करते साधु की नहीं है...

केदारनाथ के बर्फीले वातावरण में हठ तपस्या करते साधु की नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हो रही यह तस्वीर

सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति की तस्वीर शेयर कर दावा किया गया है कि एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है। 

फेसबुक यूजर ने वायरल तस्वीर को शेयर कर लिखा कि ‘ऐसी तपस्या, साधना हठ सिर्फ़ सनातन धर्म में ही है, संत जब अपनी इन्द्रियों को जीत लेता है, केदारनाथ में तपस्या करते तपस्वी धन्य हैं, सनातन कोटि कोटि नमन, जय श्री राम।’

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है। 
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

Crowdtangle टूल की सहायता से किये गए एक विश्लेषण के अनुसार, इस तस्वीर को पिछले 7 दिनों में फेसबुक पर कुल 60 बार पोस्ट किया गया है, जहां कुल 7872 इंटरैक्शन (रिएक्शन, कमेंट, शेयर) हैं।

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।
Screenshot Of Crowdtangle

उपरोक्त दावे के ट्विटर पर भी शेयर किया गया है। 

Tweet Post

उपरोक्त ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है। 

21 जनवरी 2021 को नवोदय टाइम्स द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, दिल्ली में बाबा अनिल नाथ कोरोना को खत्म करने लिए ठंडे पानी में बैठकर तप कर रहे हैं। बतौर लेख, ‘बाबा अनिल नाथ शीत ऋतु में ठंडे जलधारा के बीच लगातार अपनी कठोर तपस्या कर रहे हैं।’

इसी बीच एक व्यक्ति की तस्वीर शेयर कर दावा किया गया है कि एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।

Fact Chcek/Verification 

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है, दावे के साथ शेयर की जा रही तस्वीर का सच जानने के लिए हमने इसे गूगल रिवर्स की मदद से खोजना शुरू किया। इस प्रक्रिया में हमें तमिल भाषा में प्रकाशित एक लेख मिला। प्राप्त लेख के मुताबिक, वायरल तस्वीर बाबा सरभंगी डेरा के भलेगिरी महराज की है। 

इसके बाद हमने बाबा ‘सरभंगी’ और ‘भलेगिरी’ कीवर्ड्स को गूगल पर खोजना शुरू किया। इस प्रकिया में हमें बाबा सरभंगी नाम का एक फेसबुक पेज मिला। प्राप्त फेसबुक पेज को खंगालने पर हमें 18 जून 2019 का एक पोस्ट मिला। प्राप्त पोस्ट में मौजूद तस्वीर को देखने के बाद पता चला कि यह वही तस्वीर है जो ‘एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है’ दावे के साथ वायरल है।

प्राप्त पोस्ट के कैप्शन में लिखा है “Baba bhale ji mahraj ki jai ho, पंच नाम दशनाम जूना अखाड़ा।”

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।
FB Screenshot

प्राप्त तस्वीर और वायरल तस्वीर की तुलना करने पर पता चलता है कि दोनों तस्वीरों में बस कलर का अंतर है। वायरल तस्वीर सफेद है और प्राप्त तस्वीर रंगीन।

एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है।
Comparison

प्राप्त फेसबुक पेज को खंगालने के दौरान हमें एक वीडियो भी प्राप्त हुआ। वीडियो को देखने के बाद पता चला कि बाबा भलेगिरी महाराज के शरीर पर बर्फ़ नहीं बल्कि राख और भभूत लगाई गई है। 

इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए यूट्यूब पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें 2 साल पुराना एक वीडियो मिला। इस वीडियो में बाबा भलेगिरि मौजूद हैं। प्राप्त वीडियो में दो लोग बाबा के शरीर पर पहले पानी डालते हैं और फिर उनके शरीर पर राख डालते हैं।

 

YouTube Video Of Fan Of Renuka Panwar

पड़ताल के अगले चरण में हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें दैनिक भास्कर द्वारा प्रकाशित एक लेख मिला। प्राप्त लेख के मुताबिक, ‘विश्व शांति को लेकर श्री श्री 1008 बाबा भलेगिरी जी महाराज 5 धूनों के बीच में तपस्या कर रहे हैं। इन पांचों धूनों में 108-108 उपले रखे जाते हैं। बाबा यहां 41 दिनों तक तप करेंगे।’ 

इसके बाद हमने कुछ और कीवर्ड्स की मदद से गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें दैनिक भास्कर द्वारा प्रकाशित करीब 7 साल पुराना लेख मिला। प्राप्त लेख के मुताबिक, सरभंगी डेरा हरियाणा के गोहाना में मौजूद है।   

Conclusion 

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि ‘एक योगी द्वारा केदारनाथ की बर्फ़ में हठ तपस्या की जा रही है’ दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर उत्तराखंड की नहीं बल्कि हरियाणा के गोहाना के सरभंगी डेरे की है। वायरल तस्वीर में साधु की शरीर पर बर्फ़ नहीं जमा है बल्कि राख और भभूत लगा हुआ है। अब तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Result: Misleading/Partly False

Our Sources

FB Post :https://www.facebook.com/446762502453130/posts/697873170675394/?sfnsn=wiwspmo

Youtube Video Of Fan Of Renuka Panwar: https://youtu.be/HqK6YjWiJaU

Danik Baskar: https://www.bhaskar.com/news/HAR-OTH-MAT-latest-gohana-news-023004-1905440-NOR.html

Self Analysis

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular