सोमवार, दिसम्बर 6, 2021
सोमवार, दिसम्बर 6, 2021
होमFact Checkक्या उत्तर प्रदेश का है सोशल मीडिया पर वायरल हुआ यह वीडियो?

क्या उत्तर प्रदेश का है सोशल मीडिया पर वायरल हुआ यह वीडियो?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर करते हुए यह दावा किया गया है कि सड़क पर नमाज़ पढ़ रही मुस्लिमों की भीड़ को सेना द्वारा पीटा जा रहा है।

वायरल वीडियो को शेयर करते हुए एक यूजर ने इसे उत्तर प्रदेश का बताया है। दावा किया है कि यह वीडियो भारत-पाकिस्तान के बीच हुए मैच के बाद पाकिस्तान की जीत पर जश्न मानते लोगों की उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा पिटाई का है।

विगत 24 अक्टूबर को भारत और पाकिस्तान के बीच टी-20 वर्ल्ड कप का पहला क्रिकेट मैच दुबई में खेला गया था। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर भारत को पहले बैटिंग करने का न्योता दिया। ख़राब शुरुआत के कारण भारत 20 ओवर में मात्र 150 रन बना पाया। इसके जवाब में पाकिस्तान टीम ने बिना विकेट गँवाये इस मैच को जीत लिया। यह पहली बार हुआ है जब भारत, पाकिस्तान से टी 20 वर्ल्ड कप में हारा है। भारत की हार के बाद इस मैच को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ भ्रामक के दावे वायरल किये गए। जिसका हमारी टीम द्वारा फैक्ट चेक किया गया है।

Fact Check/Verification 

वायरल हो रहे वीडियो का सच जानने के लिए हमने Invid टूल की मदद से कुछ कीफ्रेम बनाया। एक कीफ्रेम को देखने पर हमें एक दुकान का बोर्ड नज़र आया। बोर्ड पर उस दुकान का नाम एसदीन (s.deen) टेलर्स लिखा हुआ था। जब हमने इस नाम को गूगल मैप पर सर्च किया तो हमे वहां S.Deen नाम से एक दुकान का नाम दिखाई दिया। दुकान का पता मध्यप्रदेश के जबलपुर का था। गूगल मैप पर उस दुकान का नंबर भी था। जब हमने दिए गए नंबर पर कॉल किया तो किसी इरफ़ान ने कॉल रिसीव किया। इरफ़ान से वीडियो के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि यह घटना बीते 19 अक्टूबर की है, जब स्थानीय लोग ईद-ए-मिलादुन्नबी का त्यौहार मना रहे थे। हालांकि, उन्होंने बताया कि उस समय वो घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे।

सड़क पर नमाज़

वायरल वीडियो का सच जाने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से यूट्यूब पर सर्च किया तो हमें ndtv और नवभारत टाइम्स के यूट्यूब चैनल पर लाठीचार्ज की घटना से संबंधित कुछ वीडियो प्राप्त हुए, जिसमें बताया गया था कि मध्यप्रदेश के जबलपुर में ईद-ए- मिलादुन्नबी के जुलूस में पुलिस ने भीड़ को रूट बदलने से रोका तो पत्थरबाजी होने लगी। इसके बाद पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया।

हमने जब गूगल पर एक कीफ्रेम की मदद से क्लेम से मिलते जुलते कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग किया तो हमे न्यूज़18 द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। बकौल रिपोर्ट, यह घटना मध्यप्रदेश प्रदेश के जबलपुर जिले के गोहलपुर थाना क्षेत्र के मछली मार्केट की है। ईद-ए- मिलादुन्नबी के मौके पर जबलपुर स्थित कुछ स्थानीय लोग प्रशासन द्वारा तय किये रास्ते का उल्लंघन कर रहे थे, जिसके बाद पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। 

वायरल वीडियो पर ज़्यादा जानकारी के लिए हमने जबलपुर पुलिस कंट्रोल रूम में संपर्क किया। बातचीत के दौरान पुष्टि हुई कि वायरल वीडियो जबलपुर का है, जहाँ ईद-ए- मिलादुन्नबी के मौके पर यह घटना घटी थी।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो जाता है कि वायरल हो रहा वीडियो मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले का है ना कि उत्तर प्रदेश का। वीडियो में दिख रहे जवान सेना के जवान नहीं हैं, वह मध्यप्रदेश पुलिस के जवान हैं। वायरल वीडियो को उत्तर प्रदेश का बताकर सोशल मीडिया पर भ्रामक दावा शेयर किया गया है। 

Result: Misleading 

Source 

Media Reports

Google Map 

YouTube

Police Verification

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular