शनिवार, दिसम्बर 10, 2022
शनिवार, दिसम्बर 10, 2022

होमFact CheckViralWhatsApp की नई गाइडलाइंस को लेकर एक बार फिर वायरल हुआ फर्ज़ी...

WhatsApp की नई गाइडलाइंस को लेकर एक बार फिर वायरल हुआ फर्ज़ी दावा

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूज़र्स में एक विवाद पैदा हो गया है। नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर अलग-अलग दावे इन दिनों वायरल हो रहे हैं। ऐसे में एक मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें व्हाट्सएप वीडियो और ऑडियो कॉल को लेकर दावा किया जा रहा है।

वायरल हो रहा दावा:

  1. सभी कॉल अब रिकॉर्ड होगी।
  2. सभी कॉल रिकॉर्डिंग्स सेव हो जाएंगी।
  3. व्हाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अब नज़र रखी जाएगी।
  4. आपकी डिवाइस मंत्रालय प्रणाली से कनेक्ट हो जाएगी।
  5. इस बात का ध्यान जरूर रखना कि आप किसी को भी कोई गलत मैसेज नहीं भेजे।
  6. अपने भाई-बहनों, रिश्तेदारों और दोस्तों को बताएं की इस चीज़ का ध्यान रखें और सोशल मीडिया का कम इस्तेमाल करें।
  7.  सरकार या प्रधानमंत्री के खिलाफ कोई वीडियो या उनके खिलाफ पोस्ट नहीं भेजें।
  8. इस समय किसी भी राजनीतिक या धार्मिक मुद्दे पर बुरा मैसेज लिखना एक अपराध है।
  9. पुलिस एक अधिसूचना जारी करेगी फिर साइबर क्राइम द्वारा मुकदमा चलाया जाएगा।
  10.   ग्रुप के सभी लोग इस मुद्दे पर जरूर विचार करें।
  11.  इस बात का जरूर ध्यान रखना की आप कोई भी गलत मैसेज नहीं भेजे और सबको बताएं कि इस बात का ध्यान रखें।

जरूरी जानकारी सभी व्हाट्सएप ग्रुप के लोगों के लिए।

  • एक टिक का मतसब मैसेज सैंड हो गया है।
  • दो टिक का मतलब मैसेज पहुंच गया है।
  • दो नीले टिक का मतलब मैसेज पढ़ लिया गया है।
  • तीन नीले टिक का मतलब सरकार ने मैसेज पर ध्यान दे दिया है।
  • दो नीले और एक लाल टिक का मतलब सरकार आपके खिलाफ एक्शन ले सकती है।
  • तीन लाल टिक का मतलब सरकार ने आपके खिलाफ एक्शन लेना शुरु कर दिया है और आपको कोर्ट से समन आएगा।
  • एक जिम्मेदार नागरिक बनकर इस मैसेज को अपने सभी रिश्तेदार और दोस्तों के पास भेजें।
WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर वायरल हुआ फर्ज़ी दावा

Fact Check/Verification

WhatsApp की नई पॉलिसी को लेकर वायरल हो रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Keywords Search की मदद से खंगालने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर वायरल हुआ फर्ज़ी दावा

पड़ताल जारी रखते हुए हमने WhatsApp की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। पड़ताल के दौरान हमें वहां भी वायरल दावे से संबंधित इस तरह की कोई जानकारी नहीं मिली।

व्हाट्सएप की वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक सभी मैसेज end to end encryption के तहत सुरक्षित होते हैं।

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर वायरल हुआ फर्ज़ी दावा

अधिक खोजने पर हमने पाया कि व्हाट्सएप ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर बताया हुआ है कि आप कैसे जान सकते हैं कि यह मैसेज फर्ज़ी (Hoax) है।

WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर वायरल हुआ फर्ज़ी दावा

ट्विटर खंगालने पर हमें PIB Fact Check द्वारा किए गया ट्वीट मिला। इस ट्वीट के ज़रिए बताया गया है कि व्हाट्सएप पर सरकार का हवाले देते कुछ मैसेज वायरल हो रहे हैं उन सभी फर्ज़ी मैसेज से बचें।

क्या भारत सरकार व्हाट्सएप मैसेज को ट्रैक कर रही है?

वहीं दूसरी ओर व्हाट्सएप पर मैसेज भोजने को लेकर एक दावा किया जा रहा है कि भारत सरकार आपके हर एक मैसेज को ट्रैक कर रही है। इस दावे की पड़ताल करने पर हमने इसे भी फर्ज़ी पाया है।

PIB Fact Check द्वारा जारी किए गए ट्वीट में बताया गया है कि व्हाट्सएप मैसेज टिक को लेकर फर्ज़ी दावा किया जा रहा है। सरकार द्वारा इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया गया है।

Conclusion

WhatsApp पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि व्हाट्सएप न्यू पॉलिसी को लेकर फर्ज़ी दावा किया जा रहा है। व्हाट्सएप पर वीडियो और ऑडियो कॉल को रिकॉर्ड नहीं किया जा रहा है। इसके साथ ही भारत सरकार द्वारा भी मैसेज ट्रैक नहीं किए जा रहे हैं।

Result: False


Our Sources

WhatsApp https://www.whatsapp.com/?lang=en

Twitter https://twitter.com/PIBFactCheck/status/1242402950095360000

Twitter https://twitter.com/PIBFactCheck/status/1247473384293715971


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular