बुधवार, अक्टूबर 27, 2021
बुधवार, अक्टूबर 27, 2021
होमहिंदीओवैसी ने नहीं मनाया कमलेश तिवारी की मौत का जश्न, सुदर्शन न्यूज़...

ओवैसी ने नहीं मनाया कमलेश तिवारी की मौत का जश्न, सुदर्शन न्यूज़ ने गलत दावे के साथ चलाया वीडियो

Claim

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कमलेश तिवारी के मौत के बाद डांस कर मनाया जश्न। सुदर्शन न्यूज़ के संस्थापक सुरेश चव्हाणके ने प्रधानमंत्री मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को टैग करते हुए लिखा है कि “चोरों और आतंकियो की मौत का मातम मनाने वाला ओवैसी #कमलेश_तिवारी के बलिदान के बाद झूम कर नाचा।

 

 

 

Verification

अक्सर विवादित बयानों की वजह से सुर्ख़ियों में रहने वाले सुदर्शन न्यूज़ के संस्थापक एवं मुख्य संपादक सुरेश चव्हाणके ने असदुद्दीन ओवैसी के डांस का एक वीडियो शेयर करते हुए यह दावा किया है कि ओवैसी लखनऊ में हिन्दू समाज नेता कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मानते हुए डांस कर रहे थे. यह दावा सोशल मीडिया पर हजारों लोगों द्वारा लाइक और शेयर किया गया है.

 

सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है दावा

 

इस खबर को ना सिर्फ सुरेश चव्हाणके बल्कि इसी दावे के साथ कई अन्य यूज़र्स ने भी शेयर किया है. ट्विटर पर यह दावा किस तरह फैल रहा है यह इस लिंक पर जाकर देखा जा सकता है. इतना ही नहीं ट्विटर के अलावा फेसबुक पर भी यह दावा काफी तेजी से वायरल हो रहा है. आपको बता दें कि सुदर्शन न्यूज़ के आधिकारिक फेसबुक पेज पर भी यह दावा शेयर किया गया था जिसे बाद में डिलीट कर दिया गया.

 

Log In or Sign Up to View

See posts, photos and more on Facebook.

 

 

 

क्या सच में ओवैसी ने किया डांस?

 

अब इसके बाद हमने ओवैसी के डांस के बारे में अपनी पड़ताल शुरू की. इसके लिए हमने “aimim chief performs a dance step” कीवर्ड की सहायता से गूगल सर्च किया. जिसके  बाद हमें उनके डांस से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ मिली. 

 

 

सर्च परिणामों में हमें ETV Andhra Pradesh द्वारा यूट्यूब पर अपलोड किया गया एक वीडियो मिला जिसमें यह बताया गया है कि ओवैसी ने औरंगाबाद में एक कार्यक्रम के अंत में डांस किया. यह वीडियो ETV Andhra Pradesh के यूट्यूब चैनल पर 18 अक्टूबर 2019 को अपलोड किया गया है.

 

 

ओवैसी ने नहीं किया डांस, स्पष्टीकरण देते हुए कहा पार्टी का चुनाव चिन्ह ‘पतंग’ उड़ाने का अभिनय कर रहा था

 

इन्हीं सर्च परिणामों में से India Today पर प्रकाशित एक खबर के माध्यम से हमें यह भी पता चला कि ओवैसी ने वीडियो में डांस करने को अफवाह बताते हुए स्पष्ट किया है कि वह डांस नहीं कर रहे थे बल्कि अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह यानि पतंग उड़ाने का अभिनय कर रहे थे. उन्होंने यह भी बताया कि कैसे  मीडिया ने उनकी सांकेतिक भाषा का गलत अर्थ निकालकर एक भ्रामक दावा फैला दिया. इस संबंध में थोड़ी और पड़ताल के बाद हमें ओवैसी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से रीट्वीट किया गया ANI में संपादक स्मिता प्रकाश का एक ट्वीट मिला जिसमे यह बताया गया है कि ओवैसी डांस नहीं कर रहे थे बल्कि अपनी पार्टी के चुनाव चिन्ह पतंग को सांकेतिक रूप से प्रदर्शित कर रहे थे. ओवैसी ने अपने स्पष्टीकरण को प्रकाशित करने वाले अन्य मीडिया संस्थानों के भी ट्वीट्स को रीट्वीट किया है.

 

क्या कमलेश तिवारी की हत्या से ओवैसी के डांस का है कोई संबंध?

 

अब यह तो साबित हो चुका था कि ओवैसी ने डांस ही नहीं किया था तो सुदर्शन न्यूज़ के द्वारा कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मनाने वाला दावा तो गलत साबित हो चुका था पर कुछ अन्य तथ्यों की तलाश में हमने अपनी पड़ताल जारी रखी. अपनी पड़ताल के इस आखिरी चरण में हमारा मकसद ओवैसी के डांस और कमलेश तिवारी की हत्या के बीच के संबंध को समझना था.  इसके साथ साथ हमने यह भी जानने का प्रयास किया कि कमलेश तिवारी की हत्या कब हुई थी. हमें Live Hindustan में प्रकाशित कमलेश तिवारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से संबंधित लेख से कमलेश तिवारी की हत्या के बारे में पता चला. हमने यह ढूंढने का प्रयास किया कि ओवैसी के डांस का वीडियो सोशल मीडिया पर पहली बार कब वायरल हुआ था. यह जानने के लिए हमने गूगल पर “Owaisi dancing” कीवर्ड के साथ सर्च परिणामों को 16 से 17 अक्टूबर के बीच सीमित कर सर्च किया.

 

 

ओवैसी ने 17 अक्टूबर को किया डांस जबकि 18 अक्टूबर को हुई थी कमलेश तिवारी की हत्या

 

सर्च परिणामों में हमें सबसे पहले ANI का ट्वीट मिला जिसमे यह साफ़-साफ़ बताया गया है कि ओवैसी 17 अक्टूबर को डांस कर रहे थे जबकि कमलेश तिवारी की हत्या 18 अक्टूबर को हुई थी. 

 

 

ओवैसी पहले भी कर चुके हैं पतंग उड़ाने का अभिनय

 

आपको बता दें कि ओवैसी ने पार्टी समर्थकों के आग्रह पर 16 अक्टूबर को भी अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह यानि पतंग उड़ाने का सांकेतिक प्रदर्शन किया था जिसे एक यूट्यूब चैनल ने अपलोड किया है. 

 

 

हमारी पड़ताल में यह साबित हो गया कि ओवैसी ने कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मनाने के लिए डांस नहीं किया था.

 

Tools Used

  • Google Search
  • Twitter Advanced Search
  • YouTube Search
  • InVid

 

Result: Misleading

 

(अगर आपको इस लेख में कोई गलती नज़र आती है या आपके पास ऐसी कोई जानकारी है जो आपको लगता है सही नहीं है तो हमें ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

The reason why he chose to be a part of the Newschecker team lies somewhere between his passion and desire to surface the truth. The inception of social networking sites, misleading information, and tilted facts worry him. So, here he is ready to debunk any such fake story or rumor.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular