गुरूवार, सितम्बर 29, 2022
गुरूवार, सितम्बर 29, 2022

होमहिंदीवीडियो में दिख रही महिला नहीं हैं डॉ दिशा, वायरल हुआ भ्रामक...

वीडियो में दिख रही महिला नहीं हैं डॉ दिशा, वायरल हुआ भ्रामक दावा

Claim

हैदराबाद कांड : दिव्या रेड्डी का देवलोकगमन एक डॉ का अंत नही बल्कि शासन द्वारा पुरस्कृत एक वेटेरनरी साइंटिस्ट, रिसर्चर का हवस की भेट चढ़ जाना है ये दुनिया के लिए महान क्षति है आपको नही लगता ये सिर्फ हवश का खेल नही? कोई साजिश की बू है जो एनकाउन्टर द्वारा छुपा दी गई।

 
 
 
Verification- 
 
हैदराबाद में हुए वेटेनरी डॉक्टर के साथ हादसे की खबर ने पूरे देश को हिला के रख दिया था। हादसे की खबर ने लोगों की भावनाओं को काफी ठेस पहुँचाई थी। पूरे देश में इसका भारी विरोध भी हुआ था। घटना के प्रति लोगों की भावुकता को सोशल मीडिया पर साफ़ देखा जा सकता है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में एक महिला को देशी गाय पर भाषण देते हुए देखा जा सकता है। जहां पोस्ट शेयर करने वाले यूजर का दावा है कि डॉक्टर ‘दिशा’ (बदला हुआ नाम ) एक साइंटिस्ट और रिसर्चर थीं। जिन्हें भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत भी किया गया था। 
 
हमें वीडियो में दिख रही महिला के चेहरे का आकार दिशा (बदला हुआ नाम) के चेहरे से मेल खाता हुआ नहीं प्राप्त हुआ इसलिए वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने अपनी पड़ताल आरम्भ की। इस दौरान हमने पोस्ट में दिए गए नाम ‘दिव्या रेड्डी’ से गूगल पर खोजा। जहां सबसे पहले यूट्यूब के एक वीडियो में वायरल वीडियो वाली महिला जैसी एक महिला का वीडियो प्राप्त हुआ।
 
 
 
 
 
 
इसके बाद हमने गूगल पर ‘Allola Reddy recieving award’ नाम से सर्च किया इस दौरान हमें यूट्यूब पर उस पूरे वाक़या का वीडियो प्राप्त हुआ।
 
 
 
 
वीडियो को देखने पर पता चला कि यह ‘Allola Divya Reddy’ वो वेटेनरी डॉक्टर नहीं जिनके साथ हैदराबाद में घटना घटी थी। बल्कि हमने उनके बारे में खोजा तो पता चला कि दिव्या रेड्डी kilmom नामक संस्था की संस्थापक है। जो गाय के दूध के उत्पादन को सुधार करने पर काम करती हैं।
 

Allola Divya Reddy gets Gopal Ratna 2018 Award for Klimom

Awarded on the World Milk Day Allola Divya Reddy, Founder of Klimom, has been awarded the prestigious Gopal Ratna 2018 Award from the Government of India for her extraordinary work in the field of rearing indigenous Gir cows and following the best management practices to improve their milk production.

 
 
 
Tools Used 
 
  • Google Search 
  • Youtube Search 
 
Result- Misleading 

 (किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें ई-मेल करें: [email protected])

Nupendra Singh
Nupendra Singh
A rapid increase in the rate of fake news and its ill effect on society encouraged Nupendra to work as a fact-checker. He believes one should always check the facts before sharing any information with others. He did his Masters in Journalism & Mass Communication from Lucknow University.
Nupendra Singh
Nupendra Singh
A rapid increase in the rate of fake news and its ill effect on society encouraged Nupendra to work as a fact-checker. He believes one should always check the facts before sharing any information with others. He did his Masters in Journalism & Mass Communication from Lucknow University.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular