मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

होमहिंदीआंध्र प्रदेश की खराब हो चुकी '108' एम्बुलेंस की पुरानी तस्वीरों को...

आंध्र प्रदेश की खराब हो चुकी ‘108’ एम्बुलेंस की पुरानी तस्वीरों को यूपी का बताकर किया गया शेयर

Claim:

यह घटना किस जिले की है मालूम नहीं लेकिन है बहुत निराशजनक। 

Verification:

ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर हो रही है। वायरल तस्वीर में देखा जा सकता है कि कई सारी जंग लगी हुई ऐंबुलेंस खड़ी हैं। ट्विटर पर वायरल तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि मालूम तो नहीं है कि यह घटना कहां की है लेकिन है बहुत निराशजनक।

 

Google Reverse Image Search करने पर हमने पाया कि 3 अक्टूबर, 2018 को सबसे पहले कांग्रेस नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए वायरल तस्वीर को शेयर किया था। 

देखा जा सकता है कि दिग्विजय सिंह के ट्वीट को 643 लोगों द्वारा शेयर किया था और हज़ारों बार लाइक भी किया गया था।    

3 अक्टूबर, 2018 को वायरल तस्वीर को फेसबुक और ट्विटर पर कई यूजर्स द्वारा शेयर किया गया था। 

अलग-अलग टूल्स और कीवर्ड्स की मदद से हमने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही जंग लगी एम्बुलेंस की तस्वीर को खंगाला। पड़ताल के दौरान हमने वायरल हो रही तस्वीर को 1 साल पुराना पाया। पड़ताल में हमें एक तेलगू समाचार पोर्टल Sakshi.com का एक लेख मिला। लेख से हमने जाना कि पोर्टल ने एम्बुलेंस की जंग लगी तस्वीर को 22 सितंबर को शेयर किया था। 

साथ ही देखा जा सकता है कि तस्वीर के साथ कैंप्शन भी शेयर किया गया था।

ఆపత్కాల వరదాయిని 108 అటకెక్కింది..! (ఫొటో: కిశోర్‌, విజయవాడ) जिसका का हिंदी अनुवाद कुछ यूं निकला। 108 आपातकालीन की बाढ़। (तस्वीर: किशोर, विजयवाड़ा)

इसके साथ ही वाहन की छत पर भी तेलगू में लिखा हुआ है।

Zoom करने पर तस्वीर में एम्बुलेंस पर ‘Government of Andhra Pradesh’यानी ‘आंध्र प्रदेश सरकार’ लिखा हुआ देखा जा सकता है ।  

हमारी पड़ताल में हमने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही जंग लगी एम्बुलेंस की तस्वीर को 1 साल पुराना यानि 22 सितंबर 2018 का पाया है। तेलगू समाचार पोर्टल की मदद से हमने वायरल तस्वीर को आंध्र प्रदेश का पाया है। लोगों को भ्रमित करने के लिए इस तस्वीर को उत्तर प्रदेश का बताकर शेयर किया जा रहा। 

Tools Used:

  • Google Reverse Image Search
  • Google Keywords Search 

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular