रविवार, अक्टूबर 2, 2022
रविवार, अक्टूबर 2, 2022

होमहिंदीअमेज़न जंगल की नहीं भारत के जबलपुर की है ये तस्वीर

अमेज़न जंगल की नहीं भारत के जबलपुर की है ये तस्वीर

Claim

ब्राजील के अमेजन जंगल में लगी भीषण आग से सबसे ज्यादा प्रभावित जानवर हुए हैं और ये इंसानों की देन है

(@soypreme) August 22, 2019

Verification

अमेजन जंगल में लगी आग पर काबू पाने की कोशिशें जारी हैं लेकिन आग को लेकर फैलाई जा रही फर्जी तस्वीरें लगातार सोशल मीडिया में शेयर की जा रही हैं।


Mother Monkey crying death his baby monkey in Amazon Forest Fire

வருண பகவானே விரைவாக சென்று பாதி உயிர் மற்றும் வனத்தை காத்திடு!! #savetheamazon pic.twitter.com/GJFMNX41fP

— Aathreya Hari MSDIAN™ᵃᵃᵖᵖᵃᵃⁿ (@hari_tweetz) August 23, 2019

इंसान मंगल को पृथ्वी जैसा बनाने जा रहे हैं और पृथ्वी जलकर शुक्र हुई जा रही है #अमेजन pic.twitter.com/StnaudgC51

— Mishra G (@iamvivekarya) August 28, 2019

अमेजन को बचा लो,
दोबारा नहीं उगेगा ये जंगल ! #SaveTheAmazon pic.twitter.com/m0UNRzs1n6

— Ramprasad Baiplawat …@आदिवासी (@Rampras54787291) August 25, 2019

इन तस्वीरों को साझा करते लोगों का दावा है कि अमेजन में लगी आग के बाद जानवरों का जो हाल हुआ है वो हम इंसानों की वजह से हुआ है। हालांकि इनमें से कोई भी तस्वीर अमेजन जंगल में लगी आग की नहीं है। कुछ तस्वीरे फोटोशॉप पर एडिट की गई हैं तो कई किसी दूसरी घटना की है।

जो तस्वीर सबसे ज्यादा शेयर की जा रही है उसमें एक बंदर अपने बच्चे को पकड़ कर आसमान की तरफ देख रहा है, तस्वीर को देखकर लगता है जैसे बंदर रो रहा है।

दरअसल ये तस्वीर भारत के जबलपुर की है। 2 साल पुरानी इस तस्वीर को अविनाश लोधी नाम के फोटोग्राफर ने खींचा था। The Telegraph  को अविनाश ने बताया कि ये तस्वीर उनके करियर की सबसे बेहतरीन तस्वीरों में से एक है।

अपने बेहोश बच्चे को उठाने की बंदर की कोशिश को अविनाश ने अपने कैमरे में कैद कर लिया हालांकि जल्द ही वो होश में भी गया था लेकिन ये तस्वीर वायरल हो गई।

Tools Used

  • TinEye
  • Google Search

Result: Misleading

Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.
Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular