मंगलवार, सितम्बर 27, 2022
मंगलवार, सितम्बर 27, 2022

होमहिंदीWeekend Wrap: Rahul Gandhi ने कहा 'Rape In India', वकीलों को मिली...

Weekend Wrap: Rahul Gandhi ने कहा ‘Rape In India’, वकीलों को मिली टोल टैक्स से छूट, पढ़ें ऐसी ही कई फेक ख़बरें

यहाँ पढ़ें इस सप्ताह की सभी गरमा-गर्म फेक खबरों का एक साथ संक्षिप्त वर्णन:

 

ट्विटर पर एक पोस्ट में एक महिला और युवती के साथ हाथापाई कर युवती को जबरन अपने साथ ले जाते हुए कुछ युवकों का वीडियो पोस्ट किया गया। इस दावे के साथ किराजस्थान में ऐसे खुलेआम गरीब औरतों का मुस्लिम समुदाय के युवक रेप करने की मानसिकता से दिन-दहाड़ें अपहरण कर रहें हैं। The Sun नामक वेबसाइट पर साल 2017 को प्रकाशित एक लेख के मुताबिक वीडियो जोधपुर के कालू गांव से है जहां युवती के पिता अहमद खान द्वारा उसकी शादी छोटी उम्र में ही (वीडियो में मारपीट कर रहे) शौकत के साथ करवा दी थी। लेकिन युवती की मां उसे 18 साल का होने तक अपने साथ ही रखना चाहती थी इसलिए शौकत उसे जबरन ले जाने की कोशिश कर रहा था। राजस्थान पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर कोर्ट के हवाले कर दिया था, जिसके बाद मामले पर पूरी न्यायिक प्रक्रिया को भी निभाया गया था।  
सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हुआ जिसमें एक महिला देसी गाय पर भाषण दे रही थी। पोस्ट शेयर करने वाले यूज़र ने दावा किया कि वीडियो में दिखने वाली महिला हैदराबाद की वेटेनरी डॉक्टर हैं जिनकी रेप के बाद हत्या कर दी गई थी जबकि वीडियो में दिखने वाली महिला का नाम ‘अलोला रेड्डी’बताया गया है।   
इसके उपरान्त अलोला रेड्डी के बारे में खोजने पर प्राप्त एक लेख से पता चला कि वो  kilmom नामक संस्था की संस्थापक है। जो गाय दूध के उत्पादन को सुधार करने पर काम करती हैं।
ट्विटर पर एक यूज़र ने अपने पोस्ट में रोती हुई एक बच्ची का वीडियो शेयर कर दावा किया कि बच्ची मंगलौर में तमिल भिखारियों के एक समूह के साथ मिली है, जो अपने माँ-बाप से पिछड़ गयी है। इसी दावे के साथ कुछ समय पहले एक दूसरी बच्ची की तस्वीर शेयर की गई थी जिसका फैक्ट चेक Newschecker.in ने किया था।

Newschecker ने पोस्ट में दिए गए नंबर पर जब संपर्क किया को पता चला कि बच्ची 2018 में मध्य प्रदेश के मोहन नगर में लापता हुई थी जिसे कुछ दिन बाद उसके माता-पिता तक पहुंचा दिया गया था। इस वीडियो पर गाज़ियाबाद पुलिस ने भी जवाब देते हुए बताया था कि बच्ची अपने परिजनों के साथ है।   

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट बड़ी तेजी से वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया गया है कि निर्भया मामले के दोषियों के पक्ष में दर्ज हुई दया याचिका को सर्वोच्च न्यायलय ने ख़ारिज करते हुए उन्हें 16 दिसंबर 2019 की सुबह को फांसी देने का फैसला सुनाया है। लेकिन मामले के एक दोषी ने सर्वोच्च न्यायलय में पुनः विचार के लिए दया याचिका दायर की है जिसकी सुनवाई 17 दिसंबर को होनी है। ऐसे में दोषियों को सज़ा 16 दिसंबर को कैसे दी जा सकती है?
पिछले दोनों वकीलों और डॉक्टरों के नेशनल हाइवे पर टोल टैक्स देने से छूट मांगने को लेकर खबर आई थी। जिसके बाद सोशल मीडियो पर एक सरकारी पत्र शेयर किया गया। ये पत्र 3 दिसंबर, 2019 को सड़क परिवहन एवं राजमर्ग मंत्री के निजी सचिव संकेत भोंडवे द्वारा लिखा गया है। पत्र के वायरल होने के बाद NHAI द्वारा यह साफ कर दिया गया है कि राष्ट्रीय राज्यमार्ग पर वकीलों को टोल टैक्स पर कोई छुटकारा नहीं मिला है। यानि संकेत भोंडवे ने चिट्ठी लिखकर ये बताया था कि NHAI द्वारा वकीलों की मांग को नहीं माना गया है। सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे सरकारी पत्र के साथ छेड़छाड़ की गई है। राज्यमार्ग पर वकीलों को टोल टैक्स से किसी भी प्रकार की छूट नहीं मिली है।
संसद में महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने 13 दिसंबर को लोकसभा में भाषण देते वक्त कांग्रेस सांसद राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए कहा कि राहुल गांधी ने एक चुनावी रैली के दौरान महिलाओं का बलात्कार करने का आह्वान किया है। 
राहुल गांधी ने मंच से पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए देश में बढ़ रहे बलात्कार के मामलों की बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि पीएम ‘Make in India’ लेकर आए लेकिन अब आप जहां भी देखो वहां है ‘Rape in India’

फेक ख़बरों और तस्वीरों को पहचानना बेहद आसान है, जरूरत है तो बस थोड़ा-सा जागरुक रहने की। फेक न्यूज से लड़ने के लिए हमारा साथ दें। Newschecker सोशल मीडिया पर भी मौजूद हैं, फेक न्यूज़ से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए हमें टैग करें।

फेसबुक के लिए: Newschecker @Facebook

ट्विटर के लिए: Newschecker @Twitter

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular