Friday, June 14, 2024
Friday, June 14, 2024

Yearly Archives: 2022

WhatsApp पर कोरोना से जुड़ल जानकारी शेयर कईले पर नाही होई जेल, फर्जी दावा एक बार फिर हो रहल बा वायरल

पिछला कुछ दिन में भारत समेत कई देशन में कोरोना के मरीजन के संख्या में बढ़ोत्तरी देखे के मिलल बा. कोरोना के प्रकोप बढ़ले के साथ-साथ एके लेके शेयर कईल जा रहल भ्रामक जानकारी में भी बढ़ोत्तरी भईल बा. एही बीच कई इंटरनेट यूजर्स द्वारा ई दावा कईल जात बा कि WhatsApp पर कोरोना के बारे में कवनों भी जानकारी शेयर कईले पर IT Act के तहत कार्रवाई होई.

केंद्र सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता दिहले के नाम पर वायरल भईल फर्जी दावा

प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा बेरोजगार नौजवानन के हर महीना 6000 रूपया दिहले के नाम पर शेयर कईल जा रहल ई दावा पूर्व में भी कई बार शेयर कईल गईल बा. Newschecker द्वारा 21 मई, 2021 के वायरल दावा के पड़ताल कईल गईल रहल. अपने पड़ताल के दौरान हमनी के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आए वाला PIB (प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो) के फैक्ट चेक इकाई PIB Fact Check द्वारा 27 जनवरी, 2021 के शेयर कईल गईल एगो ट्वीट प्राप्त भईल. PIB Fact Check अपने ट्वीट में ए दावा के फर्जी बतवले बा.

24 घंटा खातिर सिम कार्ड बंद भईले के नाम पर वायरल हो रहल बानी भ्रामक दावा

केंद्र सरकार द्वारा नया नियम जारी कइके देश में सारा सिम कार्ड 24 घंटा खातिर बंद कईले के आदेश दिहले के नाम पर शेयर कईल जा रहल ई दावा के पड़ताल Newshecker द्वारा हिंदी भाषा में कईल गईल बा.

दुल्हन द्वारा शादी के मंडप में गुटका खाके बईठल दूल्हा के थप्पड़ मरले के नाम पर वायरल भइल स्क्रिप्टेड वीडियो

उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखण्ड जईसन कई प्रदेशन में गुटका (गुटखा या Gutkha) खाईल बहुत आम बात है. गुटका से कैंसर जईसन गंभीर बीमारी होईले के खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाला, एकरे बावजूद भी लोग तम्बाकू के सेवन नाही छोड़ेले. हिंदी बोले वाला प्रदेशन में धुआं रहित तम्बाकू (गुटखा, खैनी, पान, दोहरा आदि) के प्रचलन सिगरेट आदि से बहुत ज्यादा बा. विश्व स्वास्थय संगठन (WHO) के एगो रिपोर्ट के अनुसार भारत में करीब 26.7 करोड़ लोग तम्बाकू के सेवन करेले और ऐसे हर साल लगभग 13.5 लाख लोगन के मौत हो जाला.

केदारनाथ मंदिर के परिक्रमा करे वाला इ व्यक्ति नरेंद्र मोदी नईखन, भ्रामक दावा वायरल हो रहल बा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कई ठो पुरान तस्वीर और वीडियो आए दिन सोशल मीडिया पर होत रहेला. कभी प्रधानमंत्री द्वारा इमरजेंसी के दौर में भेष बदलकर घुमले के तस्वीर वायरल होला, ते कभी उनके द्वारा ग्रामीणन से मिलले के तस्वीर वायरल होला. भारत में कैमरा और टीवी वगैरह के इस्तेमाल पिछले 2 दशक में ढेर हो गईल बा लेकिन ओकरे पहिले ई सब इलेक्ट्रॉनिक समान कुछ चुनिंदा घरे में ही मौजूद रहे, एही वजह से कई बार सोशल मीडिया यूजर्स केहू दुसरे के तस्वीर या वीडियो के भी प्रधानमंत्री के बताके शेयर कई देने.

केंद्र सरकार द्वारा स्कूली किताबन पर GST लगवले के नाम पर शेयर कईल गईल फर्जी दावा

केंद्र सरकार द्वारा स्कूली किताबन पर भी GST लगवले के नाम पर शेयर कईल जा रहल ई दावा पहिले भी वायरल हो चुकल बा. Newschecker द्वारा 25 सितंबर, 2020 और 11 जुलाई, 2022 के एकर पड़ताल कईल गईल रहल.

क्या दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल गुजरात की जनता के कुचले के बात कईले? फर्जी बानी ई दावा

भाजपा नेता प्रशांत पटेल सोशल मीडिया पर एगो वीडियो शेयर कइके दावा कईले कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कहिन कि विरोध कईला पर गुजरात की जनता के कुचल दिहल जाई।

क्या सरकार द्वारा इंटरनेट यूजर्स के डेटा पर नजर रखल जात बा?

सरकार द्वारा इंटरनेट यूजर्स के डेटा पर नजर रखले के नाम पर शेयर कईल जा रहल ई दावा असल में पहिले भी कई बार वायरल हो चुकल बा. Newschecker द्वारा 14 नवंबर, 2019, 23 जनवरी, 2021 तथा 6 जुलाई, 2022 के ए दावा के पड़ताल कईल गईल रहल. हमनी के पहिले के पड़ताल के दौरान मिलल जानकारी के अनुसार WhatsApp पर मैसेज भेजले या प्राप्त कईले के ए प्रक्रिया में कुल तीन तरह के चेक मार्क (Check Mark या सही का निशान) के इस्तेमाल होला.

कोल्ड ड्रिंक में नहिखे मिलल बा इबोला वायरस से दूषित खून, फर्जी दावा वायरल हो गइल

वायरल दावा के दूसरा हिस्सा में NDTV द्वारा ई खबर चलवले के दावा कईल गईल बा, जबकि हमनी के हिंदी भाषा में भईल पड़ताल के अनुसार NDTV द्वारा ए तरह के कौनो खबर प्रकाशित नाही कईल गईल बा. बता दिहल जा कि Indian Express द्वारा 17 अक्टूबर, 2016 के प्रकाशित एगो लेख में भी ए दावा के जिक्र कइके एक़े गलत बतावल गइल रहल.

का इंदिरा गांधी के निधन पर राजीव गांधी द्वारा इस्लामिक तरीका से शोक व्यक्त कईल गईल रहल? फर्जी बा ई दावा

राजीव गांधी द्वारा इंदिरा गांधी के निधन पर इस्लामिक तरीका से शोक मनवले के नाम पर शेयर कईल जा रहल ए तस्वीर असल में पूर्व में भी वायरल हो चुकल बा, तब Newschecker द्वारा 16 जून, 2022 के ए दावा के पड़ताल कर एकर सच बतावल गईल रहल.

CATEGORIES

ARCHIVES

Most Read