Saturday, July 13, 2024
Saturday, July 13, 2024

का खेत में अईसन कीड़ा आ गईल बा जवने के कटले से तुरंत मौत हो जाता? पढ़ीं सच

भारत के बड़हन जनसंख्या आज भी दैनिक रूप से खेती-बाड़ी के काम में लागल रहे ले. खेती के क्षेत्र में जेतना अधिक दवा बनावल जाता ओही अनुपात में फसल में कीड़ा और बीमारिन के भी बढ़ोत्तरी होत बा. कई बार अईसन खबर सामने आवेला कि खेत में काम करत समय किसानन के सांप या और कवनों जहरीला जानवर काट लेने, जवने से तमाम गरीब किसानन के मौत भी हो जाला. एही क्रम में सोशल मीडिया यूजर्स ई दावा करताने कि खेत में अईसन कीड़ा आ गईल बा जवने के कटले से तुरंत मौत हो जाला.

NEWS

POLITICS

Yogi Adityanath Tipu Sultan

योगी आदित्यनाथ द्वारा टीपू सुल्तान के श्रद्धांजलि दिहले के नाम पर...

सोशल मीडिया यूजर्स के एक धड़ा टीपू सुल्तान के समर्थन में बात करेला ते दूसरा धड़ा उनके विरोध में बात करेला. अधिकतर भाजपा नेता और समर्थक टीपू सुल्तान के आलोचना करेले. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भी कई बार टीपू सुल्तान के आलोचना कईल गईल बा. एकरे अलावा टीपू सुल्तान के समर्थन खातिर कांग्रेस और दूसर दलन के नेता लोगन भी योगी आदित्यनाथ के निशाने पर रहेले.
Udhayanidhi Stalin Anti-Hindi

Fact Check: का तमिलनाडु में भाषायी आधार पर भेदभाव के बढ़ावा...

भारतीय संविधान के अठवां अनुसूची में वर्तमान में कुल 22 तरह के भाषा के जिक्र कईल गईल बा. अगर संख्याबल के बात कईल जा ते हिंदी भारत के सर्वाधिक राज्यन में बोले जाए वाली भाषा है. तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, केरल, पश्चिम बंगाल समेत कई राज्य केंद्र सरकार पर हिंदी थोपले के आरोप लगावेले. पूर्व में कब्बो हिंदी भाषी राज्यन में दूसर भाषा बोले वालन के साथ ते कब्बो दूसर भाषा बोले वाले राज्यन में हिंदी बोले वाला राज्यन के लोगन के साथ भेदभाव के तमाम घटना देखे के मिलल बा. हालांकि राज्य सरकारन के आपसी सूझबूझ और केंद्र के परस्पर सहयोग से ए तरह के घटना ना होखे एकर प्रयास भी कई दशक से चलत बा.

VIRAL

Registration renewal of old vehicles

का 10 साल से पुरान डीजल तथा 15 साल से पुरान पेट्रोल गाड़िन पर...

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) साल 2015 में प्रदूषण से बचाव खातिर दिल्ली में चले वाला 10 साल से पुरान डीजल वाहन तथा 15 साल से पुरान पेट्रोल गाड़िन के पुनः पंजीकरण पर रोक लगा दिहले रहल. प्रदूषण के मात्रा के आधार पर देश में कई जगह पर पुरान गाड़िन पर समय-समय पर प्रतिबंध लगत रहेला. हालांकि ए विषय में अईसन कौनों नियम नईखे जवन पूरे देश में लागू होखे. एही वजह से पुरान गाड़िन के दोबारा रजिस्ट्रेशन के लेके कई तरह के भ्रामक जानकारी वायरल होत रहेला.

दुल्हन द्वारा शादी के मंडप में गुटका खाके बईठल दूल्हा के थप्पड़ मरले के...

उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखण्ड जईसन कई प्रदेशन में गुटका (गुटखा या Gutkha) खाईल बहुत आम बात है. गुटका से कैंसर जईसन गंभीर बीमारी होईले के खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाला, एकरे बावजूद भी लोग तम्बाकू के सेवन नाही छोड़ेले. हिंदी बोले वाला प्रदेशन में धुआं रहित तम्बाकू (गुटखा, खैनी, पान, दोहरा आदि) के प्रचलन सिगरेट आदि से बहुत ज्यादा बा. विश्व स्वास्थय संगठन (WHO) के एगो रिपोर्ट के अनुसार भारत में करीब 26.7 करोड़ लोग तम्बाकू के सेवन करेले और ऐसे हर साल लगभग 13.5 लाख लोगन के मौत हो जाला.

कोल्ड ड्रिंक में नहिखे मिलल बा इबोला वायरस से दूषित खून, फर्जी दावा वायरल...

वायरल दावा के दूसरा हिस्सा में NDTV द्वारा ई खबर चलवले के दावा कईल गईल बा, जबकि हमनी के हिंदी भाषा में भईल पड़ताल के अनुसार NDTV द्वारा ए तरह के कौनो खबर प्रकाशित नाही कईल गईल बा. बता दिहल जा कि Indian Express द्वारा 17 अक्टूबर, 2016 के प्रकाशित एगो लेख में भी ए दावा के जिक्र कइके एक़े गलत बतावल गइल रहल.

RELIGION

केदारनाथ मंदिर के परिक्रमा करे वाला इ व्यक्ति नरेंद्र मोदी नईखन, भ्रामक दावा वायरल...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कई ठो पुरान तस्वीर और वीडियो आए दिन सोशल मीडिया पर होत रहेला. कभी प्रधानमंत्री द्वारा इमरजेंसी के दौर में भेष बदलकर घुमले के तस्वीर वायरल होला, ते कभी उनके द्वारा ग्रामीणन से मिलले के तस्वीर वायरल होला. भारत में कैमरा और टीवी वगैरह के इस्तेमाल पिछले 2 दशक में ढेर हो गईल बा लेकिन ओकरे पहिले ई सब इलेक्ट्रॉनिक समान कुछ चुनिंदा घरे में ही मौजूद रहे, एही वजह से कई बार सोशल मीडिया यूजर्स केहू दुसरे के तस्वीर या वीडियो के भी प्रधानमंत्री के बताके शेयर कई देने.

Fact Check

Science & Technology

COVID-19 Vaccine

DAILY READS

Coronavirus

Most Popular

LATEST ARTICLES

का खेत में अईसन कीड़ा आ गईल बा जवने के कटले से तुरंत मौत हो जाता? पढ़ीं सच

भारत के बड़हन जनसंख्या आज भी दैनिक रूप से खेती-बाड़ी के काम में लागल रहे ले. खेती के क्षेत्र में जेतना अधिक दवा बनावल जाता ओही अनुपात में फसल में कीड़ा और बीमारिन के भी बढ़ोत्तरी होत बा. कई बार अईसन खबर सामने आवेला कि खेत में काम करत समय किसानन के सांप या और कवनों जहरीला जानवर काट लेने, जवने से तमाम गरीब किसानन के मौत भी हो जाला. एही क्रम में सोशल मीडिया यूजर्स ई दावा करताने कि खेत में अईसन कीड़ा आ गईल बा जवने के कटले से तुरंत मौत हो जाला.

योगी आदित्यनाथ द्वारा टीपू सुल्तान के श्रद्धांजलि दिहले के नाम पर शेयर कईल गईल एडिटेड तस्वीर

सोशल मीडिया यूजर्स के एक धड़ा टीपू सुल्तान के समर्थन में बात करेला ते दूसरा धड़ा उनके विरोध में बात करेला. अधिकतर भाजपा नेता और समर्थक टीपू सुल्तान के आलोचना करेले. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भी कई बार टीपू सुल्तान के आलोचना कईल गईल बा. एकरे अलावा टीपू सुल्तान के समर्थन खातिर कांग्रेस और दूसर दलन के नेता लोगन भी योगी आदित्यनाथ के निशाने पर रहेले.

Fact Check: बियर पियले के फायदा के नाम पर वायरल हो रहल ई दावा भ्रामक बा

अल्कोहल आधारित पेय पदार्थन के लोकप्रियता में बढ़ोतरी के साथ-साथ एसे जुड़ल भ्रामक जानकारी में भी वृद्धि देखल गईल बा. उदाहरण खातिर कई लोगन के लगेला कि अल्कोहल आधारित पेय पदार्थन से सेहत बनेला ते वहीं कई लोग एसे कई तरह के बीमारी भईले के भी दावा करेने. बियर पिये वाला भी बहुत सारा लोगन के ई लगेला कि एसे स्वास्थ्य संबंधी कई तरह के फायदा होला.

इंडियन ऑयल द्वारा टंकी फुल ना करवले के नाम पर शेयर कईल जा रहल ई चेतावनी फर्जी बा

देश के कई राज्यन में गर्मी के शुरुआत हो चुकल बा. ठंडी के तुलना में लोग गर्मी में ईंधन आधारित वाहन के अधिक इस्तेमाल करेने. गर्मी के प्रकोप बढ़ले के साथ ऐसे जुड़ल भ्रामक जानकारी में भी बढ़ोत्तरी देखल जाता. एही क्रम में पिछले कई साल से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहल ए दावा के फिर से शेयर कईल जाता. वायरल पोस्ट में ई दावा कईल जाता कि इंडियन ऑयल द्वारा जारी कईल गईल चेतावनी के अनुसार गर्मी में कवनों भी वाहन के टंकी फुल करवले से धमाका हो सकेला.

आम खईले के बाद कोल्ड ड्रिंक पियले से मौत भईले के नाम पर शेयर कईल गईल भ्रामक दावा

सोशल मीडिया और मैसेजिंग ऐप्स पर स्वास्थ्य से जुड़ल तमाम तरह के भ्रामक जानकारी आए दिन वायरल होत रहेला. कई बार लोग केहू करीबी के मैसेज या सोशल मीडिया पोस्ट पढ़िके ओमन बतावल गईल उपचार के भी इस्तेमाल करे लगेने, जवन उनके स्वास्थ्य खातिर काफी नुकसानदेह हो सकेला. Newschecker द्वारा अकसर स्वास्थ्य से जुड़ल भ्रामक जानकारी के पड़ताल कईके ओकर सच बतावल जाला.

ईहां पढ़ीं Google Pay ऐप पर नया घोटाला के नाम पर शेयर कईल जा रहल वायरल दावा के सच

पिछले कुछ साल में UPI के माध्यम से पेमेंट या लेन-देन करे वालन के संख्या में जबरदस्त उछाल आईल बा. पहिले ऑनलाइन पेमेंट के ई सुविधा खाली बड़े शहरन या कस्बन तक सीमित रहल लेकिन इंटरनेट पैक सस्ता भईले और UPI के माध्यम से सुगमता से लेन-देन के वजह से अब ग्रामीण इलाकन में भी एकर प्रयोग तेजी से बढ़ता. टेक्नोलॉजी के तमाम दुष्प्रभावन में से सबसे बड़हन एकर दुरूपयोग बा. जानकारी के आभाव में तमाम यूजर जालसाजी करे वालन के झांसा में फंस के कब्बो रूपया-पईसा के नुकसान सहेने ते कब्बो आपन निजी डेटा जालसाजन के साथ शेयर कई देने.