रविवार, अक्टूबर 2, 2022
रविवार, अक्टूबर 2, 2022

होमCommon Mythक्या मेंढक को छूने से हाथों में मस्से हो जाता हैं?

क्या मेंढक को छूने से हाथों में मस्से हो जाता हैं?

Common Myth

मेंढक हमारी दुनिया में पाए जाने वाले ऐसे जीव हैं जो आगामी मौसम को सबसे पहले भांप लेते हैं। जल और थल पर पाया जाने वाला यह जीव दिखने में जितना अजीब लगता है हकीकत में उससे कहीं अधिक अचंभित करता है। बचपन से हम देखते आ रहे हैं कि पहली बारिश के बाद मेंढक ज्यादा नज़र जाते हैं। आपको बता दें कि यह एक ऐसा जीव है जो मुंह की बजाय चमड़े से पानी पीता है। दरअसल लोग यह भी कहते है कि मेंढक या टोड्स (Toads) को पकड़ने से हाथ में मस्से (Wart) हो जाते हैं। क्या वाकई मेंढक या टोड्स (Toads) को पकड़ने से ऐसा होता है? आज हम इसके बारे में जानेंगे।

Fact

हथेली पर होने वाली स्किन की एक बीमारी को Wart या मस्से कहते हैं जो कि हाथ में छोटे छोटे सफेद दाने जैसे होते हैं। दरअसल ऐसा कहा जाता है कि मेंढक या टोड्स (Toads) दोनों एक ही जैसे होते हैं। लेकिन यह सच नहीं है क्योंकि मेंढक की त्वचा बिल्कुल साफ और मुलायम होती है। जबकि टोड्स (Toads) की त्वचा खुरदुरी और दानेदार होती है। अकसर कहा जाता है कि टोड्स (Toads) को हाथ में पकड़ने से बेबी बूमर्स (Baby Boomers) या सहस्त्राब्दी (Millennial) हो जाते हैं। लेकिन यह केवल लोगों द्वारा फैलाया गया एक भ्रम है। लोग कहते है कि क्योंकि टोड्स (Toads) की त्वचा ऊबड़ खाबड़ होती है तो अगर आप उसको छूओगे तो आपकी त्वचा भी ऐसी हो जाएगी। जैसे-जैसे समय बीतता गया, वैज्ञानिकों ने इस मामले पर रिसर्च किया और पाया कि (Toads) को छूने से मस्सा (Wart) होने के बीच में कोई संबंध नहीं है। यह केवल लोगों द्वारा फैलाया गया भ्रम है। दरअसल मस्से (Wart) एक वायरस की वजह से निकलते हैं जिसका नाम है Papillomavirus or HPV। जबकि HPV लगभग 150 वायरल के समूह का वर्णन करता है जो मानव कोशिकाओं में वृद्धि का कारण बनाते हैं। 

Sources


(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044)

Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.
Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular