सोमवार, अक्टूबर 3, 2022
सोमवार, अक्टूबर 3, 2022

होमCoronavirusकोरोना वायरस को नहीं मार सकता करेले का जूस, सोशल मीडिया में...

कोरोना वायरस को नहीं मार सकता करेले का जूस, सोशल मीडिया में कई भ्रामक दावे वायरल

Claim: 

करेले का जूस पीने से 2 घंटे के अंदर ठीक हो जाएगा कोरोना का वायरस।

जानिए क्या है वायरल दावा:

पूरी दुनिया इस समय वैश्विक महामारी से लड़ रही है। इन दिनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस वायरस से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय बताए जा रहे हैं। ऐसे में शेयरचैट पर एक दावा किया जा रहा है कि, करोना वायरस का इलाज मिल गया है वैज्ञानिकों ने बताया है कि करेले का जूस पीने से करोना वायरस 2 घंटे के अंदर लुप्त हो जाएगा। इस मैसेज को हर भारतीय तक फैला दो। किसी के जीवन की बात है, धन्यवाद बिहार स्वास्थ्य केंद्र, पटना।

Verification:

वैश्विक महामारी घोषित हो चुके (COVID-19) कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार की कोशिशें तेज़ हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बीमारी को लेकर लोगों से अपील की है कि सावधानी बरतें घबराएं नहीं। वहीं मशहूर गायिका कनिका कपूर द्वारा लापरवाही किए जाने का मामला सामने आया है। जिसके बाद कनिका पर लखनऊ के सरोजनी नगर थाने में एफआइआर दर्ज की गई है।

कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है जबकि संक्रमितों के संपर्क में आने वाले 6700 से अधिक लोगों को निगरानी में रखा गया है।

देखा जा सकता है कि शेयरचैट पर वायरल दावे को कई यूजर्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे को खंगाला। सबसे पहले हमने World Health Organization की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। खोज के दौरान हमें वायरल दावे से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली जिससे यह साबित होता हो कि करेले का जूस पीने से घातक कोरोना वायरस के संक्रमण को ठीक किया जा सकता है। कोरना वायरस से बचने के लिए WHO की इन गाइडलाइंस को यहां देखा जा सकता है।

भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग की वेबसाइट पर भी यह जानकारी नहीं दी गई है।

वायरल दावे की तह तक जाने के दौरान हमें Press Information Bureau (PIB) का एक ट्वीट मिला। प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने भी इस दावे का खंडन किया है कि करेले का जूस पीने से वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को ठीक नहीं किया जा सकता है। PIB के ट्वीट को नीचे देखा जा सकता है।

पड़ताल के दौरान तथ्यों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि फेसबुक और शेयरचैट पर वायरल हो रहे दावे में कोई सच्चाई नहीं है। इस दौरान हमने पाया कि कोरोना वायरस (COVID-19) का अभी तक कोई इलाज या टीका नहीं बना है। इससे स्पष्ट होता है कि लोगों को भ्रमित करने के लिए ऐसा दावा किया जा रहा है।

Tools used:

Google Keywords Search

Twitter Search

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular