सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
होमCoronavirusक्या अदरक के पाउडर का सेवन ख़त्म कर सकता है कोरोना संक्रमण?...

क्या अदरक के पाउडर का सेवन ख़त्म कर सकता है कोरोना संक्रमण? अदरक को लेकर वायरल हुआ भ्रामक दावा

Claim- मुंबई के सेवन हिल्स एंड बाला साहब ठाकरे ट्रामा अस्पताल में भर्ती हुए एक परिवार के 3 कोरोना पॉजिटिव सदस्य, सूखे अदरक के पाउडर के रोजाना सेवन से ठीक हो गए। 

जानिए वायरल दावा क्या है- 

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट में  दावा किया जा रहा है कि मुंबई के अस्पतालों में भर्ती होने वाले एक परिवार के 3 कोरोना पॉजिटिव सदस्य, 7 दिन में  आयुर्वेदिक उपचार से ठीक हो गए। दावे में कहा गया है कि आयुर्वेदिक डॉक्टर देवचंद गाला ने मरीजों को सूखा दावे में कहा गया है कि आयुर्वेदिक डॉक्टर देवचंद गाला ने मरीजों को सूखा अदरक पाउडर खाने की सलाह दी थीअदरक पाउडर खाने की सलाह दी थी

Observation of Efficacy of Ginger powder in Covid 19 positive patients.  (Efficacy of GINGER POWDER – Evidence Based Ayurvedic Approach)

Manish K Sagar (48 Yrs), came from Dubai in March with no symptoms of Covid19. His father Kanaiyalal Sagar (73 Yrs) tested Corona Positive on 6th April 2020. He was admitted in Seven Hills Hospital Special Ward.

On 8th April, Manishbhai’s Wife Nishita & Mother Pravinaben also tested Positive. Both were admitted in Seven Hills and Bala Saheb Thakare Trauma Care Hospital General Wards respectively.

Luckily, we came in contact with Dr. Devchand Gala through our relative Dr. Kanubhai Kalsariya, Mahuva Gujarat.

Dr. Devchand Gala advised us to do the following 3 things:

1a. Mix Dry GINGER Powder with Jaggery. Keep this on tongue for 5-10 minutes till it mixes with saliva, then swallow.

OR

1b. Take 1 gm (1/4th of tea-spoon) of Dry GINGER Powder on tongue for 5-10 minutes till it mixes with saliva, then swallow.

  1. Sniff a pinch of Dry GINGER Powder through each nostril 2-times a day and
  2. Take hot water with turmeric powder regularly 3-4 times a day.

All my relatives took Dry GINGER Powder as per Dr. Gala’s suggestion and they started turning Positive reports to Negative.

Following are the results:

  1. Mrs. Nishita started using GINGER powder from 12th of April and her report turned negative on 16th of April. She was discharged on 21st April. Many other patients who were admitted in the hospital before Mrs. Nishita, were still in the hospital. She recovered after 5-days of starting the above suggestion. It means Ginger Powder works well!
  1. Similarly, Kanaiyalal Sagar (admitted on 6th of April) started GINGER powder on 16th April. Within 7-days of starting of ginger powder, his reports turned negative (after 6 consecutive positive reports). He got discharged on 26th April.
  1. Mrs. Pravinaben, who had positive reports, also turned negative after starting the above suggestion.

My Self, Hemal Dhakan, Relative Of Kanayalal Sagar (My Father-In-Law) am thanking to Dr. Devchand Gala & Dr. Kanubhai Kalsariya very very much.

My wish is that this Ayurveda Approach reaches to all Corona Positive as well as Healthy humans.

Please share this real-life experience with our respective PM Sir, government health departments and doctors for Jankalayan of our great India.

Again thanks a lot & koti koti pranam!

( Written in patients words and  shared with their consent )

Verification-

वायरल पोस्ट हमें Whatsaap पर प्राप्त हुआ है। जहां दावा किया जा रहा है कि रोजाना सूखे अदरक के पाउडर का गुड़ के साथ सेवन करने से कोरोना वायरस ठीक  सकता है। 

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। अपनी पड़ताल में हमने सबसे पहले वायरल पोस्ट में दी  गयी जानकारी को गूगल पर खोजना शुरू किया । हमने ‘Corona infected patients in mumbai are treated with ginger powder’ कीवर्ड्स से Google पर खोजा।  

लेकिन प्राप्त परिणामों में हमें कहीं भी वायरल पोस्ट की कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई।

मीडिया रिपोर्टों से उक्त दावे की जानकारी न होने पर हमने वायरल पोस्ट में उपचार की सलाह देने वाले आयुर्वेदिक डॉक्टर देवचंद गाला से संपर्क करने का प्रयास किया। इस दौरान गूगल से मिले डॉ गाला के फ़ोन नंबर पर हमने उनसे संपर्क किया।

फ़ोन पर डॉ देवचंद गाला ने हमें बताया कि उक्त उपचार की सलाह उन्होंने ही उस परिवार के मरीज़ों को दी थी। जिसके बाद रोजाना 7 दिनों तक उपचार का पालन करने पर वह लोग कोरोना से ठीक हुए। वायरल पोस्ट की पुष्टि के लिए हमने डॉक्टर से मरीज़ों के फ़ोन नंबर का अनुरोध किया। इस दौरान उनके द्वारा दिए गए नंबर पर (9920440699)

पर हमने संपर्क कर मामले की पूरी जानकरी प्राप्त करने का प्रयास किया। जहां हमारी वार्तालाप मरीज़ के एक परिजन से हुई उन्होंने हमें बताया कि यह सत्य है कि कोरोना से पीड़ित उनके परिजनों को रोजाना सूखे अदरक का पाउडर और गुड़ का सेवन कराया जाता था। लेकिन उन्होंने ने बताया कि इसके साथ ही साथ पीड़ितों को अस्पताल द्वारा भी कई दवाइयाँ दी जा रही थी तो यह कहना उनके लिए उचित नहीं होगा कि उनके परिजन सिर्फ आयुर्वेदिक के उपचार से ही ठीक हुए। अब चूँकि डॉ गाला उनके पहचान वाले थे तो उन्होंने डॉक्टर के कहने पर यह पोस्ट Whatsaap पर चलाया था। बातचीत के दौरान हमने पीड़ितों के लक्षणों की भी जानकारी हासिल की।  जहां उन्होंने बताया कि उनके परिजनों में सिर्फ गले में खराश, खाँसी और बुखार जैसे ही लक्षण नोटिस किये गए थे।

इसके बाद अब हमने Google पर अदरक पाउडर से होने वाले फ़ायदों की जानकारी प्राप्त करने के लिए खोज की। खोज में हमें NDTV की वेबसाइट पर प्रकाशित लेख से अदरक पाउडर के फायदों की जानकारी मिली।  

लेख के मुताबिक अदरक के पाउडर  गले की खराश, कब्ज , हिचकी और शरीर को डिटॉक्स करने में यह  असरदार हैं।  

खोज के दौरान हमें केंद्र सरकार की वेबसाइट से इस तथ्य की जानकारी प्राप्त हुई की अदरक इंसान के शरीर की इम्युनिटी मजबूत करने में कारगर है।

पड़ताल के दौरान हमने जामनगर यूनिवर्सिटी में आयुर्वेदिक विभाग के प्रिंसिपल रह चुके ‘डॉ हितेश जानी‘ से भी संपर्क कर ’सूखे अदरक के पाउडर से कोरोना वायरस को खत्म करने वाले तथ्य’ की पुष्टि करने का प्रयास किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि अदरक कोरोना वायरस का इलाज नहीं हैं लेकिन अदरक के सेवन से एक व्यक्ति वायरस के संक्रमण तथा उससे होने वाले लक्षणों से बच सकता है।  

कोरोना वायरस का विश्व में अभी तक किसी भी प्रकार का कोई इलाज संभव हो पाया है या नहीं इस तथ्य की जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) की वेबसाइट को खंगाला। 

खोज के दौरान वेबसाइट पर मिली जानकारी के मुताबिक अभी तक किसी भी दवा को कोरोना वायरस के इलाज के लिए प्रमाणित नहीं किया गया है।  इसके साथ ही हमें एक जानकारी यह भी मिली कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सिर्फ नियमित भोजन, व्यायाम और बार-बार हाथ धोने  से ही इससे बचा जा सकता है।  

पड़ताल के दौरान कई टूल्स और कीवर्ड्स का उपयोग करते हुए वायरल दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमें पता चला कि यह सत्य है कि मुंबई में एक ही परिवार के कई कोरोना  मरीजों को सूखे अदरक पाउडर का सेवन कराया जाता था लेकिन यह सत्य नहीं की सूखे अदरक पाउडर के सेवन से ही कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों का इलाज हुआ। विश्व स्वास्थ संगठन के मुताबिक अभी तक इस वायरस का कोई उचित इलाज संभव नहीं हो पाया है।  

Tools Used 

Google Search

Phone verification 

Expert advice 

Result- Misleading  

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Nupendra Singh
A rapid increase in the rate of fake news and its ill effect on society encouraged Nupendra to work as a fact-checker. He believes one should always check the facts before sharing any information with others. He did his Masters in Journalism & Mass Communication from Lucknow University.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular