बुधवार, अक्टूबर 20, 2021
बुधवार, अक्टूबर 20, 2021
होमCoronavirusपत्ता गोभी खाने से नहीं फैलता कोरोना वायरस, सोशल मीडिया में भ्रामक...

पत्ता गोभी खाने से नहीं फैलता कोरोना वायरस, सोशल मीडिया में भ्रामक दावा वायरल

Claim:

पत्ता गोभी की परत में कोरोना वायरस सबसे ज्यादा समय ठहर रहा है।

जानिए क्या है वायरल दावा:

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते दिल्ली समेत कई राज्यों को लॉकडाउन कर दिया गया है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस बीमारी से संबंधित कई तरह के दावे किए जा रहे हैं। ऐसे में शेयरचैट पर एक पोस्ट वायरल हो रही है। वायरल पोस्ट में पत्ता गोभी नहीं खाने की सलाह दी जा रही है। WHO की रिपोर्ट के अनुसार पत्ता गोभी की परत में कोरोना वायरस सबसे ज्यादा समय तक ठहर रहा है। बाकी जगह पर वायरस 9-12 घंटे ठहर रहा है तो वहीं पत्ता गोभी में यह वायरस 30 घंटे से अधिक ठहर रहा है। सभी शहर के लोगों से निवेदन है कि पत्ता गोभी से दूरी बनाए रखें।

जनहित में जारी राजस्थान सरकार। 

Verification:

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 500 हो गई है। पश्चिम बंगाल में इस बीमारी से एक व्यक्ति की मौत हो गई है। देश में इससे मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पंजाब में 31 मार्च तक कर्फ्यू लगा दिया गया है। वहीं दिल्ली में COVID-19 संक्रमित की संख्या 30 पहुंच गई है। भारत में राज्य सरकारों ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है। लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

देखा जा सकता है कि वायरल दावे को फेसबुक और ट्विटर पर कई यूजर्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

https://www.facebook.com/photo.php?fbid=2671640796295602&set=basw.AbqPG6Uo4xO0TEoANbKl6VH0NcVOzvxjNdIUt9eFV7Md7iLbSLiJ8CtB8F_R_HLCssohQAELOe3C836B-H7WQr9cBSGmY4NRTj3zSpIPYYvaQUZz2qgT2e98jC6f69mJytxg7Y8vDAMFsACa5SDCiCBSBAzaTkyV969xtDd0Q012mo47JIm-u6nRyFIJrxIOaEqyWE60nYyZwKsjSxPnKFpfEnsj55WUrNiZypf7lXYVblrxTbmnJsf6oFr5k9JfuclR5kPemJj5EUx_wpo7Pc49hkaXmGlJ-sBhgZ47vk_dnYel_LzXd78UTZ9sz-cScMrBHGI5Al6In4ZUvQBslnON-LW6V4Eb_x-OHOuMYmBjcDLR4MyMmxonZqOoZVNXFjoKhu9ulGf8iECe6A7BSt7P37SNYHLsXjJFb1TEPTOljRxxQbYU4U0JADRCq9SuvaxAnr183HglIWEfD9T4RYncPjJHcRsA345Cr8bCpMupYs_U294IYfh6-vdPXgujTjmZft04Gg_LB_0yxk-a9lcHY5N1L_BTgdAdh4uDn9GjqRVmoE_MMePEZ5jQhHB6080GVLixdc0nMHz1dDUTSonAsp5bJwwCC12DMd6Q0Yx9KnKu1nth8CfQxphPO791XES1pSWbgh2L3JDhxEl8aHa-N9wcM8Xc4AatYsbVXCGLwQq_MRGi_7Gm2whgIqAnkLsEj-X_JeL_1HJiDkpr40WALQvNVPe9qK8I04HdVl7xDKIg46EmyKcjMFZhj6mcDuX_ao8Of1sJa0KcocalGN5n2G-LSG1xX8KPpFopHaGWGxOF2Dy0wjzhnWYfewWeyy5xJJ0xTeQRsF2Y7idP7zj7Ep8j_qWc_MIwzN-ZjtzLkg.2671640796295602.670816620341305.2807258736068483.1561841827303898.2750236425090083.1545956602219031.259951248457948.2294640357508386.2469433253367875&type=1&opaqueCursor=Abo-KAjWhG9sQKRcjk23_3yM8mfkdy8c9vtKRO33d50oF4zkvD1vIQvRLHrPPfZR8EsgiGJc8C2d3Bg_uLHUC4KPsmWpRMyGmrNGKEqje_DKXHUY344xiUi7xnjuIzjBoUtG9mWyPGlOBwndJWjFDbQiD8hFQWf3Azh2uFl2vHp0vIT6Nm1CGK2Z0wa71799x_9h5swI35vTghfwImsITWcEZN0yieENgAwquLuurNk0L_5Rq2woRG7T00SfeZOmGG5c2eMxB1ubmM8kLjyD3RN_gg94mIKbfq3wNrP6F6VDFSp_LxEZjhpPAr-mUJ6ZMIIwxq8wYNfBzZ3tPpkfT1ntgxmDDx0DBKS8YuC2_QOnQZ9Be0FHkA3kBuN7-GPqCbOnGowAtFYrv4z52Xoq8mBheCYwK96fLFaQ2fvxfiCbV1yfrbS6DH4GNIVG4FCkLSyrJybSfajRoe8NPoe0_F0GFbpsJ_oLA5jz46ToCnGkIlstvduHQzHV49CFf4hElq4oywraXQhtH-BTR_EMyu0QZRaHbvBmrn6ox2DQ9cLxxqNow39RclRjdvGde3xOsyqLBi7wB6ICAn25FtAAMA2cN1oTI_Z2vCZuwbXK1oB3Rjkae8_ulb8S13VihEcbxFfyhdwVP31Ief94TpcXQtLNuCDDwTT1bSEvckw-OHCuz3m2Io3ngHoxBv9ih_VFnCM_2v39ina9yAVWaksQ097ZjDIjr3H0XfoQaCvF_u3rGWDKEOCU-lKqD_uWFRH8YaE&theater

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे को हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से खंगाला। खोज के दौरान सबसे पहले हमने World Health Organization की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस के चलते पत्ता गोभी को लेकर इस तरह का कोई दावा नहीं किया है।



वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने Govt of Rajasthan का आधिकारिक ट्विटर हैंडल खंगाला। जांच के दौरान हमें वायरल दावे से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली। लेकिन हमें राजस्थान सरकार द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला जो 21 मार्च को किया गया था। ट्वीट में राज्य सरकार द्वारा कहा गया है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर किसी अनजान source द्वारा कोरोना वायरस से संबंधित आने वाली किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें तथा सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन करें।

https://www.facebook.com/photo.php?fbid=2671640796295602&set=basw.AbqPG6Uo4xO0TEoANbKl6VH0NcVOzvxjNdIUt9eFV7Md7iLbSLiJ8CtB8F_R_HLCssohQAELOe3C836B-H7WQr9cBSGmY4NRTj3zSpIPYYvaQUZz2qgT2e98jC6f69mJytxg7Y8vDAMFsACa5SDCiCBSBAzaTkyV969xtDd0Q012mo47JIm-u6nRyFIJrxIOaEqyWE60nYyZwKsjSxPnKFpfEnsj55WUrNiZypf7lXYVblrxTbmnJsf6oFr5k9JfuclR5kPemJj5EUx_wpo7Pc49hkaXmGlJ-sBhgZ47vk_dnYel_LzXd78UTZ9sz-cScMrBHGI5Al6In4ZUvQBslnON-LW6V4Eb_x-OHOuMYmBjcDLR4MyMmxonZqOoZVNXFjoKhu9ulGf8iECe6A7BSt7P37SNYHLsXjJFb1TEPTOljRxxQbYU4U0JADRCq9SuvaxAnr183HglIWEfD9T4RYncPjJHcRsA345Cr8bCpMupYs_U294IYfh6-vdPXgujTjmZft04Gg_LB_0yxk-a9lcHY5N1L_BTgdAdh4uDn9GjqRVmoE_MMePEZ5jQhHB6080GVLixdc0nMHz1dDUTSonAsp5bJwwCC12DMd6Q0Yx9KnKu1nth8CfQxphPO791XES1pSWbgh2L3JDhxEl8aHa-N9wcM8Xc4AatYsbVXCGLwQq_MRGi_7Gm2whgIqAnkLsEj-X_JeL_1HJiDkpr40WALQvNVPe9qK8I04HdVl7xDKIg46EmyKcjMFZhj6mcDuX_ao8Of1sJa0KcocalGN5n2G-LSG1xX8KPpFopHaGWGxOF2Dy0wjzhnWYfewWeyy5xJJ0xTeQRsF2Y7idP7zj7Ep8j_qWc_MIwzN-ZjtzLkg.2671640796295602.670816620341305.2807258736068483.1561841827303898.2750236425090083.1545956602219031.259951248457948.2294640357508386.2469433253367875&type=1&opaqueCursor=Abo-KAjWhG9sQKRcjk23_3yM8mfkdy8c9vtKRO33d50oF4zkvD1vIQvRLHrPPfZR8EsgiGJc8C2d3Bg_uLHUC4KPsmWpRMyGmrNGKEqje_DKXHUY344xiUi7xnjuIzjBoUtG9mWyPGlOBwndJWjFDbQiD8hFQWf3Azh2uFl2vHp0vIT6Nm1CGK2Z0wa71799x_9h5swI35vTghfwImsITWcEZN0yieENgAwquLuurNk0L_5Rq2woRG7T00SfeZOmGG5c2eMxB1ubmM8kLjyD3RN_gg94mIKbfq3wNrP6F6VDFSp_LxEZjhpPAr-mUJ6ZMIIwxq8wYNfBzZ3tPpkfT1ntgxmDDx0DBKS8YuC2_QOnQZ9Be0FHkA3kBuN7-GPqCbOnGowAtFYrv4z52Xoq8mBheCYwK96fLFaQ2fvxfiCbV1yfrbS6DH4GNIVG4FCkLSyrJybSfajRoe8NPoe0_F0GFbpsJ_oLA5jz46ToCnGkIlstvduHQzHV49CFf4hElq4oywraXQhtH-BTR_EMyu0QZRaHbvBmrn6ox2DQ9cLxxqNow39RclRjdvGde3xOsyqLBi7wB6ICAn25FtAAMA2cN1oTI_Z2vCZuwbXK1oB3Rjkae8_ulb8S13VihEcbxFfyhdwVP31Ief94TpcXQtLNuCDDwTT1bSEvckw-OHCuz3m2Io3ngHoxBv9ih_VFnCM_2v39ina9yAVWaksQ097ZjDIjr3H0XfoQaCvF_u3rGWDKEOCU-lKqD_uWFRH8YaE&theater

पत्ता गोभी को लेकर किए जा रहे दावे से संबंधित हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट मिली। जिसमें बताया गया है कि पत्ता गोभी में टेव वर्म (कीड़ा) पाया जाता है जो कि खाने पर दिमाग में चला जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार, बंदगोभी और पत्ता गोभी में कीड़ा इतना पतलाऔर छोटा होता है कि आसानी से देखा नहीं जा सकता।

पड़ताल के दौरान तथ्यों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि फेसबुक, ट्विटर और शेयरचैट पर वायरल हो रहे दावे में कोई सच्चाई नहीं है। इससे स्पष्ट होता है कि पत्ता गोभी का घातक कोरोना वायरस से कोई लेना-देना नहीं है। लोगों को भ्रमित करने के लिए ऐसा दावा किया जा रहा है। 

Tools Used:

Google Keywords Search

Twitter Search

Media Reports

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular