मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021
मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021
होमCoronavirusलंदन में हुए वर्षों पुराने दंगे को कोरोना वायरस से जोड़कर गलत...

लंदन में हुए वर्षों पुराने दंगे को कोरोना वायरस से जोड़कर गलत दावे के साथ किया गया शेयर

कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बड़ा कदम उठाया गया है। राजस्थान, पंजाब और चंडीगढ़ को 31 मार्च तक लॉक डाउन की घोषणा कर दी गई है। ऐसे में व्हाट्सएप पर 5 मिनट 30 सैकेंड की एक वीडियो वायरल हो रही है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि लंदन में में खाद्य पदार्थों की अनुपलब्धता के कारण दंगे हुए हैं जिसके चलते आज रात UK को बंद कर दिया जाएगा। वहीं सेना के जवानों को भी सड़कों पर आता देखा गया।

Fact Check

भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘जनता कर्फ्यू’ के लिए कहा गया है, ताकि देश में नोवल कोरोनवायरस मामलों को कम किया जा सके। भारत में अब तक COVID-19 के 300 से अधिक लोग संक्रमित पाए गए हैं। दुनिया भर में बढ़ते मामलों की संख्या के साथ, सरकारें सामाजिक दूरी के लिए स्थितियों को सुविधाजनक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। राजस्थान और पंजाब सहित भारत के कई राज्यों में 31 मार्च तक लॉक डाउन का फैसला लिया गया है।

 

नोवल कोरोनोवायरस के बीच अफवाह फैलाने वाले कई संदेश और ग्राफिक्स सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर वायरल हो रहे हैं। ऐसे में व्हाट्सएप पर 5 मिनट 30 सेकेण्ड की एक वीडियो वायरल हो रही है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि लंदन में खाद्य पदार्थों की अनुपलब्धता के कारण के कारण दंगे हुए हैं। आज रात UK को बंद कर दिया जाएगा और सेना के जवानों को भी सड़कों पर आता देखा गया।

देखा जा सकता है कि वायरल वीडियो को ट्विटर, फेसबुक और YouTube पर शेयर किया जा रहा है।

 

कुछ कीवर्डस की मदद से हमने यह पता लगाया कि क्या लंदन में COVID-19 के कारण कोई दंगा हुआ था। पड़ताल के दौरान हमें  The Telegraph और Express द्वारा प्रकाशित कई मीडिया रिपोर्ट मिली।

The Telegraph द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक यह उस दौरान की घटना है जब उत्तर-पश्चिम लंदन में दुकानदारों ने Wembley की Asada Supermarket में घुसने की कोशिश की थी। मीडिया रिपोर्टों से यह स्पष्ट होता है कि नोवल कोरोनावायरस के कारण लोगों ने राशन को स्टॉक करना शुरू कर दिया है। लेकिन UK में दंगों जैसी कोई स्थिति नहीं है।

वायरल हुआ वीडियो हाल ही का है या पुराना इसके लिए InVID की मदद से हमने वीडियो के कई कीफ्रेम्स निकाले एक कीफ़्रेम पर Reverse Image Search करने पर हमें YouTube पर BaguaChannel नामक चैनल पर अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। यह वीडियो 11 अगस्त, 2011 को अपलोड किया गया था।

इस बीच, हमने YouTube वीडियो के बारे में खोजा । BaguaChannel के अनुसार, यह वीडियो लंदन के पेकहम में हुए दंगों का है। Google खोज की मदद से, हमें लंदन के दंगों पर कई मीडिया रिपोर्ट मिलीं। इन रिपोर्टों से यह स्पष्ट होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो लंदन के दंगे का है जो 2011 में हुआ था।

‘The riots will forever stay in my mind’

2011 के इंग्लैंड के दंगे व्यापक रूप से लंदन के दंगों के रूप में जाने जाते हैं। 6 से 11 अगस्त, 2011 के बीच दंगों की एक श्रृंखला थी जब इंग्लैंड के शहरों और कस्बों में हजारों लोगों ने दंगे, लूटपाट और आगजनी की थी। वहीं बड़े पैमाने पर पुलिस की तैनाती देखी गई थी और इस हादसे में पांच लोगों की मौत हुई थी।

हमारी पड़ताल में यह साबित होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो का नोवल कोरोनावायरस से कोई लेना-देना नहीं है। 2011 में लंदन में हुए दंगों के वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Tools Used:

  • InVID
  • Google Search
  • Media Reports
  • Reverse Image Search

Result: False 

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular