शनिवार, दिसम्बर 3, 2022
शनिवार, दिसम्बर 3, 2022

होमCoronavirusक्या अगले 10 दिन तक सेना के संरक्षण में मुंबई होगी पूरी...

क्या अगले 10 दिन तक सेना के संरक्षण में मुंबई होगी पूरी तरह से लॉक डाउन? जानिए क्या है वायरल दावे का सच

Claim

Entire Mumbai will be under Military lockdown for 10 days starts from Saturday. So please stock everything. Groceries, Only milk and medicine will be available.  

(शनिवार से पूरी मुंबई सेना के अधीन अगले 10 दिनों तक पूरी तरह से लॉक डाउन रहेगी। लोगों से आग्रह है कि जरूरी वस्तुओं का स्टोर कर लें, सिर्फ दूध और दवा की दुकाने खुलेंगी।) आर्काइव यहाँ देखा जा सकता है।   

मुम्बई में कोरोना का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा। एशिया के सबसे बड़े स्लम इलाके धारावी में मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता देखा जा सकता है। इसी बीच एक दावा तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि शनिवार से मुंबई में सेना का पहरा होगा। सेना के नियंत्रण में अगले 10 दिनों तक हो रहे लॉक डाउन में सिर्फ दवा और दूध की दुकाने खुलेंगी। इस दौरान लोगों से अपील की जा रही है कि वे जरूरी सामानों को स्टोर कर लें। एक ऑटो के साथ लगे लाउडस्पीकर से मराठी भाषा में यह अनाउंसमेंट किया जा रहा है। 

फैक्ट चेक: 

देश में बढ़ते कोरोना संकट के बीच आर्थिक राजधानी मुंबई बेहद बेहाल है। मुंबई के स्लम इलाके धारावी में यह संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। एक तरफ जहां पुलिस-प्रसाशन लोगों से घरों में रहने की अपील करता नज़र आ रहा है तो एक चौंकाने वाला दावा तेजी से वायरल हो रहा है। क्या अब मुंबई की सुरक्षा सेना के हवाले कर दी गई है। क्या मुम्बई पुलिस लोगों को कंट्रोल करने में सक्षम नहीं है। इस बात की तस्दीक के लिए सबसे वायरल दावे से मिलते-जुलते कुछ प्राइमरी कीवर्ड्स के सहारे खोज शुरू की। इस दौरान पता चला कि इस दावे को लोग सोशल मीडिया में तेजी से शेयर कर रहे हैं।  

https://twitter.com/QureshiAfsana1/status/1258554978714689536
https://twitter.com/ashrafskh5/status/1258577375677173761
https://twitter.com/AmanSin26994052/status/1258453344114311175

 

खोज के दौरान प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स में कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं हुआ है कि मुंबई अगले 10 दिनों तक सम्पूर्ण रूप से बंद होने वाली है। इसके साथ कहीं भी इस बात का भी जिक्र नहीं है कि मुंबई अब सेना के हवाले कर दी गई है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई में लगातार बढ़ते मामलों के मद्देनजर सूबे के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन को मई लास्ट तक बढ़ाने के संकेत दिए हैं।   
  

दावे की तह तक जाने के लिए मुंबई पुलिस का ट्विटर अकाउंट खंगालना शुरू किया। इस दौरान एक ट्वीट प्राप्त हुआ जिसमें साफ़ लिखा गया है कि मुंबई में सेना को बुलाये जाने की खबर अफवाह है। ट्वीट में लिखा गया है कि ‘लोगों के पास काफी खाली वक्त है लिहाजा इसका प्रयोग सही कार्यों के लिए करें ना कि अफवाह फ़ैलाने के लिए। आपको जरूरी सामान स्टोर करने की भी जरुरत नहीं है। घर में रहें-सुरक्षित रहें और कोरोना से मुकाबला करें। मुंबई में किसी भी तरह से सेना या अर्ध सैनिक बलों को नहीं बुलाया जा रहा है।’  

मुंबई पुलिस के ट्वीट से इतना तो साफ़ हो गया कि वायरल दावा महज अफवाह है। लेकिन एक बार उद्धव ठाकरे के ट्विटर आकउंट को खंगालना जरूरी समझा। बारीकी से मुख्यमंत्री का ट्विटर अकाउंट खोजने पर हमें कहीं भी ऐसा कुछ लिखा नजर नहीं आया जिससे पता चले कि वायरल दावा सच है। वायरल दावे पर मुंबई पुलिस द्वारा ट्विटर पर दी गई सफाई सहित कई मीडिया रिपोर्ट्स पढ़ने के बाद यह साफ़ हो गया कि फिलहाल राज्य सरकार ने मुंबई में सेना के जवानों को लॉकडाउन का पालन कराने के लिए नहीं उतारा है। मराठी भाषा में किए जा रहे अनाउंसमेंट में कहीं भी सेना का जिक्र नहीं किया गया है बल्कि लोगों से घरों में रहने की अपील की गई है। इसके साथ ही यह भी मालूम हुआ कि राज्य सरकार की तरफ से अगले 10 दिनों के लिए पूरी मुंबई में सम्पूर्ण लॉक डाउन की कोई आधिकारिक घोषणा भी नहीं की गई है। हमारी पड़ताल में साफ़ हो गया कि वायरल दावा महज अफवाह है।  

Tools Used 

Google Search 

Snipping  

Twitter Advanced Search  

Result- Misleading

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

JP Tripathi
JP Tripathi
Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.
JP Tripathi
JP Tripathi
Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular