सोमवार, अक्टूबर 3, 2022
सोमवार, अक्टूबर 3, 2022

होमCoronavirusWHO ने नहीं जारी किया लॉकडाउन से सम्बंधित कोई प्रोटोकॉल, सोशल मीडिया...

WHO ने नहीं जारी किया लॉकडाउन से सम्बंधित कोई प्रोटोकॉल, सोशल मीडिया में फेक दावा वायरल

Claim:

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन का प्रोटोकॉल। 

जानिए क्या है वायरल दावा:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है। ऐसे में एक यूज़र ने हमारे आधिकारिक व्हाट्सएप नंबर पर वायरल मैसेज की सत्यता जानने के लिए अनुरोध किया है।

इस संदेश में दावा किया जा रहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए कई स्टेप में लॉक डाउन की बात की है।

पहला चरण- 1 दिन

दूसरा चरण-  21 दिन

5 दिनों के बाद

तीसरा चरण- 28 दिन

5 दिनों के बाद।

चौथा चरण- 15 दिन

22 मार्च = 1 दिन (इम्तहान लॉकडाउन)

24 मार्च से 14 अप्रैल= 21 दिन (पहला लॉकडाउन) 

अप्रैल 15 से अप्रैल 19  ( लॉकडाउन से आराम) 

20 अप्रैल से 18 मई = 28 दिन (दूसरा लॉकडाउन)

यदि (COVID-19)  के मरीज शून्य हो जाते हैं तो, लॉकडाउन वापस हटाया जाएगा। 

19 मई से 24 मई = (लॉकडाउन से आराम) 

25 मई से 10 जून =15 दिन (अंतिन लॉकडाउन) 

Verification:

पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। दुनियाभर में अबतक 11 लाख से ज्यादा मामले दर्ज़ किए गए हैं। देश में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या बढ़कर 2902 हो गई है। इनमें से 2650 सक्रिय हैं जिनका अस्पतालों में इलाज हो रहा है। वहीं देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 68 हो चुकी है। असम के सीएम के मुताबिक़ सूबे में कोरोना के कुल 25 मामले दर्ज़ किए गए हैं जिनमें एक मरीज दिल्ली मरकज से वापस लौटा था।

देखा जा सकता है कि वायरल दावे को फेसबुक और ट्विटर पर भी कई यूजर्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

वायरल दावे का सच जानने के लिए WHO की वेबसाइट पर खोजना शुरू किया। पड़ताल के दौरान हमें वायरल दावे से संबंधित ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली जिसमें यह लिखा हो कि WHO कई चरणों में वायरस से निपटने के लिए लॉक डाउन की वकालत करता हो।

 

अधिक जानकारी के लिए कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने वायरल दावे को खंगाला। खोज के दौरान हमें Economic Times और अमर उजाला का लेख मिला। लेख से हमने जाना कि कैबिनेट सचिव राजीव गौबा का कहना है कि 21 दिनों के लॉकडाउन को बढ़ाने की सरकार की कोई योजना नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने इस दावे को लेकर आ रही रिपोर्ट पर हैरानी जताई है।

ट्विटर खंगालने पर हमें न्यूज एजेंसी ANI और PIB द्वारा किया गया ट्वीट मिला। ट्वीट में साफ़ किया गया है कि भारत में लॉक डाउन बढ़ने को लेकर वायरल हो रहे सन्देश अफवाह हैं।

नीचे World Health Organization ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर वायरल दावे को फर्ज़ी बताया है। लॉकडाउन को लेकर WHO का कोई प्रोटोकोल नहीं है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे तथ्यों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि WHO ने कहीं भी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए चरणबद्ध लॉकडाउन की प्रक्रिया जैसी बात नहीं की है। जहां तक सवाल देश में लॉक डाउन बढ़ाने या ना बढ़ाने का है तो यह बात पूरी तरह देश की सरकार पर निर्भर करता है। 

Tools Used:

Google Keywords Search

Media Reports

Twitter Search

Facebook Search

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular