शनिवार, नवम्बर 26, 2022
शनिवार, नवम्बर 26, 2022

होमFact Checkप्रयागराज में 16 वर्षीय युवती ने दो बलात्कारियों को नहीं उतारा मौत...

प्रयागराज में 16 वर्षीय युवती ने दो बलात्कारियों को नहीं उतारा मौत के घाट, फर्ज़ी दावा वायरल

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इन दिनों प्रयागराज की एक खबर बहुत तेज़ी से वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि इलाहाबाद की 16 वर्षीय युवती शीषा साहू ने अपनी इज्जत बचाने के लिए दो बलात्कारियों को मौत के घाट उतार दिया।

ट्विटर पर इस दावे को अब तक 2700 से ज्यादा बार रिट्वीट किया गया है और 22 हजार से ज्यादा लोगों ने इसे लाइक भी किया है।

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

नीचे देखा जा सकता है कि वायरल दावे को ट्विटर पर कई अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

नीचे देखा जा सकता है कि वायरल दावे को फेसबुक पर कई अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

Fact Check/Verification

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल खंगालना शुरू किया। कुछ अलग-अलग कीवर्डस की मदद से खोजने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली।

खोज के दौरान हमें गूगल पर वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली। अगर प्रयागराज में इस तरह की कोई घटना हुई होती तो इससे संबंधित मीडिया रिपोर्ट्स जरूर होती।

खोज के दौरान हमें गूगल पर वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली। अगर प्रयागराज में इस तरह की कोई घटना हुई होती तो इससे संबंधित मीडिया रिपोर्ट्स जरूर होती।

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने SSP प्रयागराज से फोन पर संपर्क किया। बातचीत में उन्होंने हमें बताया कि प्रयागराज में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही खबर फर्ज़ी और भ्रामक है।

अधिक जानकारी के लिए हमने ट्विटर खंगालाना आरंभ किया। पड़ताल के दौरान हमें प्रयागराज पुलिस द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला। इसमें बताया गया है कि 7 अगस्त, 2020 को थाना करछना क्षेत्रान्तगर्त दो पक्षों में भैंस हांकने को लेकर आपस में लड़ाई झगड़ा हुआ था। जिसमें दो लोगों के ऊपर लोहे की रॉड, रम्बा और चाकू से हमला हुआ था। लेकिन इलाज के दौरान दोनों युवकों की मौत हो गई थी। जबकि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही खबर का इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है। वायरल खबर पूरी तरह फर्ज़ी और भ्रामक है।   

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि वायरल खबर फर्ज़ी और भ्रामक है। पड़ताल में हमने पाया कि प्रयागराज में किसी भी युवती ने अपनी इज्जत बचाने के लिए दो बलात्कारियों को मौत के घाट नहीं उतारा है। लोगों को भ्रमित करने के लिए भ्रामक दावा किया जा रहा है।


Result: False


Our Sources

Twitter Search https://twitter.com/prayagraj_pol/status/1295977034296905729/photo/1

Phone Verification https://uppolice.gov.in/frmOfficials.aspx?allahabad&cd=MwA1ADIA


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular