शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022

होमFact CheckFake News 2019: वो फ़ेक ख़बरें जो सोशल मीडिया पर हुईं वायरल

Fake News 2019: वो फ़ेक ख़बरें जो सोशल मीडिया पर हुईं वायरल

2019 में सोशल मीडिया पर कई फेक ख़बरें शेयर की गई फिर चाहे वो किसी बच्चे के गुम होने की सूचना हो या फिर बच्चा चोरी की अफवाह, भ्रम फैलाने के लिए फेसबुक (Facebook), ट्विटर (Twitter) और व्हॉट्सएप (WhatsApp) पर कई दावे पोस्ट किए गए। ऐसे ही तमाम दावे जो लोगों ने इतना शेयर किए कि वो वायरल (Viral) हो गए।

RBI वापस ले रही है ₹2000 के नोट

सोशल मीडिया पर आजतक न्यूज़ चैनल के कुछ स्क्रीनशॉट वायरल किए गए। इनके साथ दावा किया गया कि RBI 2000 के नोट बंद करने वाली है और 31 दिसंबर तक 2000 के सभी नोट वापस ले लिए जाएंगे। जबकि ये स्क्रीनशॉट आजतक के Viral Test नामक प्रोग्राम

का था जिसमें न्यूज़ चैनल ने इस ख़बर को फेक बताया था। RBI की वेबसाइट पर इससे संबंधित कोई जानकारी नहीं है। इस तरह की सूचना RBI अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर नोटिफिकेशन जारी कर जरूर देता है।

गुम हुई बच्ची का पुराना वीडियो भ्रामक दावे के साथ किया गया शेयर

ये वीडियो कई बड़ीबड़ी हस्तियों ने भी शेयर कर बच्ची को जल्द से जल्द ढूंढने की अपील सोशल मीडिया पर की। कई बार शेयर हुआ ये वीडियो दरअसल 2018 का है जब मध्य प्रदेश के मोहन नगर में ये बच्ची खो गई थी। वीडियो के सोशल मीडिया पर आने के कुछ ही दिन बाद बच्ची को उसके मातापिता के घर पहुंचा दिया गया था।

48 घंटे में डेंगू खत्म करने वाली दवाई का सच

कारपिल नाम की एक दवाई को डेंगू से लड़ने में केवल 48 घंटे लगते हैं, इस दावे के साथ ये तस्वीर लोगों को ने तेज़ी से शेयर की। हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Oraganisation) की मानें तो दुनिया में हुए व्यापक पैमाने पर रिसर्च के बाद भी अभी तक डेंगू बुखार को क्योर करने वाली किसी भी दवा को तैयार नहीं किया जा सका है।

आपके WhatsApp पर है सरकार की नज़र!


WhatsApp की प्राइवेसी सेटिंग्स में कुछ फीचर दिए गए हैं जिसमें सिंगल टिक का मतलब मेसेज भेज दिया गया है, डबल टिक(ग्रे रंग में) का मतलब मेसेज डिलीवर हो चुका है तथा डबल टिक(नीले रंग) में का मतलब यूजर ने मैसेज पढ़ लिया है।
आधिकारिक रूप से व्हाट्सऐप द्वारा केवल तीन तरह के टिक (एक सिंगल टिक और दो डबल टिक) निर्धारित किए गए हैं अतः तीन टिक या किसी भी अन्य टिक द्वारा सरकार की आपके व्हाट्सऐप पर नजर रखे जाने की खबर झूठी है। 

आपकी सॉफ्ट ड्रिंक में है Ebola वायरस!

कुछ इसी तरह के दावे के साथ ये ख़बर 2015 में भी वायरल हुई थी। इस दावे के साथ दिखाई गई तस्वीरें दरअसल भारत की हैं ही नहीं। ये तस्वीरें पाकिस्तान की है जहां अधिकारियों ने नकली सॉफ्ट ड्रिंक की एक फैक्ट्री में छापेमारी की थी और भारी मात्रा नकली सॉफ्ट ड्रिंक बरामद की थी।

कांग्रेस नेता के घर छापेमारी में बरामद हुए करोड़ों रुपए!

ये वीडियो कभी किसी दावे के साथ तो कभी किसी दावे के साथ, सोशल मीडिया पर पाया जा सकता है। कोई इसे भारत का बताता है तो कोई रूस का। दरअसल वीडियो में दिख रही करेंसी नुमा चीजें एक स्पेनिश कलाकार ने हाथों से पेंट की हैं जिसकी जानकारी उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी शेयर की है। 

(@monge_art) on Feb 27, 2019 at 7:14am PST

बच्चा चोरी करने के बाद भीड़ ने सिखाया सबक!

कई जगह दावा किया गया कि पूरे हिन्दुस्तान में रोहिंग्या की 2000 लोगों की टीम बच्चों को उठा कर ले जा रही हैजिसमें से कुछ लोग बच्चों को बेच देते हैं तो कुछ लोग बच्चों की बल चढ़ाने के लिए ले जाते हैं। ये वीडियो दरअसल झांसी का है, पुलिस अधिकारी के मुताबिक ये शख्स बच्चाचोर नहीं बल्कि मानसिक रूप से बीमार था जिसे बच्चा चोरी करने के शक में लोगों ने बेरहमी से पीटा।

बांग्लादेश की पुरानी तस्वीर को भारत की बताया गया

14 सितंबर 2016 को Buzzfeed पर छपे लेख के मुताबिक ईद के मौके पर जानवरों की बलि और भारी बारिश के चलते ढाका की सड़कें खूनी नदी में बदल गईं थी इस खबर को दुनियाभर के मीडिया संस्थानों ने दिखाया था।

पैरासिटामोल P 500 में है सबसे ख़तरनाक वायरस!

The Hindu में दो साल पहले एक ख़बर छापी गई थी जिसमें ये बताया गया था कि पैरासिटामोल को लेकर कई तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं। इससे पहले भी दुनियाभर के कई देशों में इस दवा को लेकर अफवाहें फैलाई गई थीं। 2017 में इंडोनेशिया और मलेशिया में भी इस दवा में वायरस होेने की अफवाह फैली थी। मलेशिया और इंडोनेशिया की सरकारों ने एडवायज़री जारी कर कहा था कि उन्हें पैरासिटामॉल P-500 में कोई वायरस नहीं मिला है। 

पाकिस्तानी सेना ने माना, भारतीय वायुसेना ने मार गिराए 200 आतंकी!

पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना के सीमापार जाकर एयर स्ट्राइक करने के बाद पाकिस्तान का एक वीडियो सोशल मीडिया से लेकर भारतीय मीडिया में छाया रहा। इस वीडियो में चल रहे ऑडियो में कहा जा रहा है कि आपको ये पता है कल दो सौ बंदा ऊपर गया थाइसका नसीब में लिखा हुआ था शहादतहमारे नसीब में नहीं लिखा हुआ था.. हम रोज़ाना चढ़ते हैंजाते हैंआते हैंये अल्लाह के ख़ास बंदों जिसपे उसका करम होता है जिसपे उसकी ख़ास नजरो करम होती है उसको वो नसीब होता हैहर किसी को येइस ऑडियो में तो बालाकोट का जिक्र किया गया है और ही भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक का।

फेक ख़बरों और तस्वीरों को पहचानना बेहद आसान है, जरूरत है तो बस थोड़ासा जागरुक रहने की। फेक न्यूज से लड़ने के लिए हमारा साथ दें। Newschecker सोशल मीडिया पर भी मौजूद हैं, फेक न्यूज़ से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए हमें टैग करें।

 

फेसबुक के लिएNewschecker @Facebook

ट्विटर के लिएNewschecker @Twitter

 

 

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें9999499044)

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular