बुधवार, जनवरी 19, 2022
बुधवार, जनवरी 19, 2022
होमFact Checkदिल्ली का शहर काजी या आम आदमी पार्टी का नेता नहीं है...

दिल्ली का शहर काजी या आम आदमी पार्टी का नेता नहीं है हिंदुओं को खुलेआम धमकी देने वाला यह व्यक्ति

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया गया है कि वीडियो में दिख रहा व्यक्ति दिल्ली का शहर काजी और आप नेता है जो हिंदुओं के बारे में आपत्तिजनक बातें कर रहा है।

वायरल वीडियो में दिख रहा व्यक्ति बोलता नज़र आ रहा है कि भगवा हुकूमतें व साजिशकार भी गौर से सुन लें कि मुसलमान अब जाग गया है। रोजाना की मौतें और अत्याचार के खिलाफ मुसलमानों के पास भी नौजवान बच्चे हैं, मुसलमानों के पास भी ताकतें और हथियार हैं। मुसलमान भी हथियार इस्तेमाल कर सकता है, लेकिन मुसलमान अमन परस्त है। अगर हम अपने पर आ जाएं तो इस मुल्क में इनका जीना मुश्किल कर देंगे। जिस तरह से ये हमारे साथ अत्याचार कर रहे हैं। अगर हमने हमारे नौजवान बच्चों को एक दफ़ा उकसा दिया तो हमारे बच्चे उनसे कहीं ज़्यादा ताकत रखते हैं।’ 

एक सोशल मीडिया यूजर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि ‘यह दिल्ली का शहर काजी और आम आदमी पार्टी का पदाधिकारी है, जो हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है।’

Tweet Post
Tweet Post

उपरोक्त ट्वीट के आर्काइव को यहां देखा जा सकता है। 

Tweet Post

उपरोक्त दावे को फेसबुक पर भी शेयर किया गया है। 

दिल्ली का शहर काजी है और आम आदमी पार्टी का नेता, हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

दिल्ली का शहर काजी है और आम आदमी पार्टी का नेता, हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

दिल्ली का शहर काजी है और आम आदमी पार्टी का नेता, हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

28 दिसम्बर 2021 को Thewirehindi.com द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, बीते 17-19 दिसम्बर को हरिद्वार में धर्म संसद का आयोजन किया गया था। इस आयोजन की थीम ‘इस्लामिक भारत में सनातन का भविष्य: समस्या और समाधान’ थी। इस आयोजन के दौरान धर्म विशेष पर आपत्तिजनक और भड़काऊ वक्तव्य दिए गए। 

बतौर लेख, इस धर्म संसद में एक वक्ता ने धमकी देते हुए कहा कि हरिद्वार में कोई भी होटल अगर क्रिसमस या ईद मनाता है तो वो अपने शीशे तुड़वाने को तैयार रहे। वहीं इस धर्म संसद में दो वक्ताओं ने लोगों से हथियार रखने की अपील की थी। 

Indiatimes.com के एक लेख के मुताबिक, धर्म संसद में मुसलमानों के खिलाफ नफ़रत वाला भाषण देने वाले दो और लोगों, धर्म दास और साध्वी अन्नपूर्णा पर हरिद्वार कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। 

इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया गया कि दिल्ली का शहर काजी और आम आदमी पार्टी का नेता हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है।  

Fact Check/Verification 

क्या दिल्ली का शहर काजी और आम आदमी पार्टी का नेता हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है? इस दावे के साथ वायरल हो रहे वीडियो का सच जानने के लिए हमने इसे invid टूल की मदद से कुछ की-फ्रेम्स में बदला। इसके बाद एक की-फ्रेम के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया। लेकिन हमें इस वीडियो से संबंधित कोई भी रिपोर्ट नहीं मिली।

दिल्ली का शहर काजी है और आम आदमी पार्टी का नेता, हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है
Screenshot

इसके बाद हमने एक की-फ्रेम के साथ कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें 3 मिनट 6 सेकंड का एक यूट्यूब वीडियो मिला। 

दिल्ली का शहर काजी है और आम आदमी पार्टी का नेता, हिंदुओं को खुलेआम धमकी दे रहा है
Screenshot

प्राप्त वीडियो को यूट्यूब चैनल पर 28 जून 2019 को अपलोड किया गया था। इसे पूरा देखने के बाद पता चला कि यह तबरेज़ अंसारी की मॉब लिंचिंग के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन का वीडियो है। वीडियो की शुरुआत में पत्रकार उस आदमी से पूछता है कि इतना जो अत्याचार हो रहा है इसके बारे में आपका क्या कहना है और क्या-क्या एक्शन लेने चाहिए? इसके जवाब में वह व्यक्ति बोलता है कि तबरेज़ के सिलसिले में यह लोग एकत्र हुए हैं और यह आवाज तो हमारे मुस्लिम संगठन के बच्चों ने उठाई है। यह चिंगारी है जो आग की तरह फैलेगी और दिल्ली के पाए-तख़्त को हिलाकर रख देगी, क्योंकि मॉब लिंचिंग के केस एक दो नहीं सैकड़ों हो गए।

 

Youtube Video

इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए वायरल वीडियो को यूट्यूब पर खोजना शुरू किया। इस दौरान सुदर्शन न्यूज़ के यूट्यूब चैनल पर 3 जुलाई 2019 को अपलोड किया गया एक वीडियो प्राप्त हुआ। इसे पूरा देखने के बाद पता चला कि यह वीडियो देहरादून का है और इसमें दिख रहे व्यक्ति का नाम मुफ्ती रईस है और वह देहरादून का रहने वाला है। 

इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें 30 जून 2019 को Amarujala.com द्वारा प्रकाशित एक लेख प्राप्त हुआ। लेख के मुताबिक, झारखंड में मॉब लिंचिंग में मारे गये तबरेज़ अंसारी की हत्या के विरोध में मुस्लिम सेवा संगठन ने 27 जून 2019 को प्रदर्शन किया था। इस दौरान मुफ्ती रईस ने भड़काऊ बयान दिया था। उस बयान का वीडियो वायरल होने के बाद मुफ्ती रईस पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। 

इसके बाद हमने मुफ्ती रईस और आम आदमी पार्टी का सम्बन्ध जानने के लिए कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए गूगल पर खोजना शुरू किया। लेकिन हमें इस सम्बंध में कोई भी लेख प्राप्त नहीं हुआ। 

Read More: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखों का नहीं हुआ ऐलान, फेक दावा हुआ वायरल

Conclusion 

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि वायरल वीडियो में दिख रहा व्यक्ति ना तो दिल्ली का शहर काजी है और ना ही आम आदमी पार्टी का पदाधिकारी। करीब 2 साल पुराने वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया है।

Result: Misleading

Our Sources

Ahnaf Media Service : https://youtu.be/s4ATbWPBRKI

Sudarshan News : https://youtu.be/1bzswkh3QIc

Amarujala.com : https://www.amarujala.com/dehradun/jharkhand-mob-lynching-incident-case-file-on-mufti-raees

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular