शनिवार, जुलाई 31, 2021
शनिवार, जुलाई 31, 2021
होमFact Checkक्या AIUDF अध्यक्ष Badruddin Ajmal ने दिया सांप्रदायिक बयान?

क्या AIUDF अध्यक्ष Badruddin Ajmal ने दिया सांप्रदायिक बयान?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर यह दावा किया जा रहा है कि AIUDF (All India United Democratic Front) अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल (Badruddin Ajmal) ने भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की बात कही है।

उक्त दावे का आर्काइव लिंक: https://archive.is/K8hbU

जैसा कि आप सबको पता है असम, पश्चिम बंगाल, पुडुचेरी, केरल और तमिलनाडु में आगामी कुछ महीनों में चुनाव होने वाले हैं. चुनावी मौसम में सोशल मीडिया के इस्तेमाल का चलन पिछले कुछ वर्षों में भारत में बहुत ज्यादा बढ़ गया है। राष्ट्रीय दलों के बाद अब क्षेत्रीय दल भी टेक्नोलॉजी के सहारे चुनाव में अपनी नैया पार लगाने के जुगत में हैं। ऐसे में चुनावों के दौरान फेक न्यूज़, गलत और भ्रामक जानकारी में बढ़ोत्तरी स्वाभाविक है. असम (Assam) में पिछले पांच वर्षों में NDA (भाजपा एवं घटक दल) की सरकार रही है। राज्य में प्रमुख विपक्षी दलों की बात करें तो कांग्रेस और AIUDF राज्य में विधायकों की संख्या के हिसाब से क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं। Assam में विधानसभा चुनावों से संबंधित तमाम दावे शेयर किये जा रहें हैं। इसी क्रम में भाजपा समर्थक सोशल मीडिया यूजर्स ने एक वीडियो शेयर कर यह दावा किया कि AIUDF अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल (Badruddin Ajmal) ने मुग़ल काल के तर्ज पर भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने समेत अन्य कई सांप्रदायिक बयान दिए हैं।

Fact Check/Verification

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले वीडियो को की-फ्रेम्स में बांटा। इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स तथा एक की-फ्रेम की सहायता से Google सर्च किया। लेकिन इस प्रक्रिया में हमें AIUDF अध्यक्ष Badruddin Ajmal के आधिकारिक ट्विटर पेज के अलावा कोई ठोस जानकारी नहीं प्राप्त हुई।

AIUDF Badruddin Ajmal

इसके बाद हमें Badruddin Ajmal के आधिकारिक ट्विटर पेज पर AIUDF विधायक Dr Hafiz Rafiqul Islam के ट्विटर पेज से शेयर किया गए कुछ ट्वीट्स प्राप्त हुए जिन्हे Badruddin Ajmal के ट्विटर पेज द्वारा रीट्वीट किया गया है।

AIUDF विधायक Dr Hafiz Rafiqul Islam द्वारा शेयर किये गए एक ट्वीट में Badruddin Ajmal के वायरल वीडियो को एडिटेड बताया गया है तथा उक्त बयान का असल वीडियो भी शेयर किया गया है।

Dr Hafiz Rafiqul Islam द्वारा उपरोक्त थ्रेड के दूसरे ट्वीट में पूरे बयान के वीडियो का यूट्यूब लिंक भी शेयर किया गया है। गौरतलब है कि उक्त यूट्यूब को लेकर यह जानकारी दी गई है कि यह बयान लगभग दो साल पहले SANIDUL VLOGS नामक एक चैनल द्वारा प्रकाशित किया गया था।

इसके बाद हमने उपरोक्त ट्वीट में शेयर किये गए 21 मिनट 23 सेकंड वाले यूट्यूब वीडियो को पूरा देखा और पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो सच में एडिट किया गया है।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को एडिट कर फैलाई गई फ़ेक न्यूज़

बता दें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे 36 सेकंड के इस वीडियो में सबसे पहला बड़ा एडिट 8 सेकंड के बाद किया गया है तथा ऐसा दिखाया गया है कि Badruddin Ajmal भारत में इस्लामिक राष्ट्र की बात कर रहें हैं जिसका सच उक्त यूट्यूब वीडियो में 5 मिनट 50 सेकंड के बाद सुना जा सकता है। दरअसल Badruddin Ajmal यह कह रहे हैं कि भारत में सैकड़ों सालों तक मुगलों का शासन रहा लेकिन उनकी हिम्मत नहीं हुई कि वो भारत को इस्लामिक राष्ट्र बना दें। 36 सेकंड के इस वायरल वीडियो में दूसरा बड़ा एडिट 12 सेकंड के बाद किया गया है जिसका सच उक्त यूट्यूब वीडियो में 7 मिनट 55 सेकंड के बाद सुना जा सकता है। वायरल वीडियो में तीसरा बड़ा एडिट 30 सेकंड के बाद किया गया है इसे उक्त यूट्यूब वीडियो में 6 मिनट 7 सेकंड के बाद सुना जा सकता है।

इसके बाद हमें असम (Assam) के रहने वाले तथा Economic Times के लिए वरिष्ठ संपादक के तौर पर कार्यरत शांतनु शर्मा का एक ट्वीट भी प्राप्त हुआ जिसमे सोशल मीडिया पर वायरल इस 36 सेकंड के इस वीडियो को एडिटेड बताया गया है।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह बात साफ हो जाती है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे उक्त वीडियो में AIUDF अध्यक्ष Badruddin Ajmal ने सांप्रदायिक बयान नहीं दिया है। 36 सेकंड के इस वीडियो को Badruddin Ajmal द्वारा 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान बारपेटा में दिए गए लगभग 15 मिनट लंबे बयान के वीडियो से चुनिंदा हिस्से जोड़कर बनाया गया है ताकि वीडियो को सांप्रदायिक रंग देकर AIUDF अध्यक्ष Badruddin Ajmal को लेकर भ्रामक दावा शेयर किया जा सके.

Result: False


Our Sources

Dr Hafiz Rafiqul Islam’s tweet

YouTube video published by SANIDUL VLOGS


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Saurabh Pandey
The reason why he chose to be a part of the Newschecker team lies somewhere between his passion and desire to surface the truth. The inception of social networking sites, misleading information, and tilted facts worry him. So, here he is ready to debunk any such fake story or rumor.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular