शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
होमFact Checkअयोध्या का नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो

अयोध्या का नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया गया कि विमान से माता सीता के उस पत्थर को श्रीलंका से अयोध्या लाया गया जिस पर वो अशोक वाटिका में बैठा करती थीं।

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

वायरल वीडियो को कई अन्य ट्विटर यूजर्स ने भी शेयर किया है।

वायरल वीडियो में कुछ लोग श्रीलंका एयरलाइन्स से मूर्ति जैसा कुछ लेकर उतरते दिख रहे हैं और उनके स्वागत के लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए यह दावा किया गया है कि उस पत्थर को श्रीलंका से अयोध्या लाया गया जिस पर माता सीता अशोक वाटिका में बैठा करती थीं।

रामायण के मताबिक, रावण ने साधु का वेष धारण कर छल से सीता का हरण कर लिया था। उसके बाद रावण ने उन्हें अपने राज्य लंका में स्तिथ अशोक वाटिका में कैद करके रखा था, जहां माता सीता एक पेड़ के नीचे एक पत्थर पर बैठा करती थीं। Asianet हिंदी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, रावण ने सीता को अपने महल में ना रखकर अशोक वाटिका में इसलिए रखा था क्योंकि नलकुबेर ने रावण को श्राप दिया था कि यदि रावण ने किसी भी स्त्री को बिना उसकी स्वीकृति के अपने महल में रखा या उसके साथ दुराचार किया तो वह उसी क्षण भस्म हो जाएगा।

Fact Check/Verification

वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने इसे invid टूल की मदद से कुछ की-फ्रेम्स में बदला। इस दौरान हमें एक कीफ्रेम में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और किरण रिजिजू दिखे। इसके बाद कुछ कीवर्ड्स की सहायता से की-फ्रेम्स के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया। इस दौरान हमे बीते 20 अक्टूबर की “द इंकॉमिक्स टाइम्स” की एक रिपोर्ट मिली, जिसमें यह लिखा था कि यूपी के कुशीनगर एयरपोर्ट के उद्घाटन समरोह में यह तीनों शामिल थे। 

प्राप्त रिपोर्ट को पढ़ने के बाद पता चला कि मुमकिन है कि वायरल हुआ वीडियो अयोध्या का ना होकर कुशीनगर का हो। इसलिए हमने सिंधिया, किरण रिजीजू और योगी आदित्यनाथ का ट्वीटर हैंडल खंगालना शुरू किया। इस दौरान बीते 20 अक्टूबर को उनके द्वारा किये गए ट्वीट में हमे कुछ ऐसी तस्वीरें मिलीं, जिसे वायरल वीडियो में देखा जा सकता है। किरण रिजिजू ने तस्वीरों को पोस्ट करते हुए इसे पवित्र बुद्ध अवशेष बताया था।

वायरल वीडियो की तस्वीर

किरण रिजिजू द्वारा ट्वीटर पर शेयर की गई तस्वीर

पड़ताल के दौरान हमें TV9 भारतवर्ष की एक रिपोर्ट मिली, जिसके मुताबिक बीते 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन किया था जो कि 260 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से तैयार हुआ है।

इस अवसर पर श्रीलंका के कोलंबो से आने वाला विमान, कुशीनगर हवाई अड्डे पर उतरने वाला पहला विमान बना, जिसमें 100 से अधिक बौद्ध भिक्षुओं और गणमान्य हस्तियों का एक श्रीलंकाई शिष्टमंडल सवार होकर कुशीनगर पहुँचा। इस मौके पर भगवान बुद्ध के अवशेष को प्रदर्शनी के लिए लाया गया था। बतौर रिपोर्ट, इस दौरान कार्यक्रम में बौद्ध धर्म के सभी चार निकातों, असगिरिया, अमरपुरा, रामन्या और मालवत्ता के अनुनायक (उप प्रमुख) भी शामिल हुए। 

द इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पवित्र अवशेष के लिए हवाई जहाज़ में अलग से एक सीट रखी गई थी।

जब हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से यूट्यूब पर पड़ताल की तो हमे INDIA TV का एक वीडियो मिला, जिसके मुताबिक अयोध्या में श्रीलंका से वह शिला मंगाया गया है, जिसपर हिन्दू मान्यताओं के मुताबिक, माता सीता अशोक वाटिका में बैठा करती थीं, लेकिन वायरल हो रहा वीडियो कुशीनगर हवाई अड्डे का है और उस समय वहां श्रीलंका से पवित्र बुद्ध अवशेष लाया गया है।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि वायरल वीडियो यूपी के कुशीनगर का है, जहाँ भगवान बुद्ध के पवित्र अवशेष को श्रीलंका से प्रदर्शनी के लिए मंगाया गया था। वायरल वीडियो को माता सीता और अशोक वाटिका के शिला से जोड़कर गलत दावा शेयर किया जा रहा है। 

Result

Misplaced Context

Sources

Media Reports

Self Analysis

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular