शुक्रवार, सितम्बर 24, 2021
शुक्रवार, सितम्बर 24, 2021
होमFact Checkश्रीनगर का नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो

श्रीनगर का नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर यह दावा किया गया कि यह वीडियो श्रीनगर में आतंकवादियों के एनकाउंटर का लाइव वीडियो है.

15 अगस्त, 1947 को भारतीय गणराज्य को आधिकारिक तौर पर स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी. भारत में हर साल 15 अगस्त को एक त्यौहार के तौर पर मनाया जाता है. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों के मद्देनजर सुरक्षा एजेंसियां भी हर तरह का एहतियात बरतती हैं ताकि इस दिन देश में अशांति पैदा करने वाली कोई घटना ना हो. सुरक्षा के लिहाज से भारत के सबसे संवेदनशील क्षेत्र केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर में भी 15 अगस्त के दिन सुरक्षा के चौकस इंतजाम किये जाते हैं.

इसी क्रम में, स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पहले यानि 14 अगस्त, 2021 को सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया गया. वीडियो के साथ दावा किया गया कि यह श्रीनगर में आतंकवादियों के एनकाउंटर का लाइव वीडियो है. वायरल वीडियो को कुछ वेरिफाइड ट्विटर यूजर्स ने भी शेयर किया था. हालांकि बाद में अधिकांश लोगों ने वायरल दावे को डिलीट कर दिया है।.

Fact Check/Verification

श्रीनगर में आतंकवादियों के एनकाउंटर का लाइव वीडियो बताकर शेयर किये जा रहे इस वीडियो की पड़ताल के लिए, हमने सबसे पहले वीडियो को की-फ्रेम्स में बांटा और फिर एक की-फ्रेम को गूगल पर ढूंढा. इस प्रक्रिया में हमें यह जानकारी मिली कि वायरल वीडियो भारत का नहीं बल्कि किसी अन्य देश का है.

श्रीनगर में आतंकवादियों के एनकाउंटर का लाइव वीडियो

उपरोक्त सर्च परिणामों से प्राप्त ricmais की एक रिपोर्ट के अनुसार, वायरल वीडियो Brazil में Umuarama के Pérola का है, जहां स्थानीय पुलिस ने एक बाइक सवार को रोकने की कोशिश की, लेकिन जब बाइक सवार युवक नहीं रुका तो पुलिस ने उसे फ़िल्मी अंदाज में पकड़ लिया. ricmais की रिपोर्ट के अनुसार, आसपास खड़े कई लोगों ने पूरे घटनाक्रम को अपने कैमरे में कैद कर लिया था. उक्त रिपोर्ट के एक अंश के अनुसार, (गूगल द्वारा अंग्रेजी में अनुवादित), “A motorcyclist tried to escape an approach by the Military Police (PM) in Pérola, region of Umuarama (PR), but was surprised by a blow worthy of a martial arts film , given by a police officer, on Sunday night (01). The 17-year-old boy was apprehended . The scene was filmed by people who were on the street. The situation happened on Pearl Avenue Byington , in the center of the city, close to 19:40 . According to the PM, the police were carrying out patrols when they decided to approach a motorcyclist in a suspicious attitude. The reporter contacted the Military Police, who responded in a statement that the teenager “was referred to the city’s Military Police Detachment for appropriate procedures, accompanied by his father and the Guardianship Council. According to the police report, medical care was provided to the teenager, but he refused. The command of the 25th Battalion set up an internal investigation to investigate the facts that had occurred.

इसके बाद हमने उपरोक्त रिपोर्ट में शेयर की गई जानकारी के आधार पर ‘MOTOCICLISTA POLICIAL Polícia Militar Perola’ कीवर्ड्स को यूट्यूब पर ढूंढा, जहां हमें वायरल वीडियो से मिलते जुलते कई अन्य वीडियो भी प्राप्त हुए. बता दें कि वीडियो को प्रकाशित करने वाले लगभग सभी प्रकाशकों ने वीडियो को ब्राज़ील का बताया है.

बता दें कि उक्त वीडियो को कई वेरिफाइड यूट्यूब चैनलों ने लगभग एक जैसे डिस्क्रिप्शन के साथ शेयर किया है.





इसके बाद हमने कुछ अन्य कीवर्ड्स की सहायता से एक बार फिर गूगल सर्च किया. इस दौरान हमें ND Mais, CBN Maringá, D24AM, OBemdito तथा Plantão 190 द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट्स प्राप्त हुई. बता दें कि इन सभी मीडिया रिपोर्ट्स में वायरल वीडियो को Brazil के Umuarama में Pérola नामक जगह का बताया गया है. जहां पुलिस से बचकर भाग रहे एक मोटरसाइकिल सवार को पुलिस द्वारा चतुराई से दबोच लिया गया.

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह बात साफ हो जाती है कि श्रीनगर में आतंकवादियों के एनकाउंटर का लाइव वीडियो बताकर शेयर किया जा रहा यह वीडियो असल में ब्राजील का है.

Result: Misleading

Our Sources

Ricmais

ND Mais

CBN Maringá

D24AM

OBemdito

Plantão 190


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Saurabh Pandey
The reason why he chose to be a part of the Newschecker team lies somewhere between his passion and desire to surface the truth. The inception of social networking sites, misleading information, and tilted facts worry him. So, here he is ready to debunk any such fake story or rumor.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular