बुधवार, जनवरी 19, 2022
बुधवार, जनवरी 19, 2022
होमFact Checkतिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टी के घर हुई आईटी रेड की नहीं...

तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टी के घर हुई आईटी रेड की नहीं है सोशल मीडिया पर शेयर की गई यह तस्वीर

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया जा रहा है कि तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टी जे शेखर रेड्डी के घर आयकर विभाग ने छापेमारी कर 127 किलो सोना और करोड़ों रुपये बरामद किए हैं। वीडियो में कथित छापेमारी के दौरान एक नीले रंग की चादर पर बरामद हुए आभूषण दिखाई दे रहे हैंं।  

एक फेसबुक यूजर ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘प्रिय मित्रों, यह श्री जे शेखर रेड्डी हैं, जो तिरुपति तिरुमाला मंदिर के 17 ट्रस्टियों में से एक हैं। आईटी अधिकारियों ने उनके घर और फार्म हाउस पर छापा मारा। 127 किलो सोने के बिस्कुट समेत 106 करोड़ नकद, 60 करोड़ के हीरे जब्त! प्रिय तिरुपति तिरुमाला भक्तों, आपका दान कोष और सोना जे शेखर रेड्डी के पास है। कृपया देखें कि वह कितना स्मार्ट और अच्छा लग रहा है। तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टी, आईटी अधिकारियों ने उसके घर पर छापा मारा। उसे 106 करोड़ शुद्ध नकद और 127 किलो सोना और 10 करोड़ नए 2,000 रुपये के नोटों के साथ पकड़ा गया। टीटीडी के अन्य 16 ट्रस्टियों के बारे में क्या? दान करने से पहले सोचें। इसका उपयोग या तो रूपांतरण के लिए या व्यक्तिगत लाभ के लिए किया जाता है।’

वहीं एक अन्य यूजर ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘तिरुपति मंदिर के ट्रस्टी जे. शंकर रेड्डी के यहाँ ईडी ने रेड की। उनके यहाँ से 106 करोड़ की नगदी ओर 127 किलो सोना पकड़ा गया।’

उपरोक्त पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

 एक अन्य फेसबुक यूजर द्वारा भी वायरल तस्वीर को शेयर किया गया है।

 

Fact Check/ Verification

तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टी जे शेखर रेड्डी के घर आयकर विभाग ने छापेमारी कर 127 किलो सोना और करोड़ों रुपये बरामद किए हैं, इस दावे की सत्यता जानने के लिए हमने invid टूल की मदद से वीडियो के कुछ कीफ्रेम बनाये। इसके बाद एक कीफ्रेम के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया।

इस दौरान हमें इंडियन एक्सप्रेस द्वारा ‘तमिलनाडु के वेल्लोर में जोस अलुक्कास शोरूम में हुई लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश, 8 करोड़ रुपये के जेवर बरामद’ शीर्षक के साथ प्रकाशित हुआ एक आर्टिकल प्राप्त हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने अपनी तफ्तीश में जोस अलुक्कास शोरूम के आस-पास के करीब 200 फुटेज का विश्लेषण किया है और आरोपी को कई मौकों पर उस इलाके में घूमते हुआ नजर आया।

इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड की मदद से यूट्यूब पर सर्च किया। इस दौरान हमें बीबीसी न्यूज तमिल के यूट्यूब चैनल पर 22 दिसंबर 2021 को अपलोड किया गया एक वीडियो प्राप्त हुआ।

  

बीबीसी की वीडियो रिपोर्ट के मुताबिक, तमिलनाडु के वेल्लोर में जोस अलुक्कास शोरूम में चोरों ने लूट की घटना को अंजाम दिया और लगभग 16 किलो सोने के गहने चोरी किए हैं। बकौल रिपोर्ट, वेल्लोर एसपी ने मीडिया को बताया कि 15 दिसंबर को वेल्लोर के एक प्रसिद्ध आभूषण शोरूम में चोरों ने सेंधमारी की थी और पुलिस ने ओडुकाथुर स्थित एक कब्रिस्तान से 16 किलोग्राम चोरी किया गया सोना और हीरे बरामद किए, जिनकी बाजार में अनुमानित कीमत लगभग 8 करोड़ रुपये हैं। वायरल वीडियो में दिख रही तस्वीरें, पुलिस द्वारा बरामद किए गए आभूषणों से मैच कर रही हैं। वीडियो में पुलिस प्रेस वार्ता करती नजर आ रही है और जैसा कि वायरल वीडियो में नीले रंग की चादर पर बरामदगी के आभूषण दिखाई दे रहे हैं, वैसा ही इस वीडियो में भी नजर आ रहा है। 

इसके अलावा एसपी वेल्लोर ने ट्वीट करके भी इस घटना की जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में बताया कि वेल्लोर पुलिस ने जोस अलुक्कास मामले में सप्ताह भर के भीतर करीब 8.5 करोड़ कीमत का 16 किलोग्राम सोना बरामद किया है और एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।    

वायरल वीडियो की पड़ताल के दौरान हमने ‘जे एस रेड्डी छापेमारी’ कीवर्ड को गूगल पर खोजना शुरू किया। इस प्रक्रिया में हमें अमर उजाला द्वारा 9 दिसंबर 2016 को प्रकाशित एक रिपोर्ट प्राप्त हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, जे शेखर रेड्डी और उसके सहयोगी, के श्रीनिवासुलु को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। नोटबंदी के बाद रेड्डी के चेन्नई स्थित घर और दफ्तर में आयकर विभाग के छापे में 127 किलो सोना और 170 करोड़ की नकदी बरामद हुई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक,आयकर विभाग की 9 दिसंबर 2016 की छापेमारी के बाद आंध्र प्रदेश सरकार ने रेड्डी को टीटीडी (तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम) बोर्ड के सदस्य पद से हटा दिया था। हालांकि आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा शेखर रेड्डी को सितंबर 2019 में एक बार फिर से टीटीडी बोर्ड के सदस्य के रूप में नामित किया गया था।

‘The Hindu’ द्वारा सितंबर 2020 को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, जे शेखर रेड्डी के घर हुई छापेमारी में सीबीआई को कोई सबूत नहीं प्राप्त हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक सीबीआई ने इस मामले में सबूतों के अभाव के कारण क्लोजर रिपोर्ट दाखिल कर दी।

 

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में ये साफ हो गया कि तिरुपति तिरुमाला मंदिर के ट्रस्टी जे शेखर रेड्डी के घर आयकर विभाग ने छापेमारी कर 127 किलो सोना और करोड़ों रुपये बरामद किए हैं, दावा पूरी तरह भ्रामक है। हालांकि ये सच है कि आयकर विभाग ने जे शेखर रेड्डी के चेन्नई स्थित घर और दफ्तर पर दिसंबर 2016 में छापेमारी की थी और इस दौरान विभाग को 127 किलो सोना और 170 करोड़ की नकदी बरामद हुई थी। उसके बाद सितंबर 2020 में सीबीआई ने सबूतों के अभाव में इस केस को बंद कर दिया था।

 

Result: Misleading/Partly False

Our Sources

The Indian Express

BBC Tamil

Amar Ujala

The Hindu

Vellore SP Tweet

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular