शुक्रवार, जुलाई 23, 2021
शुक्रवार, जुलाई 23, 2021
होमFact Checkक्या पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल पहले...

क्या पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल पहले हल करने की सलाह?

प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को देश के छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए परीक्षा पर चर्चा की। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पीएम मोदी ने छात्रों से लेकर अभिभावकों तक को कई टिप्स दिए। इस चर्चा के खत्म होने के बाद पीएम मोदी और उनकी टिप्स, सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगी। साथ ही सोशल मीडिया पर पीएम मोदी को लेकर एक पोस्ट भी वायरल होने लगी। जिसमें दावा किया जा रहा है कि छात्रों से परीक्षा पर चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने छात्रों को कठिन सवालों को पहले हाल करने के लिए कहा। 

Surya Pratap Singh IAS ने भी इस पर ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, “प्रधानमंत्री जी, आपको देश में करोड़ों लोग देखते और सुनते हैं। ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम में आपने कहा ‘कठिन सवाल पहले हल करें’, जो किसी भी प्रतियोगी छात्र के लिए आत्मघाती सलाह है। मैंने देश की तीनों सर्वोच्च परीक्षाएँ IAS, IPS और IFS क्वालिफ़ाई की हैं, अनुभव से कह रहा हूँ।” पोस्ट के आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल
पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल पहले हल करने की सलाह।

Fact Check/Verification

वायरल दावे का सच जानने के लिए हम पीएम मोदी के यूट्यूब चैनल पर गए। वहां पर हमें परीक्षा पर चर्चा का पूरा वीडियो मिला। हमने 1 घंटे 35 मिनट के इस वीडियो को पूरा देखा। इस दौरान हमें 13 मिनट 50 सेकेंड पर पीएम मोदी द्वारा छात्रों को परीक्षा को लेकर दी गई टिप्स मिली। जो कि गलत दावे के साथ वायरल हो रही है। 

असल में पीएम मोदी ने कठिन सवालों को पहले हल करने के लिए नहीं बोला है। बल्कि उन्होंने छात्रों को कठिन सब्जेक्ट पहले पढ़ने के लिए कहा है। दरअसल 9 मिनट 56 सेकेंड पर एक छात्रा पीएम मोदी से सवाल पूछती है कि, “मैं कुछ सब्जेक्ट और पाठों को लेकर सहज नहीं हूं। इसलिए उनसे पीछा छुड़ाने में लगी रहती हूं, मैं इस स्थिति को कैसे दूर करूं।” इसके बाद यही सवाल 10 मिनट 36 सेकेंड पर एक टीचर द्वारा भी पूछा जाता है। 

जिसका जवाब पीएम मोदी 13 मिनट पर देना शुरू करते हैं। वो कहते हैं, “हर विषय को एक ही ऊर्जा के साथ समय देना चाहिए। हर दिन अपने प्रत्येक विषयों को बराबर समय दें। छात्रों को सभी को ये सिखाया जाता है कि सरल विषयों को या फिर सरल कामों को और परीक्षा में सरल प्रश्नों को सबसे पहले हल करें। लेकिन पढ़ाई को लेकर मैं समझता हूं, ये गलत है।” 14 मिनट 22 सेकेंड पर आप ये लाइन सुन सकते हैं।

पढ़ाई के दौरान विषयों के संबंध में उनके विचार थोड़े अलग हैं। कठिन विषयों या पाठों को एकदम फ्रेश माइंड के साथ पहले पढ़ना और हल करना चाहिए। क्योंकि सुबह-सुबह ऊर्जा नई होती है और नई ऊर्जा में ऐसे अध्याय और भी सरल हो जाते हैं।

पड़ताल के दौरान हमें PMO के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर वायरल दावे से जुड़ा एक ट्वीट मिला। जिसमें बताया गया है कि M Pallavi और Arpan Pandey द्वारा सवाल पूछा गया कि हम डर को कैसे कम करें। जिसका जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा फ्रेश माइंड से कठिन विषय पहले पढ़ें।

पीएम मोदी ने छात्रों को कठिन सवाल पहले हल करने की सलाह नहीं दी है-

हमें पीएम मोदी के ट्विटर अकाउंट पर भी वायरल दावे से जुड़ा एक ट्वीट मिला। जिसे 8 अप्रैल 2021 को किया गया था। इसके कैप्शन में लिखा है, “अरुणाचल प्रदेश की छात्रा पुण्यो सुन्या और दिल्ली की शिक्षिका विनीता गर्ग जी ने यह दिलचस्प सवाल किया कि कुछ विषयों से बच्चों को डर लगने लगता है। इससे कैसे उबरें? देखिए, इसका जवाब।” इसी के साथ पीएम मोदी के एक वीडियो को अपलोड किया गया है। वीडियो में पीएम मोदी यही शब्द दोहराते हुए नजर आ रहे हैं कि फ्रेश माइंड से कठिन विषय पहले पढ़ें।

इस दावे के पीछे वायरल होने का कारण मन की बात ट्विटर अकाउंट है। दरअसल जब पीएम मोदी छात्रों, टीचर्स और अभिभावकों के साथ परीक्षा पर चर्चा कर रहे थे। उस दौरान मन की बात ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया गया। जिसमें कहा गया कि पीएम मोदी ने छात्रों को सलाह दी है कि कठिन सवालों को पहले हल करें। जिसके बाद देखते ही देखते ये दावा वायरल हो गया। हालांकि कुछ देर बाद इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया।

पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल
पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल पहले हल करने की सलाह।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक पीएम मोदी को लेकर किया जा रहा वायरल दावा गलत है। पीएम मोदी द्वारा छात्रों को परीक्षा में कठिन सवालों को पहले हल करने की सलाह नहीं दी गई है। असल में पीएम मोदी ने छात्रों को कठिन विषयों को पहले और फ्रेश मांइड से पढ़ने की सलाह दी है। जिसे सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Read More : क्या पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर I-PAC ने जारी किया एग्जिट पोल?

Result: Misleading

Claim Review: पीएम मोदी ने छात्रों को दी परीक्षा में कठिन सवाल पहले हल करने की सलाह।
Claimed By: सूर्य प्रताप सिंह, आईएएस
Fact Check: Misleading

Our Sources

YouTube –https://www.youtube.com/watch?v=GRtIV3fLILw&t=830s

Twiiter –https://twitter.com/narendramodi/status/1379983673525563392

Twitter- https://twitter.com/PMOIndia/status/1379792113177567243

.


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular