मंगलवार, अगस्त 9, 2022
मंगलवार, अगस्त 9, 2022

होमFact Checkक्या सपा नेता आजम खान ने जेल से निकलते ही दिया राम...

क्या सपा नेता आजम खान ने जेल से निकलते ही दिया राम और कृष्ण पर यह बयान?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि आजम खान ने मुगलों को नहीं बल्कि भगवान राम और कृष्ण को अपना आदर्श बताया है। कहा ये भी जा रहा कि आजम ने यह बयान हाल ही में जेल से निकलने के बाद दिया है। 

फेसबुक पर एक यूजर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए इसे आजम खान का हालिया बयान बताया है।

आजम खान ने मुगलों को नहीं बल्कि भगवान राम और कृष्ण को अपना आदर्श
Courtsey: Facebook/Suraj Saini

इंस्टाग्राम पर भी यूजर्स ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए इसे आजम खान का हालिया बयान बताया।

आजम खान ने मुगलों को नहीं बल्कि भगवान राम और कृष्ण को अपना आदर्श
Courtsey: Instagram/kattar_hindu_samrajaya

ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने इस वीडियो को शेयर करते हुए इसे आजम खान का हालिया बयान बताया है।

 

ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है।

दरअसल, आजमगढ़ में होने वाले लोकसभा उपचुनाव के लिए सपा नेता आजम खान, सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव का चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने आजमगढ़ में बीजेपी पर जमकर हमला बोला। बता दें, सपा नेता आजम खान 27 महीने जेल में रहने के बाद पिछले महीने बेल पर रिहा हुए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने आजम खान को कथित धोखाधड़ी के मामले में अंतरिम जमानत दी है। इसी बीच एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि आजम खान ने मुगलों को नहीं बल्कि भगवान राम और कृष्ण को अपना आदर्श बताया है।

Fact Check/Verification

वायरल दावे की सत्यता जानने के लिए हमने ‘हमारे पूर्वज राम और कृष्ण आजम’ कीवर्ड को गूगल पर सर्च किया। हमें अमर उजाला द्वारा अक्टूबर 2017 में प्रकाशित एक रिपोर्ट प्राप्त हुई। बतौर रिपोर्ट, ‘सपा नेता आजम खान ने सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के सीए योगी आदित्यनाथ पर जमकर हमला बोला। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे आदर्श श्रीराम और कृष्ण हैं। मुगल हमारे आदर्श नहीं। हम बहादुर शाह और टीपू सुल्तान की नस्ल हैं। योगी बताएं कि मोहम्मद साहब उनके आदर्श हैं या नहीं।’

इसके अलावा, एबीपी न्यूज ने भी अक्टूबर 2017 में आजम खान के इस बयान को प्रकाशित किया था। 

दावे का सच जानने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से यूूट्यूब पर भी खोजा। हमें समाजवादी पार्टी के यूट्यूब चैनल पर 7 अक्टूबर 2017 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। वीडियो के अनुसार, ‘2017 में सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में राष्ट्रीय महासचिव आजम खान जनता को संबोधित करते हुए।’ वीडियो में 15 मिनट 35 सेकेंड पर आजम खान को यह कहते सुना जा सकता है, “योगी जी, मुगल हमारे आदर्श नहीं हैं, हमारे आदर्श राम और कृष्ण हैं। लेकिन योगी जी हिंदुस्तान की दूसरी आबादी आपसे जानना चाहती है कि मोहम्मद साहब आपके आदर्श हैं या नहीं हैं? हजरत ए इमाम हुसैन आपके आदर्श है या नहीं? ये बताओ योगी जी। हजरत ए ईसा मसीह आपके आदर्श हैं या नहीं?”

यह भी पढ़ेंं: क्या योगी आदित्यनाथ ने बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में कही यह बात?

इसके अलावा, पड़ताल में सामने आया कि कुछ ट्विटर यूजर्स ने भी अक्टूबर 2017 में आजम खान के इस बयान को ट्वीट किया था, जिसे आप यहां और यहां देख सकते हैं।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में स्पष्ट है कि आजम खान का पांच साल पुराना वीडियो, हालिया दिनों का बताकर भ्रम फैलाया जा रहा है। 

Result: Missing Context

Our Sources

Report Published by Amar Ujala on October 6, 2017

Report Published by Abp News on October 5, 2017

Video Uploaded by Youtube Channel of Samajwadi Party on October 7, 2017

Tweet by Pankaj Raj Sharma on October 2017

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.
Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular