बुधवार, अगस्त 4, 2021
बुधवार, अगस्त 4, 2021
होमFact Checkक्या अमेरिकी बिजनेसमैन जॉर्ज सोरोस ने पीएम मोदी को चुनाव में हराने...

क्या अमेरिकी बिजनेसमैन जॉर्ज सोरोस ने पीएम मोदी को चुनाव में हराने के लिए 7100 करोड़ रुपये खर्च करने की कही बात?

लोकतंत्र में स्वतंत्रता और समता जीवन के मूल सिद्धांत होते हैं। लेकिन बीते कुछ समय से भारत के लोकतंत्र को लेकर कई सवाल उठाते हुए कई तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। विपक्षी पार्टियों और कुछ इंटरनेशनल रिपोर्ट द्वारा कहा जा रहा है कि मोदी सरकार में लोकतंत्र और आजादी लगातार घटती जा रही है। साथ ही यह भी आरोप लगाए जा रहे हैं कि मोदी सरकार भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहती है। मोदी सरकार की अलोचना करते हुए एक ऐसी ही पोस्ट इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है।

पोस्ट में अमेरिकी अरबपति जॉर्ज सोरोस की एक तस्वीर के साथ दावा किया गया है कि, “मोदी भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने जा रहा है, ऐसा मैं कभी नही होने दूंगा। 7100 करोड़ रुपये सिर्फ मोदी को हरवाने के लिए खर्च करूंगा। जॉर्ज सोरोस कोई आम इंसान नहीं, बल्कि एक बहुत बड़े व्यापारी और शेयर बाजार के एक अच्छे खिलाड़ी हैं। यह शेयर मार्केट में उथल-पुथल करके किसी भी राष्ट्र की इकोनॉमी को तबाह कर सकते हैं।”

Fact Check/Verification

वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी एक मीडिया रिपोर्ट NDTV की वेबसाइट पर मिली। जिसे 24 जनवरी 2020 को प्रकाशित किया गया था। रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, एक साल पहले वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में जॉर्ज सोरोस ने हिंदू राष्ट्र के मुद्दे को लेकर मोदी सरकार की आलोचना की थी। लेकिन उस दौरान उन्होंने मोदी सरकार को हराने को लेकर ऐसी कोई बात नहीं कही थी। TV9 और Dainik Bhasker ने भी इस रिपोर्ट को प्रकाशित किया था।

प्राप्त जानकारी के आधार पर हमने एक बार फिर से गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी एक और रिपोर्ट Bloomberg की वेबसाइट पर मिली। जिसे 24 जनवरी 2020 को प्रकाशित किया गया था। रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक ‘वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम’ में जॉर्ज सोरोस ने दुनिया भर के देशों में कमजोर होते लोकतंत्र और लोगों की छिनती आजादी को लेकर अपनी चिंता जाहिर की थी।

अरबपति बिजनेसमैन जॉर्ज सोरोस ने फोरम में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा था, “सिविल सोसाइटी में लगातार गिरावट आ रही है और मानवता कम होती जा रही है। इस समय हम इतिहास के बहुत बड़े बदलाव के दौर से गुजर रहे हैं। सत्ता पर पकड़ रखने वाले शासकों में इजाफा हो रहा है। उन्हें जनता की फ्रिक नहीं है। दुनियाभर में डोनाल्ड ट्रंप, व्लादिमीर पुतिन और शी जिनपिंग जैसे तानाशाह शासक बढ़ रहे हैं। जिसे देखकर ऐसा लगता है कि आने वाले कुछ सालों में अब इन्हीं, के नजरिए से दुनिया की दिशा तय होगी।”

इसके बाद वो भारत पर टिप्पणी करते हुए कहते हैं, “भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने देश को एक हिंदू राष्ट्र बनाना चाहते हैं। वो मुस्लिम बहुल अर्ध-स्वायत्त कश्मीर को बदलने को लेकर दंडनीय कदम उठा रहे हैं। साथ ही वो अपने फैसलों से वहां रहने वाले मुसलमानों के लिए नगारिकता जाने का संकट पैदा कर रहे हैं। इन्हीं सब बातों ने मेरी चिंता बढ़ा दी है।” आगे उन्होंने जलवायु को लेकर अपनी चिंता व्यक्त की और कहा कि मैं जल्द ही अपनी जिंदगी का सबसे अहम प्रोजेक्ट, ‘ओपन सोसाइटी यूनिवर्सिटी नेटवर्क’ शुरू करने जा रहा हूं। इस प्रोजेक्ट में मैं एक अरब डॉलर (7100 करोड़ रुपए) का निवेश करने वाला हूं। इस यूनिवर्सिटी में दुनिया भर के लोग पढ़ने और पढ़ाने के साथ-साथ शोध भी कर पाएंगे। इस रिपोर्ट में हमें कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं मिला कि जॉर्ज, पीएम मोदी को हराने के लिए 7100 करोड़ रुपए खर्च करेंगे। Forbes ने भी इस रिपोर्ट को प्रकाशित किया था।

पड़ताल के दौरान हमें ‘वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम’ में जॉर्ज सोरोस की स्पीच का एक वीडियो Bloomberg Markets and Finance  के यूट्यूब चैनल पर मिला। जिसे 24 जनवरी 2020 को अपलोड किया गया था। वीडियो में जॉर्ज सोरोस अपने ड्रीम प्रोजेक्ट ‘ओपन सोसाइटी यूनिवर्सिटी नेटवर्क’ में 7100 करोड़ रुपए का निवेश करने की बात कहते हुए नजर आ रहे हैं।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने जॉर्ज सोरोस की स्पीच का पूरा वीडियो सर्च करना शुरू किया। इस दौरान Bloomberg के फेसबुक पेज पर फोरम में दी गई जॉर्ज सोरोस की एक घंटे 6 मिनट की पूरी स्पीच मिली। इस पूरे वीडियो को देखने के बाद हमने पाया कि वीडियो में 5 मिनट 12 सेकेंड पर जॉर्ज, पीएम मोदी की अलोचना करते हुए नजर आ रहे हैं। जबकि 28 मिनट 31 सेकेंड पर अपने ड्रीम प्रोजेक्ट में किए गए 7100 करोड़ के निवेश के बारे में बताते हुए नजर आते हैं। दोनों बातों का आपस में कोई संबंध नहीं है। सर्च के दौरान हमें ऐसी कोई विश्वसनीय मीडिया रिपोर्ट भी नहीं मिली, जिसमें इस बात का जिक्र किया गया हो कि जॉर्ज, पीएम मोदी को हराने के लिए 7100 करोड़ रुपए खर्च करने वाले हैं।

https://www.facebook.com/bloombergbusiness/videos/1082923955403268

कौन है जॉर्ज सोरोस ?

जॉर्ज सोरोस एक यूरोपियन अरबपति और बिजनेसमैन हैं। स्टॉक मार्केट पर उनकी अच्छी पकड़ है। वो एक सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर भी काम करते हैं। 1992 में स्टॉक मार्केट में अपने निवेश के जरिए जॉर्ज ने ‘बैंक ऑफ इंग्लैड’ को संकट में डाल दिया था। जॉर्ज राजनीति में अहम बदलाव लाने के लिए भी जाने जाते हैं। साल 2004 में अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश को दोबारा जीतने से रोकने के लिए चल रहे अभियान में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक, वायरल दावा गलत है। यूरोपियन अरबपति जॉर्ज सोरोस द्वारा एक साल पहले ‘वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम’ में पीएम मोदी की नीतियों की अलोचना जरूर की गई है। लेकिन उनके द्वारा यह नहीं कहा गया कि वह भारत को हिंदू राष्ट्र बनने से रोकने और पीएम मोदी को हराने के लिए 7100 करोड़ रुपए खर्च करेंगे।

Read More : ड्राइवर द्वारा गाय पर ट्रैक्टर चढ़ाने का वीडियो साम्प्रदायिक दावे के साथ सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

Result: Misleading

Claim Review: अरबपति बिजनेसमैन जॉर्ज सोरोस ने कहा कि मोदी को हराने के लिए 7100 करोड़ रुपये खर्च करूंगा।
Claimed By: Social Media Users
Fact Check: Misleading

Our Sources

Youtube –https://www.youtube.com/watch?v=nR_pNGliT70

Bloomberg –https://www.bloomberg.com/news/articles/2020-01-23/soros-starts-new-global-university-with-1-billion-commitment

Forbes –https://www.forbes.com/sites/daviddawkins/2020/01/24/billionaire-george-soros-pledges-1-billion-university-fund-to-fight-would-be-dictators/?sh=16f7f17c39d2

Facebook –https://www.facebook.com/bloombergbusiness/videos/1082923955403268


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular