रविवार, जुलाई 25, 2021
रविवार, जुलाई 25, 2021
होमFact Checkक्या कोरोना वायरस को लेकर ICMR ने जारी किए नए दिशा निर्देश?...

क्या कोरोना वायरस को लेकर ICMR ने जारी किए नए दिशा निर्देश? सोशल मीडिया पर फर्जी पत्र हुआ वायरल

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर लोगों में नई उम्मीद जगी थी। लेकिन पिछले कुछ हफ्तों से भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। बढ़ते कोरोना वायरस के मामले इन दिनों केंद्र और राज्य सरकारों के लिए चिंता का सबब बने हुए हैं।

अब तक कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे राज्यों से सामने आए हैं। गौरतलब है कि महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में लॉक डाउन सहित नाइट कर्फ्यू भी लगाया गया है। ऐसे में इन दिनों इंटरनेट पर ICMR यानि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के नाम पर एक पत्र वायरल हो रहा है। पत्र में कथित रूप से ICMR ने कोरोनावायरस को लेकर कुछ दिशा निर्देश दिए हैं। निर्देशों को लेकर पत्र में अंग्रेजी भाषा में कुल 21 बिंदु दिए गए हैं।

1. Postpone travel abroad for 2 years..

2. Do not eat outside food for 1 year..

3. Do not go to unnecessary marriage or other similar ceremony..

4. Do not take unnecessary travel trips..

5. Do not go to a crowded place for at least 1 year..

6. Completely follow social distancing norms..

7. Stay away from a person who has cough..

8. Keep the face mask on..

9. Be very careful in the current one week..

10. Do not let the any mess around you..

11. Prefer vegetarian food..

12. Do not go to the Cinema, Mall, Crowded Market for 6 Months now. If possible, Park, Party, etc. should also be avoided..

13. Increase immunity..

14. be very carefull while at Barber shop or at beauty Salon parlour..

15. Avoid Unnecessary Meetings, Always keep in mind Social Distancing..

16. The threat of CORONA is not going to end soon.

17. Dont wear belt, rings, wrist watch, when you go out. Watch is not required. Your mobile has got time.

18. No hand kerchief. Take sanitiser & tissue if required.

19. Don’t bring the shoes into your house. Leave them outside.

20. Clean your hands & legs when you come home from outside.

21.when you feel you have come nearer to a suspected patient take a thorough bath.

कोरोना वायरस को लेकर ICMR द्वारा कथित रूप से जारी हुए नए दिशा निर्देश

इस वायरल पत्र को न्यूज़18 चैनल से तमिल भाषा के आउटपुट एडिटर Thiruppathy k ने भी अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है।

वायरल पोस्ट का आर्काइव लिंक यहाँ देखें।

Fact Check / Verification

ICMR के नाम पर वायरल हो रहे इस पत्र में अंकित बिंदुओं को पढ़ने पर हमें आशंका हुई कि हो सकता है यह दिशा निर्देश पिछले साल का हो, लेकिन एहतियातन इसे दोबारा शेयर किया जा रहा हो। इसलिए हमने वायरल पत्र की सत्यता जानने के लिए पड़ताल शुरू की।

इस दौरान हमने यह जानने का प्रयास किया कि शेयर किया जा रहा पत्र कितना वायरल है। इसके लिए हमने crowd tangle टूल पर कुछ कीवर्ड्स के माध्यम से खोजना शुरू किया। इस दौरान पता चला कि Dillistan नामक एक फेसबुक यूज़र ने इस वायरल पोस्ट को 14 मई साल 2020 को अपने पेज पर पोस्ट किया था।

कोरोना वायरस को लेकर ICMR द्वारा कथित रूप से जारी हुए नए दिशा निर्देश

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट से यह साफ हो गया कि वायरल हो रहा दावा इस साल का नहीं बल्कि पिछले वर्ष का है। लेकिन पुष्टि के लिए हमने ICMR के आधिकारिक ट्विटर हैंडल को भी खंगाला। लेकिन यहाँ भी हमें वायरल दावे से संबंधित कुछ नहीं मिला।

कोरोना वायरस को लेकर ICMR द्वारा कथित रूप से जारी हुए नए दिशा निर्देश

इसके साथ ही हमने ICMR की वेबसाइट पर भी हाल ही में जारी हुई सभी प्रेस विज्ञप्तियों को भी खंगाला। इस दौरान हमने पाया कि ICMR ने साल 2021 में कुल दो प्रेस विज्ञप्तियां जारी की हैं और इनमें से किसी में भी कोरोना वायरस को लेकर कोई नया दिशा निर्देश जारी नहीं किया गया है।

कोरोना वायरस को लेकर ICMR द्वारा कथित रूप से जारी हुए नए दिशा निर्देश

इसके बाद हमने वायरल पत्र पर भी एक बार बारीकी से गौर किया, तो इस दौरान हमने पाया कि पत्र की लेखनी में कई व्याकरण और स्पेलिंग की गलतियां हैं। नीचे दी गयी तस्वीर में सभी गलतियों को दर्शाया गया है।

कोरोना वायरस को लेकर ICMR द्वारा कथित रूप से जारी हुए नए दिशा निर्देश

Conclusion

कोरोना वायरस को लेकर ICMR के नाम पर जारी हुए नए दिशा निर्देश वाला पत्र फर्जी है। खोज के दौरान मिले तथ्यों से साफ हो गया कि ICMR ने हालिया दिनों में इस तरह का कोई पत्र जारी नहीं किया है जैसा सोशल मीडिया पर शेयर हो रहा है।

Result-False

Our Sources

https://www.icmr.gov.in/media.html

https://twitter.com/ICMRDELHI

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें  WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Nupendra Singh
A rapid increase in the rate of fake news and its ill effect on society encouraged Nupendra to work as a fact-checker. He believes one should always check the facts before sharing any information with others. He did his Masters in Journalism & Mass Communication from Lucknow University.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular