सोमवार, दिसम्बर 5, 2022
सोमवार, दिसम्बर 5, 2022

होमFact CheckViralसैलरी ना मिलने से गुस्साए लोगों द्वारा कठुआ में किया गया प्रदर्शन...

सैलरी ना मिलने से गुस्साए लोगों द्वारा कठुआ में किया गया प्रदर्शन गलत दावे के साथ सूरत का बताकर किया गया शेयर

Claim:

गुजरात के सूरत में लोग सड़क पर राशन दो या गोली मार दो के नारे लगा रहे हैं। देश के हालात धीरे-धीरे बहुत बुरी तरह से बिगड़ते जा रहे हैं।

https://twitter.com/SonamSi38/status/1259327775711903744

जानिए क्या है वायरल दावा:

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 2 मिनट 19 सेकंड की एक वीडियो वायरल हो रही है। इस वीडियो में हज़ारों लोगों को वाहनों और इमारतों को नुकसान पहुंचाते हुए देखा जा सकता है। गुस्साए लोग कमरों में मौजूद कुर्सियां और खिड़की के शीशे तोड़ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि सूरत में COVID-19 के चलते लगे लॉकडाउन के कारण लोग राशन दो या गोली मार दो के नारे लगा रहे हैं। 

Verification

पूरी दुनिया में फैली वैश्विक महामारी के चलते देश में 17 मई तक तीसरा लॉकडाउन लागू किया गया है। प्रवासी मजदूरों पर लॉकडाउन की यह मार बहुत भारी पड़ रही है। मंगलवार को पीएम मोदी ने अपने संबोधन में लॉकडाउन 4.0 की घोषणा कर दी। लॉकडाउन का चौथा चरण अब तक के चरणों से कई मायनों में अलग होगा। लेकिन वह कितना अलग होगा फिलहाल इसकी घोषणा नहीं की गई है। हमने भीड़ द्वारा राशन दो या गोली मार दो वाले वायरल दावे को खंगालना शुरू किया।     

देखा जा सकता है कि वायरल वीडियो को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

https://twitter.com/Vahidkhanusman6/status/1259328458120929281

वायरल वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने वीडियो को ध्यान से देखा। पड़ताल के दौरान हमें वीडियो में ‘Chenab Textile’ नामक बोर्ड दिखाई दिया। बोर्ड पर लिखे शब्दों को कीवर्ड बनाते हुए हमने Google पर खोजना आरंभ किया। पड़ताल के दौरान हमने पाया कि Chenab Textile Mills जम्मू-कश्मीर के कठुआ में स्थित है।

अधिक जानकारी हासिल करने के लिए हमने कुछ और कीवर्ड्स की मदद से मीडिया रिपोर्ट को खोजा। पड़ताल के दौरान हमें NDTV और Republic World का लेख मिला। लेख पढ़ने के बाद हमने जाना कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में शुक्रवार सुबह चिनब टेक्सटाइल मिल में आधा वेतन मिलने पर मजदूर भड़क गए थे। उन्होंने जम्मू-पठानकोट नेशनल हाईवे से सटी इकाई में घुसकर तोड़फोड़ की। पुलिस और मजदूरों के बीच हुई झड़प में काफी नकुसान भी हुआ था। इस सबको रोकने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा था।

https://www.ndtv.com/india-news/kathua-jammu-and-kashmir-chenab-textile-mills-workers-demand-full-salary-protests-turn-violent-2225751

नीचे ANI द्वारा खींची गई तस्वीरों और वायरल वीडियो में से लिए गए कुछ स्क्रीनशॉट्स में कितनी समानताएं हैं इसे साफ़ देखा जा सकता है।

8 मई, 2020 को जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुई घटना की जानकारी न्यूज़ एजेंसी ANI द्वारा ट्वीट की गई है। ट्वीट में लिखा है कि जम्मू और कश्मीर के कठुआ में चिनाब टेक्सटाइल मिल्स के कार्यकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन हिंसक हुआ। श्रमिक वेतन के पूरे भुगतान की मांग कर रहे हैं। एसएसपी शैलेंद्र मिश्रा ने कहा,”उन्हें लगता है कि मिल द्वारा दिया गया भुगतान पर्याप्त नहीं है। इसके अलावा, वो लोग घर जाना चाहते हैं और घायलों को अस्पताल में भेजा गया।”

YouTube खंगालने पर हमें The Tribune द्वारा अपने आधिकारिक चैनल पर अपलोड की गई एक वीडियो मिली। यह वीडियो 8 मई, 2020 को अपलोड की गई थी। वायरल वीडियो और इस वीडियो में दिख रहा स्थान बिल्कुल एक जैसा है।

वहीं, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल वीडियो को सूरत का बताया जा रहा था। कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें नवभारत टाइम्स द्वारा प्रकाशित किया गया एक लेख मिला। लेख से हमने जाना कि गुजरात के सूरत में भी सैंकड़ों मजदूर सड़कों पर उतर आए। सभी मजदूर घर जाने की जिद पर अड़े थे और प्रवासी मजदूरों ने जान लगाकर प्रदर्शन भी किया।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि लोगों को भ्रमित करने के लिए जम्मू कश्मीर के कठुआ का वीडियो भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया है।  

Tools Used:

Google Keywords Search 

Twitter Search

Facebook Search 

YouTube Search 

Media Reports 

Result: False

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular